Read latest updates about "लाइफ स्टाइल" - Page 1

  • बोध कथा: नाम की महिमा

    कान्यकुब्ज देश में अजामिल नामक एक ब्राह्मण रहता था। पहले वह बहुत सदाचारी था तथा सदैव धर्म कर्म के कार्यों में लिप्त रहता था किन्तु एक दासी के संग रहने के कारण उसमें चोरी, ठगी, बेईमानी और दुराचार के दुर्गुण विद्यमान हो गए थे। दासी से उसके दस पुत्र थे तथा वह आजीवन उस परिवार के भरण पोषण में लगा रहा...

  • डांस करिए और स्वस्थ रहिए

    डांस मूवमेंट थेरेपी एक ऐसा ही ट्रीटमेंट है, जिसे आप इंजॉय करने के साथ ही अपनी हेल्थ भी मेंटेन कर सकती हैं। योगा, एरोबिक्स, जिम वगैरह खूब पॉपुलर हैं, लेकिन इन दिनों महिलाओं के बीच सबसे पॉपलर हो रही है डांस मूवमेंट थेरेपी। डॉक्टर्स के मुताबिक, डांस आपको कुछ समय के लिए आपकी सारी टेंशन भुला देता...

  • धर्म संस्कृति: तांत्रिक सिद्धियों में काम आने वाली चीजें

    तांत्रिक क्रियाएं हकीकत हैं या ढकोसला, यह विवादित विषय है लेकिन तांत्रिकों और तंत्र में विश्वास करने वालों की संख्या बहुत बड़ी है। भूत-प्रेत अर्थात् दुष्टात्माओं को तांत्रिक काबू में करते हैं और ऐसी अदृश्य शक्तियों से मनचाहा काम करवाते हैं। ऐसा बताया जाता है कि तंत्र विद्या में निपुण होने के लिए...

  • 19 नवंबर:आज ही के दिन कल्पना चावला अंतरिक्ष जाने वाली पहली भारतीय महिला बनीं थी

    नयी दिल्ली। भारतीय एवं विश्व इतिहास में 19 नवंबर की प्रमुख घटनाएं इस प्रकार हैं1816- वारसॉ विश्वविद्यालय की स्थापना। 1824- रुस के सेंट पीटर्सबर्ग शहर में बाढ़ से लगभग दस हजार लोगों की मौत हुई। 1828- मराठा शासित राज्य झांसी में 1857 की प्रथम भारतीय स्वतन्त्रता संग्राम की वीरांगना रानी लक्ष्मीबाई...

  • पर्यटन: दरगाह जहां जन्माष्टमी पर मेला लगता है

    राजस्थान में एक दरगाह ऐसी भी हैं जहां श्रीकृष्ण जन्माष्टमी पर्व पर मेला लगता है। झुंझुनू जिले के नरहड़ कस्बे में स्थित पवित्र हाजीब शक्करबार शाह की दरगाह कौमी एकता की जीवन्त मिशाल हैं। इस दरगाह की सबसे बड़ी विशेषता है कि यहां सभी धर्मों के लोगों को अपनी-अपनी धार्मिक पद्धति से पूजा अर्चना करने का...

  • पर्यटन: प्रकृति की गोद में गज़ब का गोवा

    घूमना जिसका शौक हो, वह गोवा की सुंदरता के जाल से बच नहीं सकता, ऐसा आकर्षण है इस प्रदेश में, कि दूर दूर से पर्यटक खिंचे चले आते हैं। इसकी वादियां, समुद्री तट, अठखेलियां करती समुद्री लहरें, हरे भरे पेड़, चांदी सी बिखरी रेत और इस पर सोना बिखेरती सूर्य की रश्मियां भला किसे नहीं बुलाती ! आइए चलते हैं...

  • व्यक्तित्व को आकर्षक बनाने के चन्द सूत्र

    व्यक्ति के व्यक्तित्व की पहचान उसके बात करने के ढंग से होती है। आप किसी से अच्छे ढंग से बात करते हैं तो आप उसे अपनी ओर आकर्षित कर सकते हैं चाहे आपका रंग-रूप कैसा भी क्यों न हो। आपके बात करने का ढंग ऐसा होना चाहिए कि आपसे जो व्यक्ति बात कर रहा है, वह आपकी बातें सुनने के लिए मजबूर हो जाए। सबसे...

  • रिश्ता करने से पहले

    भारतीय परिवारों में रिश्ता करने से पहले लड़का-लड़की के गुण दिखाये जाते हैं। उनकी जन्मपत्री मिलाई जाती है। जब उनके गुण और जन्मपत्री मिल जाती है, तब अन्य बातें देखी जाती हैं जैसे:- - लड़का-लड़की की जोड़ी मिलती है या नहीं? - लड़का-लड़की की शिक्षा का स्तर समान है या नहीं? - लड़का-लड़की के परिवारों...

  • आपकी जान भी ले सकता है अधिक नमक का सेवन

    नई दिल्ली। हाल ही में हुए एक शोध में खुलासा हुआ है कि आहार में नमक (सोडियम) का ज्यादा सेवन करने से मृत्यु का खतरा बढ़ सकता है। शोधकर्ता नैंसी कुक ने कहा कि शरीर में सोडियम की मात्रा मापना काफी कठिन है। क्योंकि यह छिपा हुआ होता है और आपको पता नहीं लग पाता कि आप इसका कितना सेवन कर रहे हैं। जिससे...

  • फ्लावर फेशियल से पाएं ग्लोइंग त्वचा

    महिलाएं अब केमिकल्स के दुष्प्रभाव के प्रति जागरूक हुई हैं इसलिए अब घरेलू या प्राकृतिक चीजों की मदद से फेशियल करवाना पसंद कर रही हैं। इनमें वह ताजे फलों के जूस, उनका गूदा मास्क के रूप में प्रयोग करती हैं इसी प्रकार ताजे फूलों की पत्तियां क्र श कर उनका जूस और गूदा भी अपने चेहरे पर खुशी से लगवाती हैं।...

  • जब खरीदने जाएं घर की लाइट्स

    यदि आप नया घर बनवा रहे हैं या फिर घर की रेनोवेशन करवा रहे हैं तो घर के अन्य इंटीरियर के साथ साथ लाइट्स पर भी उतना ही ध्यान दें जितना अन्य सजावटी चीजों पर देने जा रहे हैं। आधुनिक घर के लिए लाइट्स का भी अहम रोल होता है। लाइट्स के बाजार में हर अवसर, हर कमरे जैसे ड्राइंग रूम, बेडरूम, रसोई, बाथरूम आदि...

  • 18 नवंबर : भारतीय एवं विश्व इतिहास में 18 नवंबर की प्रमुख घटनाएं

    नयी दिल्ली। भारतीय एवं विश्व इतिहास में 18 नवंबर की प्रमुख घटनाएं इस प्रकार हैं:1727- महाराजा जय सिंह द्वितीय ने जयपुर शहर की स्थापना की। 1738- फ्रांस और आस्ट्रिया के बीच शांति समझौते पर हस्ताक्षर। 1772- पेशवा माधवराव प्रथम के छोटे भाई नारायणराव ने गद्दी संभाली। 1901- फिल्मकार, निर्देशक और...

Share it
Top