Read latest updates about "बाल जगत"

  • व्यंग्य: जादू तेरी नजर

    कल मैने अपने बेटे के साथ जादू का एक शो देखा। तीन घंटे का काम्पेक्ट इन्टरटेनमेंट था। पलक झपकते लड़की गायब तो कभी खाली डब्बे से फूल झर रहे होते या कभी पब्लिक के बीच से बुलाया गया बच्चा हवा में तैर रहा होता, लाइट-साउण्ड एवं विज्ञान का ऐसा सम्मिश्रण कि आंखों को पता होते हुये भी सरेआम धोखा होता है-यही ज...

  • बोलने में विलम्बी बच्चे

    संसार का ऐसा कौन सा माता-पिता न होगा जो अपने बच्चों के समुचित तथा पूर्ण विकास में वाक-शक्ति के महत्त्व को ठीक प्रकार से न समझता हो। जब बच्चा तुतलाकर बोलने का प्रयत्न करता है, तो उनका हृदय प्रसन्नता से गश्वद हो जाता है। बच्चों की यह अवस्था बड़ी मोहक और दिलचस्प होती है। कुछ बच्चे ऐसे भी होते...

  • बाल कथा: यह धरती सबकी है

    शेरू, स्वीटी और कालू अस्पताल क्षेत्र में स्थाई रूप से निवास करते हैं। शेरू खूंखार दिखता है। जब गुस्सा आता है, तब दहाड़ता है पर बच्चों से कुछ नहीं बोलता। बच्चे भले ही उसकी पूंछ पकड़ लें, वह गुस्सा नहीं होता। अस्पताल क्षेत्र में कोई भी चोर, उठाईगीर कदम नहीं रख सकता। वह अपनी तेज नजरों से सबको देखता रहत...

  • बाल जगत:रोटी-एक दिलचस्प इतिहास

    भोजन में रोटी का काफी महत्त्व है। इस की महक बड़ी मनमोहक होती है। इसी के चलते अमेरिका में भीषण रक्तपात हुआ। हुआ यह था कि वहां के मिशीगन राज्य में बापरन कस्बे में रोटी की महक मिलते ही एक रेड इंडियन रोटी मांगने गया। जब उसे रोटी नहीं दी गयी तो वह आग बबूला हो गया और जबरदस्त नरसंहार कर डाला। यह अभी पता नह...

  • बाल जगत: जरा बुजुर्गों का भी ख्याल रखें

    पाश्चात्य सभ्यता और संस्कृति की चकाचौंध में फंसकर आज की युवा पीढ़ी भारतीय सभ्यता-संस्कृति नाते-रिश्ते व घर-परिवार सभी को भूलते जा रही हैं। संयुक्त परिवार का स्थान एकल परिवार ने ले लिया है। बुजुर्गों का तो अब कोई महत्त्व ही नहीं रह गया है। युवा पीढ़ी की नजर में बुजुर्गजन अपनी उपयोगिता खोकर बिलकुल बेक...

  • छोटे बच्चों को खतरों से कैसे बचाएं

    - तीन महीने पश्चात् छोटे बच्चे करवट लेने की कोशिश करने लगते हैं। उन्हें एक वर्ष के होने से पहले तक पलंग, मेज, कुर्सी, मशीन आदि पर न बिठाएं। वे गिर सकते हैं। - घर की खिड़की के पास कुर्सी-स्टूल आदि न रखें। बच्चे खेल-खेल में इन पर चढ़ कर अपना संतुलन खो कर गिर सकते हैं।- पानी भरी बाल्टी, टब, ट...

  • बाल जगत /जानकारी: ऐसे शुरू हुआ समुद्री यात्राओं का सिलसिला

    तेरहवीं शताब्दी से पूर्व काल को अंधकार युग की संज्ञा दी जाती है क्योंकि इस अवधि के दौरान भौगोलिक ज्ञान काफी क्षीण अवस्था में जा पहुंचा था। 13 वीं शताब्दी में लोगों में भौगोलिक ज्ञान प्राप्त करने के प्रति पुन: जिज्ञासा पैदा हुई और विभिन्न अन्वेषकों ने इस तथ्य पर काम करना प्रारंभ कर दिया। ...

  • अपने बच्चों को मोटापे से बचाइये

    बच्चों में मोटापा एक भयंकर समस्या का कारण बन गया है। आजकल का रहन-सहन, खानपान और नये प्रकार के भोजन में रूचि बच्चों की सेहत पर तबाही मचा रही है। इस समस्या के कई कारण हैं और इससे बच्चों में कई प्रकार की बीमारियां पाई जा रही हैं। सबसे भयानक बात तो यह है कि इस मोटापे के कारण बच्चे भी अब दिल की बीमारी, अ...

  • बोध कथा: चरित्र

    संन्यास लेने के बाद गौतमबुद्ध ने अनेक क्षेत्रों की यात्रा की। एक बार वे एक गांव गए। वहां एक स्त्री उनके पास आई और बोली - आप तो कोई राजकुमार लगते हैं। क्या मैं जान सकती हूँ कि इस युवावस्था में गेरुआ वस्त्र पहनने का क्या कारण है ? बुद्ध ने विनम्रतापूर्वक उत्तर दिया कि तीन प्रश्नों के हल ढूं...

  • इस तरह पढ़ाई में रूचि जगाएं बच्चों की

    रंजीत दसवीं कक्षा में दो बार फेल हो गया है। जब मैंने उससे फेल होने का वजह पूछी, तो उसने बताया, 'चाचा जब मैं पढऩे बैठत हूं तो मुझे नींद आने लगती है। जब भी मैं स्कूल की किताब पढऩे बैठता हूं तो मुझे अजीब-सी बोरियत महसूस होने लगती है और मैं मां के डर से बेमन से ही पुस्तक में सिर झुकाए बैठता रहता हूं।' ...

  • बच्चों के लिए ढीले जूते खरीदें

    ग्लास्गो विश्वविद्यालय के एक शोध के अनुसार बच्चों के पैर तेजी से बढ़ते हैं, इसलिए उनके लिए जूते खरीदते समय खास ध्यान रखना चाहिए ताकि आगे चलकर बच्चों को तकलीफों का सामना न करना पड़े। आम धारणा है कि जूते थोड़े टाइट या एक दम फिट होने चाहिएं। खरीदते समय क्योंकि इस्तेमाल होने पर जूते स्वत: ढील...

  • घर परिवार: डांटना हर मर्ज की दवा नहीं है

    बच्चे बड़े भावुक होते हैं। अपने आसपास के वातावरण में होने वाली हलचल व परिस्थितियां उन पर बहुत दूर तक असर कर जाती हैं। ऐसे में अपनी ईगो व बच्चे की जिद खत्म करने के लिए एवं अपनी बात मनवाने के लिए डांटना, उनके व्यक्तित्व के विकास में बाधक सिद्ध होता है। बार-बार डांटते डपटते रहने से बच्चे के ...

Share it
Share it
Share it
Top