Read latest updates about "हेल्थ" - Page 1

  • कोलेस्ट्रॉल लेवल को रखें नियंत्रण में

    कोलेस्ट्रॉल का बढऩा अपने आप में कोई बीमारी नहीं है पर अन्य बीमारियों के बढऩे में सहयोगी है। हमारे शरीर में कोलेस्ट्रॉल के कांउंट दो प्रकार के होते हैं, एच डी एल और एल डी एल। एल डी एल हमारा शत्रु है और एच डी एल हमारा मित्र। जब एल डी एल की मात्रा अधिक होने लगती है तो हार्ट और ब्रेन की नाडिय़ों में खून...

  • फ्री रेडिकल्स और स्वास्थ्य

    फ्री रेडिकल्स का अर्थ हमारे आस-पास मौजूद विषैले तत्व हैं जिनके कारण आज तरह-तरह की असाध्य बीमारियां फैल रही हैं। क्या आपने कभी गौर किया है कि ताजी कटी हुई सब्जियां व फल कुछ ही समय में भूरे, मटमैले या काले पडऩे लगते हैं। एक प्रयोग के तौर पर सेब या आलू को बीच से काटकर दो भाग कर लें। अब एक टुकड़े पर...

  • 'आस्टियोपोरोसिस' से बचने के लिए कैल्शियम लीजिए

    शरीर में हड्डियों के क्षीण और खोखला हो जाने की स्थिति को 'आस्टियोपोरोसिस' के नाम से जाना जाता है। यह स्थिति तब आती है जब शारीरिक गतिविधियों में रूकावट आने लगती है और जरा-जरा-सी बात पर हड्डियों में टूट-फूट होने लगती है। इस बीमारी का सबसे खतरनाक पहलू यह है कि यह रोग जब सामने आता है तो शरीर बुरी तरह...

  • यूं बनाए रखें त्योहारों में स्वास्थ्य

    इन दिनों त्योहारों का मौसम चल रहा है। ऐसे में विविध पकवानों का बनना स्वाभाविक है और खान-पान संबंधी गड़बडिय़ों का होना भी। त्योहारों के दौरान अधिकांशत: मैदे, बेसन आदि की बनी हुई, तली हुई चीजें ज्यादा खाई जाती हैं। रेशेदार भोजन का सेवन बहुत कम होता है और गरिष्ठ का ज्यादा जिससे पाचन तंत्र पर बोझ...

  • वृद्ध समझदारी से करें बीमारियों से मुकाबला

    बुढ़ापे की बीमारियां उम्र के हिसाब से आती हैं। अगर बुढ़ापे में समय-समय पर डॉक्टरी जांच कराई जाए और बीमारियों का इलाज शुरूआती दौर में ही कर लिया जाए तो इन बीमारियों के प्रभाव को कम किया जा सकता है। बुढ़ापे की ज्यादातर बीमारियां बचपन और युवावस्था में शरीर की अनदेखी के कारण होती हैं। कुछ बीमारियां...

  • कुछ रोगों की दवा: तेल

    तेल का प्रयोग खाना बनाने, मालिश करने और सौंदर्य प्रसाधनों में किया जाता है। आयुर्वेद विशेषज्ञों के अनुसार विभिन्न तेलों को विभिन्न शरीर के हिस्सों पर लगाने से कितनी बीमारियों को नियंत्रित किया जा सकता है। आइए जानें तेलों के लाभ:- - जिन दिनों मच्छर परेशान करते हैं। उन दिनों शरीर के खुले अंगों पर...

  • तेजी से बढ़ रहा 'साइलेंट किलर' हाइपरटेंशन, 50 प्रतिशत लोग अनजान

    नयी दिल्ली- कार्डियो वैस्कुलर रोग (सीवीडी) के प्रमुख कारणों में से एक उच्च रक्तचाप देश के शहरी और ग्रामीण दोनों इलाको में तेजी से बढ़ रहा है और चिंताजनक बात यह है कि इससे ग्रस्त 50 प्रतिशत लोगों काे इसके बारे में पता ही नहीं होता तथा जिन्हें मालूम भी है उन में से केवल 50 प्रतिशत ही उसे नियंत्रित...

  • अच्छा स्वास्थ्य है लम्बी आयु का राज

    हर व्यक्ति लम्बी आयु जीना चाहता है पर लंबी आयु के लिए सबसे जरूरी है अपने स्वास्थ्य पर ध्यान देना। जो व्यक्ति प्रारंभ से ही अपने स्वास्थ्य के प्रति सचेत रहते हैं, वे अधिक आयु जीते हैं। अधिकतर जवान लोग यह सोचते हैं कि जवानी में वे जो कुछ भी खाएं पिएं या अन्य अस्वास्थ्यकर आदतों को अपनाएं, उसका असर उन...

  • स्वास्थ्य और सौन्दर्य का खजाना छिपा है घर की मसालेदानी में

    पकवानों को स्वादिष्ट बनाने के लिए, उनमें भीनी-भीनी सुगन्ध लाने के लिए हर घर में मसालों का प्रयोग किया जाता है। इन मसालों में स्वाद और सुगन्ध के अतिरिक्त कितने सौन्दर्य प्रसाधन और दवाइयाँ छिपी हैं, इसका अनुमान लगाना बहुत कठिन है। प्रतिदिन हम नमक, हल्दी, सौंफ, अजवाइन, लौंग आदि का प्रयोग अपने भोजन में...

  • डायरिया जानलेवा भी हो सकता है

    वर्षा ऋतु आई नहीं कि बीमारी की संभावना बढ़ जाती है। इस मौसम में मक्खी, वायरस, बैक्टीरिया आदि का प्रकोप अधिक होता है। सबसे ज्यादा डायरिया होने का खतरा रहता है। डायरिया से बचाव के लिए निम्न बातों को ध्यान में रखें:- - पीने योग्य पानी को सदैव ढक कर रखें। उबला हुआ पानी ही प्रयोग में लाएं। खाद्य...

  • विटामिनों की अधिक मात्रा आपके स्वास्थ्य को हानि पहुंचा सकती है

    विटामिन हमारे स्वास्थ्य के लिए बेहद आवश्यक हैं पर क्या आप जानते हैं कि इनकी आवश्यकता से अधिक मात्रा आपके स्वास्थ्य पर हानिकारक प्रभाव डाल सकती है। जी हां, हाल ही में ब्रिटेन में हुए एक सर्वे से यह सामने आया है कि विटामिन की गोलियों का आवश्यकता से अधिक सेवन आपको लाभ के स्थान पर रोग दे सकता है। पोषण...

  • सेहत के लिए अच्छा है आलूबुखारा (प्लम)

    अध्ययनकर्ताओं के अनुसार आलू बुखारा या उसका जूस नियमित लेने से कैंसर जैसे रोग के खतरे को काफी हद तक टाला जा सकता है क्योंकि आलू बुखारे में एटीआक्सीडेंट्स की मात्रा अधिक होती है जो हमारे शरीर को कई बीमारियों से बचा कर रखती है। आलू बुखारे में कई मिनरल्स और विटामिंस होते हैं जो शरीर को लाभ पहुंचाते...

Share it
Top