Read latest updates about "संबंध" - Page 1

  • बढ़ते जा रहे हैं विवाहपूर्व शारीरिक संबंध

    लगभग 18-20 वर्ष की आयु में युवा वर्ग में सेक्स के प्रति गहरा आकर्षण उत्पन्न हो जाता है। सभी जाति के युवकों में हर समय सेक्स संबंधी नई-नई जानकारी प्राप्त करने की उत्सुकता रहती है। सेक्स के प्रति अत्यधिक लगाव युवा वर्ग में शारीरिक संबंध बनाने का आधार बनता है। एक सर्वेक्षण के अनुसार 90 प्रतिशत...

  • जीवन का स्वीट पॉयजन है असंयम

    जीवन का सबसे बड़ा शत्रु है असंयम। इसके द्वारा जितनी हानि उठानी पड़ती है, उतनी हानि सौ दुश्मन मिलकर भी नहीं पहुंचा सकते। इंद्रियों की एवं मन की सामर्थ्य को सृजनात्मक कार्यों में प्रयुक्त करने की अपेक्षा जब हम उसका अपव्यय अनुपयुक्त दिशा में करते हैं तो वह शक्ति न केवल व्यर्थ ही चली जाती है वरन् उसके...

  • जानिए प्रेम और वासना में अंतर

    युवावस्था उम्र का वह बसंत है जिसमें हृदय पटल पर प्रेम के फूलों का खिलना लाजिमी है। उम्र के इस मुकाम पर हर किसी की तमन्ना होती है कि उसे किसी का प्रेम मिले या किसी पर अपना प्रेम लुटाया जाए। इसी तमन्ना के प्रभाववश हमारे युवा प्रेम मार्ग पर चल पड़ते हैं किन्तु प्रेम के वास्तविक अर्थ व स्वरूप के ज्ञान...

  • मधुर व्यवहार है सुखी परिवार का आधार

    हर व्यक्ति की सबसे बड़ी इच्छा होती है कि उसका एक सम्पन्न व सुखी परिवार हो। घर की व्यवस्था इतनी उत्तम हो कि बड़ों को उचित आदर व श्रद्धा मिले तथा छोटों को स्नेह, भरपूर प्यार और आशीर्वाद। इस तरह के परिवार के निर्माण में हर व्यक्ति का परस्पर सहयोग होना आवश्यक है वरना कभी-कभी गृहक्लेश और वैचारिक...

  • प्रेम बढ़ाता है साथ-साथ खाना

    परिवार के सभी सदस्यों का एक साथ मिल बैठकर भोजन करना न केवल आपसी सौहार्द बढ़ाता है बल्कि यह भोजन से प्राप्त होने वाले फायदों को भी बढ़ाता है, ऐसी विशेषज्ञों और डॉक्टरों की राय है। एक शोध के अनुसार यह परिवार के अंदर कलह की संभावनाओं को भी कम करता है और आजकल इस भाग-दौड़ की जिंदगी में भी तनाव मुक्त...

  • घर जमाई व हमारा समाज

    हमारे समाज में घर जमाई बनना उचित नहीं समझा जाता। घर जमाई बनने पर व्यक्ति को प्राय: अपना स्वाभिमान गंवाना पड़ता है। जो प्यार एवं सम्मान उसे अपने परिजनों से मिलता है, वह ससुराल वालों से कभी नहीं मिल पाता। घर जमाई बनने में उन्हें कुछ सम्मान भाग्य से नसीब होता है जिनकी सास होती है। ससुराल में सास ही...

  • आपकी 'न' पति को आपसे दूर कर सकती है

    रमन पलंग पर लेटा जग रहा था। दीपा रसोई का काम निपटाकर आयी। वह रमन से कुछ दूरी पर लेट गई थी। रमन ने पास लेटी पत्नी के शरीर पर हाथ रखा। 'क्या है?' दीपा बोली। 'इधर आओ न,' रमन ने दीपा को अपनी तरफ खींचने को हाथ बढ़ाया। 'नहीं, मैं पहले ही बहुत थक चुकी हूं। सो जाओ और मुझे भी सोने दो।' दीपा ने स्पष्ट...

  • ऐसे बनाएं अपने रिश्ते को घनिष्ठ

    हम सभी लोग सदैव अपने रिश्ते को मजबूत बनाने अथवा बचाने हेतु अथक प्रयासरत रहते हैं किंतु इसके बावजूद कई दफा रिश्ते को नहीं बचा पाते। अंतत: हम न चाहते हुए भी हताश व निराश होकर रिश्ता तोड़ देते हैं । अगर आप भी अपने घनिष्ठ रिश्ते को लेकर अक्सर परेशान रहते हैं यानी मजबूत बनाने में खुद को असमर्थ...

  • बुजुर्गों का रखें विशेष ध्यान

    बढ़ती उम्र जीवन का एक जरूरी पड़ाव है जिसे नकारा नहीं जा सकता। बढ़ती उम्र में सक्रियता कम होना, कम सुनना, कम दिखना, शरीर का ढीला होना, पाचन प्रणाली का कमजोर होना साधारण है। अगर बच्चे इन्हें नार्मल लें और उनकी सेहत व डायट का ध्यान और प्यार देें तो बुजुर्ग ज्यादा खुशी से अपना बुढ़ापा काट सकते हैं। आइए...

  • मां-बाप का बंटवारा न करें

    मां बाप के हिस्से में बच्चे के जन्म से ही उसकी सेवा करना होता है लेकिन कब तक? बड़े लाड चाव से वे बच्चे को पालते पोसते हैं, उनके सुखी भविष्य की चिंता करते हुए उन्हें सुरक्षा प्रदान करते हैं। त्याग, स्नेह, प्यार जैसे शाश्वत मूल्य विकसित करते हुए वे अपनी संतान को स्वयं कष्ट और अभाव सहकर भी सुखी रखना...

  • प्यार चाहिए तो प्यार देना भी सीखें

    जब आप अत्यधिक उदास, डिप्रेस्ड और तनाव से घिरे होते हैं तब आपको वे अच्छे लोग जरूर याद आते हैं जिनसे आपको प्यार है, लगाव है। यही नहीं उनके अलावा वे अजनबी भी याद आते हैं जिन्होंने आप की किसी न किसी रूप में मदद की थी। आप जिसे मानते हैं जिसकी इज्जत करते हैं उससे कांटेक्ट बनाए रखना चाहते हैं। इसी तरह आप...

  • देह शोषण के अनदेखे सच

    एक सरकारी अस्पताल में पीड़ा से कराहती महिला के साथ वार्ड बाय छेडख़ानी करता है। महिला के एतराज करने पर वह उसे बेहोशी की दवा देकर बेइज्जत कर देता है। क्या यही है महिलाओं की आजादी, उन्हें बराबरी का हक दिया जाना? हैवानियत की ऐसी भूख का निवाला अलग-अलग रूपों में बार-बार बनती रहती है औरत। एक अधेड़ औरत को...

Share it
Top