Read latest updates about "कहानी" - Page 1

  • बाल कहानी: टीनएज-एक नाजुक अवस्था

    टीनएज एक ऐसा दौर होता है जो टीनएजर्स के लिए भी कठिन होता है और अभिभावकों के लिए भी। बच्चे समझदार हो रहे होते हैं और अपने निर्णय खुद लेना चाह रहे होते हैं। उधर अभिभावक बच्चों को बड़ा होते तो देख रहे होते हैं पर उन्हें बच्चा ही मान खुद निर्णय लेते हैं। इस अवस्था में बच्चों में बहुत से शारीरिक व...

  • रहस्य रोमांच: ये विचित्र जीव-जन्तु

    भारतीय चिन्तकों के मतानुसार इस मृत्युलोक (धरती) में 84 लाख किस्म के प्राणी हैं और हर प्राणी की अपनी शक्ल-सूरत और विशेषताएं हैं। आधुनिक वैज्ञानिकों के अनुसार प्राणियों की यह संख्या और ज्यादा हो सकती है। आइए, कुछ विचित्र जीवों के बारे में हम आपको जानकारी दिलाते हैं। - प. कोलंबिया में 'स्मिथिल्स' नाम...

  • बाल कथा: दोस्ती की पहचान

    मुनमुन हिरण का बच्चा था। वह अपने माता-पिता के साथ जंगल में रहता था। थोड़ा बड़ा होने पर वह अकेला ही जंगल में घूमने लगा। एक दिन जब मुनमुन घूम घाम कर वापस आया तो उसके पिता ने उससे कहा, 'बेटा मुनमुन, अब तुम बड़े हो गए हो, अकेले घूम-फिर सकते हो पर बेटा, जंगल में बहुत से खतरे हैं। कई जानवर खतरनाक होते...

  • बाल कहानी: दुष्ट मेंढक

    नदी में एक मेंढक रहता था। उसी नदी के किनारे एक पेड़ पर एक तोता भी रहता था। मेंढक तथा तोता अच्छे दोस्त थे। कभी मेंढक नदी से बाहर आकर नदी के किस्से सुनाता तो कभी तोता बाहर की खबरें मेंढक को सुनाता। एक दिन मेंढक तथा तोते ने खुद खेती करने की सोची। तोते ने सरकंडे का हल बनाया। उसमें दो चूहों को बैलों...

  • बाल कथा: मेहनत की कमाई का दर्द

    किसी गांव में एक लुहार रहता था। वह अपने काम का एक कुशल कारीगर था। मेहनती और ईमानदार था। वह दिन भर मेहनत करके गांव वालों के लिए खेती बाड़ी में काम आने वाले अच्छे मजबूत और टिकाऊ औज़ार बनाता था। मेहनत से जितना भी मिल जाता, वह उसमें संतुष्ट रहता था। परिवार का भरण पोषण ठीक प्रकार से हो जाता था और आने...

  • बाल कहानी: तलवार की परख

    किशनपुर के महाराजा शेरसिंह बड़े प्रतापी राजा थे। उन्होंने अपनी सभा में एक से एक गुणी व्यक्ति रख छोड़े थे। कोई घोड़ों का पारखी था, तो कोई हाथियों का। कई पहलवान भी राजा की सेवा में थे। राजा शिकार के भी बहुत शौकीन थे। अच्छी से अच्छी तलवारें रखने और चलाने में भी वह पारंगत थे। सुंदर तलवारों का उनके पास...

  • बाल कथा: सच बोलने वाला मकान

    एक था ठग। राह चलते लोगों को बातों में उलझाकर मूर्ख बनाना उसके बाएं हाथ का खेल था। एक बार वह एक गांव में पहुंचा। उसने पता कर लिया कि गांव में एक बूढ़ा है जिसके पास बहुत पैसा है और वह एकदम अकेला रहता है। शाम के समय ठग बूढ़े के दरवाजे पर जा खड़ा हुआ। चलते समय वह लंगड़ा रहा था। उसने पुकारा, 'भाई, मेरे...

  • बाल कथा : नाम की महिमा

    कान्यकुब्ज देश में अजामिल नामक एक ब्राह्मण रहता था। पहले वह बहुत सदाचारी था तथा सदैव धर्म कर्म के कार्यों में लिप्त रहता था किन्तु एक दासी के संग रहने के कारण उसमें चोरी, ठगी, बेईमानी और दुराचार के दुर्गुण विद्यमान हो गए थे। दासी से उसके दस पुत्र थे तथा वह आजीवन उस परिवार के भरण पोषण में लगा रहा...

  • बाल कहानी: स्वाभिमान

    सेठ बंसीलाल उस कस्बे के बड़े व्यापारी हैं। उनकी तेल मिल है, गैस एजेन्सी है और दूर दूर तक फैला व्यापार है। उन्हें समय ही नहीं मिलता। वे व्यस्त रहते हैं। उनकी कार उन्हें आस पास के क्षेत्र में प्रतिदिन लाती ले जाती है। आज वे चिन्ताग्रस्त हैं। उनका एक बैग पता नहीं कहां गिर गया था चोरी चला गया, वे...

  • बाल कहानी: स्कूल जाते समय नहीं रोएगा आपका बच्चा

    प्रारंभ में जब बच्चों को प्री स्कूल में दाखिला करवाना होता है तो माता-पिता इस तनाव में रहते हैं कि बच्चा वहां कैसे जाएगा, कैसे 3-4 घंटे बिताएगा। बच्चा भी स्कूल के नाम से रोने लगता है क्योंकि बच्चे को घर पर रहने की आदत बनी होती है। मां, दादी-दादा उसे घर पर दिखते हैं वो आजादी से इधर-उधर खेलता है,...

  • बाल कथा: जो तेरे पास है उसे बेच दे

    एक मनुष्य शरीर से तो स्वस्थ और बलिष्ठ था किन्तु था कंगाल। धन के अभाव के कारण बड़ी तंगी से दिन काट रहा था। एक बार नगर में एक पहंचे हुए महात्मा पधारे। लोग उनके आशीर्वाद से अपनी समस्याओं का समाधान खोजने के लिए उनकी शरण में जाने लगे। कंगाल मनुष्य भी महात्मा के पास गया और उनसे कहा-''महात्मा जी। मैं...

  • बाल कथा: गधे का अनोखा सौदा

    करोड़पति सेठ हाथीराम खुशी खुशी घर आए और पत्नी से बोले, 'अजी सुनती हो, आज एक बड़े बेवकूफ से पाला पड़ा।' 'अरे, क्या हुआ?' सेठानी ने पूछा। 'बस, अपनी तो चांदी हो गई मजा आ गया। तुम बहुत चिल्लाती रहती हो कि मैं तुम्हें कुछ नहीं देता। अब तुम रोज नए-नए गहने गढ़वाना समझीं, सेठ हाथीराम ने खुशी से झूमते हुए...

Share it
Top