Read latest updates about "लेडीज स्पेशल" - Page 2

  • बालों को चाहिए उचित देखभाल

    बालों का झडऩा आज के प्रदूषण भरे वातावरण में एक आम बात है। बालों का झडऩा प्राकृतिक है पर जब इनकी संख्या बढऩे लगती है तो विशेष देखभाल की जरूरत होगी ही। बालों के अधिक झडऩे के पीछे कई कारण हो सकते हैं जैसे कोई बीमारी, गर्भावस्था के समय, रजोनिवृत्ति के समय, डैंड्रफ, दवाइयों का प्रभाव और पौष्टिक भोजन का...

  • बेचारा पति

    क्या कभी किसी ने यह सोचा है कि घर-परिवार चलाने की जिम्मेदारी क्या सिर्फ पुरूष की होती है? क्या पत्नी का कोई कर्तव्य नहीं? यह गहराई से क्यों नहीं सोचती कि पत्नी को उतने ही पैर पसारने चाहिए जितनी बड़ी उसकी चादर हो। इसका अर्थ यह है कि परिवार की मासिक आमदनी के अनुसार ही घर का बजट बनाया जाना चाहिए तथा...

  • अब विवाह से नहीं डरती युवतियां

    आजकल लड़कियां जहां बड़े होते-होते एक तरफ अपने कैरियर की ओर पूरा ध्यान लगाकर रखती हैं और अपना एक वर्चस्व कायम करना चाहती है, वहीं दूसरी तरफ विवाह को लेकर भी उनके मन में कुछ सपने पनपते हैं। कुछ जिज्ञासाएं होती हैं तो कुछ आशंकाएं भी होती हैं मसलन शादी के बाद उनके जीवन में कितना परिवर्तन हो जाएगा,...

  • छरहरी काया आपको बनाती है आकर्षक

    आज महिलाएं अपने सौंदर्य के प्रति जागृत हो गई हैं। सौंदर्य की सबसे पहली जरूरत है आकर्षक फिगर और उसे पाने के लिए जरूरी है छरहरी होना।प्राय: महिलाओं में यह भी गलत धारणा है कि छरहरी होने का अर्थ है पतला होना। पतला दिखने के चक्कर में वे प्रारंभ कर देती हैं डायटिंग जिससे फिगर आकर्षक होना तो दूर, अच्छी...

  • ऐसे बनाएं खुद को स्लिम और स्टाइलिश

    यह बात सौ फीसदी सत्य है कि आजकल की अधिकांश महिलाएं अपने को स्लिम देखना बेहद पसंद करती हैं और इसके लिए वे कड़ी मशक्कत भी करती हैं लेकिन इसके बावजूद भी जब उनका मोटापा नहीं घटता तो वे न जाने क्या-क्या करने को आतुर हो जाती हैं। तो आपको ऐसा कुछ करने की अब जरा भी आवश्यकता नहीं क्योंकि हम आपको बताने जा...

  • किशोर होते बच्चों को दें सही सलाह

    किशोरावस्था जीवन का वह पड़ाव है जहां से बच्चों का भविष्य बनता या बिगड़ता है। दस-बारह साल की उम्र में बच्चा स्वयं को एक जिम्मेदार व्यक्ति समझने लगता है लेकिन कभी-कभी वह वातावरण को सही तरीके से नहीं समझ पाता और गलतियां कर बैठता है। बाद में वह स्वयं को असफल और अयोग्य समझने लगता है। उसका आत्मविश्वास और...

  • मां का तनाव बच्चों के साथ खेलने से कम होता है

    पुरूषों की तुलना में स्त्रियों को तनाव का अधिक सामना करना पड़ता है। पत्नी बनने के बाद मां बनती है तब उसके तनाव का दायरा और बढ़ जाता है। यही महिला यदि नौकरी पेशा हैं तो उसके तनाव का और विस्तार हो जाता है। ऐसी तनावग्रस्त महिला जब अपने बच्चों के साथ खेलती है, तब उसका तनाव शनै:शनै: कम हो जाता है।...

  • बनाये रखें पड़ोसियों से नजदीकी

    आज की भाग दौड़ भरी जिंदगी में आदमी के लिए समय निकाल पाना कठिन होता है। बहुत कम लोग ऐसे हैं जो अपने परिवार को भी पर्याप्त समय दे पाते हैं। फिर पड़ोसियों की तो बात ही दूर है। आज कई लोग (खास कर शहरों में) ऐसे हैं जो अपने अगल-बगल में रहने वाले पड़ोसियों के नाम तक नहीं जानते। यूँ अपने आस-पास रहने वाले...

  • ऐसे बनाएं महिलाएं अपना आकर्षक व्यक्तित्व

    आज के प्रतिस्पर्धात्मक युग में अपने आपको जीवन के हर दौड़ में प्रतिस्थापित करना चुनौतीपूर्ण व कठिन होता है लेकिन उच्चकोटि के व्यक्तित्व के धनी लोग सरलता से अपने बहुमुखी व्यक्तित्व के कारण लोगों व समाज में आसानी से अपना सम्मानजनक स्थान बना लेते हैं व जीवन के प्रत्येक क्षेत्र में सफलतापूर्वक आगे निकल...

  • महत्त्वाकांक्षा का शिकार होती युवतियां

    महत्त्वाकांक्षा रखना और पहचान बनाने के लिए संघर्ष करना बुरा नहीं है लेकिन इसके लिए जो रास्ता अपनाया जाता है वो अक्सर गलत होता है। पुरूषों से होड़ करती, उन्हें नीचा दिखाने का प्रयत्न करतीं या उन्हें अपने प्रेमजाल में फंसाकर उंगलियों पर नचाने की ख़्वाहिश रखती ये युवतियां भूल जाती हैं कि पुरुष...

  • हाथों को सुंदर बनायें

    हम यह बात भूल जाते हैं कि हमारे हाथ हमेशा दिखाई देते हैं। रूखे झुर्रियोंदार, कटे, फटे नाखूनों वाले हाथ दिखने में भद्दे लगते हैं। हमारे हाथ में 18 हड्डियां होती हैं। कलाई से उनमें अद्भुत संतुलन रहता है। वस्तुत: हाथों की अपनी एक भाषा होती है। हाथों के ऊपर की त्वचा बहुत कोमल होती है इसीलिए इसमें जल्दी...

  • उपहार लेना भी कला है

    उपहार लेने देने की परम्परा बहुत पुरानी चल रही है। उपहार लेना सभी को अच्छा लगता है लेकिन देना किसी-किसी को ही पसंद है। यह भी एक तरह का शौक है। उपहार लेना देना कोई लालच नहीं बल्कि मधुर भावनाओं का आदान प्रदान होता है। उपहार कितना भी छोटा क्यों न हो, उसे प्यार से स्वीकार करना चाहिए जिससे देने वाले का...

Share it
Top