Read latest updates about "लेडीज स्पेशल" - Page 1

  • अपनी जिम्मेदारी न भूलें अभिभावक

    देश और समाज की अहम जिम्मेदारी संभालने हेतु युवाओं की जो नई पौध हो रही है उनमें व्याप्त अनुशासनहीनता और अनैतिकता के आधार पर यह कहा जा सकता है कि इन्हें संस्कारित करने में शिक्षकों के साथ-साथ अभिभावकों से भी कोई भारी चूक हो गई है। भारत में आज ऐसे माता पिता की संख्या करोड़ों में है जो संतान पैदा...

  • समय कैसे बचाएं गृृहणियां

    रिद्धिमा की शादी छोटे शहर में हुई। उसके सभी पड़ोसी एक-दूसरे के साथ मिलजुल कर रहते हैं। लिहाजा सबसे लेनदेन व उनके घरों में आना जाना लगा रहता है। हालांकि वह हाउसवाइफ है पर उसे बागवानी व पेंटिंग का काफी शौक है पर पड़ोसियों के घर आने जाने के चक्कर में उसे अपनी रूचियों को पूरा करने का वक्त ही नहीं...

  • क्यों पसन्द आती है कोई महिला?

    स्त्री-पुरूष का एक-दूसरे के प्रति आकर्षण सहज भाव है। इस आकर्षण में उम्र, जाति या इस तरह की अन्य बातों का कोई बंधन नहीं होता। यह अलग बात है कि वह आकर्षण स्थायी न हो। सबसे पहले किसी को चेहरा ही अपनी ओर आकर्षित करता है, उसके बाद आंखों का पैनापन, फिर बात करने का तरीका। लड़के-लड़कियों में क्या देखकर...

  • अलौकिक आनंद है दांपत्य जीवन में

    विवाह के पवित्र रिश्ते का प्रारंभ मधुर भावनाओं के मिलन से ही जीवन को सुहावनापन प्रदान करता है। पत्नी की भावनाओं में समर्पण है तो वह पति को अपने दिल में प्रेम के धागे से बांध लेती है। स्त्री केवल देह के आकर्षण से अधिक समय तक पति को अपने करीब नहीं रख सकती। अपने मधुर स्वभाव, सहनशीलता, सकारात्मक...

  • प्यार की गहराई बताता है चुम्बन

    दांपत्य संबंधों की सरसता व गरमाहट में चुम्बन एक अहम भूमिका निभाता है। अक्सर पति-पत्नी अपने प्यार को प्रदर्शित करने के लिए एक-दूसरे को चुम्बन देना अधिक पसंद करते हैं। उनका यह चुम्बन उनके व्यक्तित्व, इरादों तथा मानसिक स्थिति को भी व्यक्त करता है। बांहों में भर कर चूमना:- अक्सर देखने में आया है कि...

  • हाथों की सुंदरता : स्वस्थ और चमकदार नाखून

    चेहरे की सुंदरता त्वचा से होती है। इसी प्रकार हाथों की सुंदरता स्वस्थ और सुंदर नाखूनों से होती है। नाखूनों की सही देखभाल कर हम अपने नाखूनों को स्वस्थ और चमकदार बना सकते हैं। अस्वस्थ नाखून जल्दी टूटते हैं और उनकी ग्रोथ भी ठीक नहीं होती। स्वस्थ नाखून प्राकृतिक रूप से गुलाबी, चमकदार होते हैं और समय पर...

  • दंपति भी कर सकते हैं परफेक्ट रोमांस

    रोमांस केवल सेक्स से ही संबंधित नहीं होता। रोमांस का अर्थ जीवन के वो रोमांचक क्षण होते हैं जो पति पत्नी मिलकर बिताते हैं, उनका पूरा आनन्द उठाते हैं और अपने संबंधों में मधुरता बनाए रखते हैं। ये रोमांचक पल आपके रिश्तों को पक्का करते हैं। वैसे तो विवाह के शुरू के क्षणों को याद करके ही दिल में...

  • जेब वाली सलवार बड़े काम की

    सुरेखा को ऑफिस जाने में देर हो रही थी, उस पर से मौसम की दोहरी मार। कभी तेज धूप तो कभी बूंदा-बांदी। नहाकर निकलने पर भी पसीने से पूरा बदन भीग रहा था। कैसे पसीना पोंछे, कैसे छाता संभाले और कैसे बैग संभाले। झुंझलाहट बढ़ती जा रही थी। बस, थोड़े पैसे और मोबाइल ही तो हैं पर्स में। एक जेब होती तो कितनी...

  • क्यों पनपते हैं विवाहेतर प्रेम संबंध

    आज की आधुनिक पीढ़ी में प्रेम संबंध पहले से अधिक देखने को मिल रहे हैं। ऐसी बात नहीं कि पहले ऐसे संबंध नहीं पनपते थे। ये पनपते तो थे पर बहुत कम और वे भी अधिकतर पुरूषों के होते थे। महिलाओं के विवाहेत्तर संबंधों के बारे में कम सुनने को मिलता था पर आज महिलाएं पुरूषों के बराबर दर्जा प्राप्त कर चुकी हैं।...

  • कैसा हो आपका ब्रेजियर?

    स्तन सौन्दर्य एवं स्तनों की सुरक्षा के लिए नारियों का अधोवस्त्र (अन्दरूनी वस्त्र) ब्रेजियर कैसा हो, आपकी ब्रा का सही नाप क्या है, ब्रेजियर को कब पहना जाये, कब न पहना जाये आदि अनेक बातों की जानकारियां ब्रेजियर पहनने वाली को न होने से अनेक प्रकार की हानियां भी हो सकती हैं। सही आकार की ब्रेजरी का ही...

  • शादी को न कहती लड़कियां

    एक नयी परेशानी में घिरती जा रही हैं आजकल की मांएं। उनकी युवा बेटियां शादी नहीं करना चाहती। कहती हैं, क्या मिलेगा शादी करके? हम नौकरी करते हैं, अपने पांवों पर खड़े हैं, हमें किसी के साथ बंध कर नहीं रहना। क्या आपकी बेटी भी यही कहती है? नीना की बेटी प्रिया अठाईस साल की हो गयी है। एक मल्टीनेशनल कंपनी...

  • गरबा करें हिट, सेहत रहे फिट

    देवी आराधना के पर्व क्वांर नवरात्र में नौ रात्रि तक गरबा करने की परम्परा है। गरबा गुजरात का एक प्रमुख व प्राचीन नृत्य है। इसमें रंग-संगीत की धुन पर लयबद्ध नाचने की प्रथा है। यह नृत्य गुजरात से ऊपर उठकर आज देश के कोने-कोने में प्रचलित एवं प्रिय हो गया है। विश्व में जहां भी गुजराती हैं, वहां यह पहुंच...

Share it
Top