Read latest updates about "लाइफ स्टाइल" - Page 1

  • सावधान रहिए: दर्द निवारक दवाइयों के दुरूपयोग से

    जब हमारी पीठ में ऐंठन आ जाती है या हमारी मांसपेशियां ज्यादा काम के बोझ से ऐंठ जाती हैं, या एड़ी में मोच आ जाती है या कोई फोड़ा हो जाता है या सांस की नली में रोगाणुओं का संक्रमण हो जाता है तो हमारे शरीर में सूजन व जलन रूपी प्रतिक्रिया शुरू हो जाती है। इसे चिकित्सा की भाषा में प्रदाह या शोथ कहा जाता...

  • मस्तिष्क के स्वास्थ्य के लिए जरूरी है व्यायाम

    हाल ही में सॉन फ्रांसिस्को में यूनिवर्सिटी ऑफ कैलिफोर्निया के डॉ क्रिस्टेन येफे और उनके सहयोगियों द्वारा किए गए एक शोध में पाया गया कि व्यायाम स्वास्थ्य व उम्र पर तो अच्छा प्रभाव डालता ही है, साथ ही दिमाग को भी तेज करता है। यह शोध 6००० महिलाओं पर किया गया। इस शोध में मस्तिष्क की कार्यशीलता को नापने...

  • डायबिटिज लाइलाज नहीं

    असाधारण रोग जो समय के साथ शरीर के विभिन्न अंगों को नुकसान पहुंचाते हैं, उनमें डायबिटिज प्रमुख है। यह एक ऐसा रोग है जिसका तत्कालिक प्रभाव अधिकांश रोगियों में देखने को नहीं मिलता और लम्बे समय तक पीडि़त व्यक्ति को इस बात का आभास भी नहीं होता कि वह इससे ग्रसित है। किसी शारीरिक अंग जैसे गुरदे, आंख,...

  • 17 दिसंबर- आज ही फ़्रांस के तानाशाह नेपोलियन बोनापार्ट ने मीलान का ऐतिहासिक आदेश जारी किया था

    नयी दिल्ली । भारत और विश्व के इतिहास में 17 दिसंबर की प्रमुख घटनाएं इस प्रकार हैं- 1645 – मुगल सम्राट जहांगीर की पत्नी नूरजहां बेगम का निधन। 1777 – फ्रांस ने अमेरिकी स्वतंत्रता को मान्यता दी। 1807 – फ़्रांस के तानाशाह नेपोलियन बोनापार्ट ने मीलान का ऐतिहासिक आदेश जारी किया। 1903 – राइट बंधुओं...

  • गाजर खूब खायें

    चिकित्सा जगत ने तो गाजर को पूर्ण रूप से अपनाया है। कमजोर होने की स्थिति में अधिकतर चिकित्सक हरी रेशेदार सब्जियों के अतिरिक्त गाजर के सेवन की भी सलाह देते हैं, चूंकि रेशेदार सब्जियों के सेवन से पेट पूरी तरह साफ रहता है और रक्त संचार का माध्यम सरल हो जाता है। इन गुणों के अतिरिक्त खुश्क व रूखेपन को...

  • कष्टकर कब्ज से छुटकारा पाएं

    कब्ज पेट की एक ऐसी समस्या है जिससे हर कोई न कोई अवश्य पीडि़त होता है। कब्ज होने पर शौच खुलकर नहीं होता। मल सूखा व कड़ा हो जाता है। प्रयास करने पर भी शौच नहीं उतरता। पेट में भारीपन बना रहता है। हरी सब्जी और फल ज्यादा खाने वाले लोग कब्ज का शिकार नहीं होते और उनमें मल की मात्र मांसाहारियों की अपेक्षा...

  • उत्तम स्वास्थ्य हेतु खाएं फल एवं सब्जियां

    शरीर को स्वस्थ बनाए रखने के लिए रोजाना आहार में फल व सब्जियों का उपयोग करना नितांत आवश्यक होता है क्योंकि इनसे हमें विभिन्न महत्त्वपूर्ण पौष्टिक तत्व प्राप्त होते हैं। जो शरीर के सही संचालन और रोगों से मुक्ति दिलाने में मदद करते हैं। विशेषज्ञों की राय में जो फल एवं सब्जियां जितनी अधिक चटक रंग की...

  • कैसा हो स्वास्थ्यकर भोजन?

    शरीर को स्वस्थ रखने के लिए तथा आवश्यक ऊर्जा प्रदान करने के लिए भोजन की आवश्यकता पड़ती है। आज के समय में बहुत-से ऐसे भी व्यक्ति हैं जिन्हें यह मालूम ही नहीं होता कि किस प्रकार का भोजन किया जाय? पेट भरने के लिए तथा जीभ के स्वाद के लिए भोजन ग्रहण करने से पहले व्यक्ति का यह जानना आवश्यक है कि शरीर के...

  • संतुलित आहार की सारणी अनावश्यक

    इस बात से इंकार नहीं किया जा सकता कि स्वास्थ्य से खान-पान का सीधा संबंध है। स्वास्थ्य संबंधी लेखों में प्राय: संतुलित आहार की व्याख्या की जाती है और संतुलित आहार की एक सारणी से आपका परिचय करा दिया जाता है। बहुत लोग उस लेख और उस सारणी का अध्ययन मात्र अध्ययन करने के लिए करते हैं और बात समाप्त हो जाती...

  • पेट की गैस से आराम पाने के टिप्स

    - प्रात: काल शौचादि के बाद नियमपूर्वक 10-15 मिनट कुछ योगासन प्राणायाम अवश्य करें। - योगासन आदि के बाद यदि पेट में भारीपन, गैस आदि कोई भी कष्ट हो तो 9'' म 6'' म1'' गीले तौलिये को तहकर निचोड़ कर 30 मिनट के लिये पेड़ू पर रखने से तात्कालिक कष्ट दूर होता है। - खाने के बीच में पानी न पिएं। यह हमारी...

  • 16 दिसंबर- भारत और विश्व के इतिहास में 16 दिसंबर की प्रमुख घटनाएं

    नयी दिल्ली । भारत और विश्व के इतिहास में 16 दिसंबर की प्रमुख घटनाएं इस प्रकार है- 1631 - इटली के माउंट विसुवियस में ज्वालामुखी विस्फोट से छह गांव तबाह, चार हजार से अधिक लोग मारे गये। 1707 -जापान के माउंट फुजी पर्वत में अंतिम बार ज्वालामुखी विस्फोट हुआ। 1862-नेपाल में संविधान लागू। 1889 -...

  • जवां जिंदगी, कमजोर काया

    दैनिक जीवन की चुनौती, अनियमित जीवनचर्या, अहितकर भोजन के चलते युवाओं में शारीरिक समस्याएं बढ़ रही हैं। कम उम्र में ही उनकी काया बूढ़ी हो रही है। बालों की सफेदी एवं आंखों की कमजोरी को तो छिपाया जा सकता है किन्तु तन की निर्बलता को छिपा पाना कठिन होता है। भाग-दौड़ वाली व्यस्त जिंदगी में पग-पग पर...

Share it
Top