Read latest updates about "धर्म" - Page 1

  • बच्चे को बार-बार नजर लगती है तो करें काले धागे का ये उपाय..

    एक छोटा सा काला धागा नजर और बुरी शक्तियों के प्रभाव से व्यक्ति को दूर रखता है। भले ही आज इसे फैशन के रूप में बांधा जाता हो लेकिन इसके बाद भी अपने प्रभाव से व्यक्ति को नकारात्मक शक्तियों से बचाता है। काले धागे का धार्मिक महत्व भी है और इसे पहनकर कई तरह की परेशानियों से मुक्ति पाई जा सकती है।...

  • सूर्य-पूजन (नमस्कार) क्यों किया जाता है

    प्रतिदिन प्रात: लाखों लोग सूर्य को प्रणाम करके-अच्छे दिन की शुरूआत का आशीर्वाद प्राप्त करके-सूर्य को जल संचन करते हैं। धरती पर सुख समृद्वि की कामना करते हैं। सूर्य को सदा जलते रहने का संदेश देते हैं। सदियों से लोग सूर्य नारायण की पूजा करते हैं। इस आग के गोले के कारण ही धरती पर जीवन सम्भव है -...

  • तीर्थस्थल/पर्यटन: परम पवित्र दर्शनीय स्थल हेमकुंड साहिब

    उत्तराखंड इस देश की देवभूमि है, इसमें संशय का कोई कारण नहीं। यहां के कण कण में देवों का वास है। कोई स्थान ऐसा नहीं जहां संतों/देवों का वास न हो। इसी पुण्य भूमि पर अगर बद्रीनाथ/केदारनाथ/गंगोत्री/यमुनोत्री हैं, तो इसी पुण्य भूमि पर ही है सिख समुदाय का परम पवित्र गुरुद्वारा हेमकुंट साहब। प्रकृति की...

  • इन राशियों के लिए खुशियां लेकर आ रहा है साल 2019

    साल 2018 समाप्त होने वाला है और 2019 प्रारंभ होने वाला है, नया साल किन राशि के जातकों के जीवन में खुशियां लेकर आ रहा है, किन जातकों के लिए धनप्राप्ति के योग बन रहे हैं और कौन साल 2019 में व्यापार में सफल होगा, आइए जानते हैं इसके बारे में......... जानिए! क्यों मनी प्लांट को घर में लगाना माना...

  • पर्यटन: विदेशी सैलानियों को प्रिय - पुष्कर राज

    अजमेर से 11 किलोमीटर दूर राजस्थान के मध्य में स्थित पुष्कर धार्मिक तथा पर्यटन की दृष्टि से अन्तर्राष्ट्रीय मानचित्र पर उभरता जा रहा है। तीन ओर से पहाडिय़ों से घिरे पुष्कर क्षेत्र में, एक ओर रेतीले टीले भी हैं। सुन्दर फूलों एवं छायादार पेड़ों से आच्छादित पुष्कर घाटी विहंगम नजारों से सरोबार कराती है।...

  • धन वृद्धि के साथ ही करना चाहते हैं बचत तो वास्तु की इन बातों का रखें ध्यान

    कई बार ऐसा होता है कि व्यक्ति धन तो बहुत कमाता है पर उसकी बचत ना के बराबर होती है। इसी कारण जब उसे पैसों की आवश्यकता होती है तब उसे परेशानियों का सामना करना पड़ता है। धनवान बनने के लिए धन कमाने के साथ ही धन बचाना भी जरूरी है। अगर घर में किसी प्रकार का वास्तुदोष हो तो भी धन संचय नहीं हो पाता...

  • इस मंत्र का जाप करने से भय-बाधाओं से मिलती है मुक्ति

    कुछ व्यक्ति ऐसे होते हैं जिन्हें हमेशा मृत्यु का भय सताता रहता है, ऐसे व्यक्तियों को एक खास मंत्र का जाप करने से लाभ होता है। लोग इस मंत्र का जाप तो करते हैं लेकिन इसके प्रभाव के बारे में नहीं जानते हैं। इस मंत्र से शिवजी की स्तुति की जाती है और भगवान शिव को ये मंत्र बहुत प्रिय है। अगर व्यक्ति...

  • जो पुरूष रखते हैं पराई स्त्री पर नजर वो कभी नहीं बन पाते......

    प्रत्येक व्यक्ति की अपनी अलग पहचान होती है, कोई अपनी अच्छाईयों के लिए जाना जाता है तो कोई अपनी बुरी आदतों के कारण लोगों की नजर में आता है। शास्त्रों के अनुसार जो व्यक्ति अच्छे कर्म करता है उसे समाज में प्रतिष्ठा और सम्मान मिलता है। ऐसा व्यक्ति जीवन भर सुखी रहता है। वहीं जिस व्यक्ति के अंदर...

  • इस कारण से मस्तक पर लगाया जाता है विभूति का तिलक..

    हिंदू धर्म में माथे पर ​रोली का तिलक लगाने के साथ ही विभूति का तिलक भी लगाया जाता है। आपने भी देखा होगा कि जब आपके घर में पूजा या हवन होता है तो उसकी राख को मस्तक पर लगाते हैं। विभूति या राख से मस्तक पर तिलक क्यों लगाया जाता है, आइए जानते हैं इसके बारे में.............. हवन करने...

  • साल 2018 के अलविदा होने से पहले इन राशि के जातकों की चमकेगी किस्मत

    साल 2018 जल्द ही अलविदा कहने वाला है, ये साल जाते - जाते कुछ राशियों पर मेहरबान रहेगा और दिसंबर माह के अंत में इन्हें बहुत फायदा होगा। किन राशियों की किस्मत साल 2018 के अंत में खुलेगी आइए जानते हैं इसके बारे में...... मेष राशि : - मेष राशि के जातकों के लिए साल 2018 के अंत में धन लाभ के...

  • इस माला को पहनकर आप किसी को भी कर सकते हैं अपने वश में

    कुछ चीजें ऐसी होती हैं जिन्हें वशीकरण के काम में लिया जाता है यानि अगर आप किसी को अपने वश में करना चाहते हैं तो इन चीजों का इस्तेमाल कर सकते हैं, इन्हीं में से एक है गुंजा। आपको बता दें कि तांत्रिक क्रियाओं में काम आने वाले गुंजा को पहनकर आप किसी को भी अपने वश में कर सकते हैंं। किसी को वश में करने...

  • नाम की महिमा

    एक बहुत उच्चकोटि के भगवत प्रेमी नामनिष्ठ महात्मा थे। उनके साथ उनका एक शिष्य रहता था। एक दिन की बात है कि वे महात्मा कहीं बाहर गये हुए थे। उसी समय उनकी कुटिया पर एक व्यक्ति आया और उसने पूछा-महात्मा जी कहां हैं? शिष्य ने कहा-गुरू जी तो किसी कार्यवश बाहर गये हैं। आपको कोई काम हो तो कहिये। आगतुंक ने...

Share it
Top