Read latest updates about "लेडीज स्पेशल" - Page 2

  • प्राकृतिक उत्पाद दिलाएं खूबसूरत त्वचा

    खूबसूरत त्वचा की चाहत हर महिला की होती है। इसीलिए रोज की भागदौड़, तनाव, धूप, प्रदूषण आदि से त्वचा को बचाने के लिए महिलाएं अनेक सौंदर्य उत्पादों का इस्तेमाल करती हैं, लेकिन बाजार में मौजूद रसायनयुक्त सौंदर्य उत्पाद त्वचा को निखारने के बजाय उसे नुकसान पहुंचाते हैं। बेदाग और निखरी त्वचा के लिए...

  • गर छुड़ाना पड़े मजनुओं से पिण्ड तो

    जब लड़का लड़की जवां होते हैं तो दिल धड़कते हैं कि कोई अपना ऐसा मिले जिससे वे अपने प्यार का इजहार कर सकें। कभी कभी तो चाहत दोनों तरफ से होती है जो आसानी से प्यार में बदल जाती है पर जब चाहत एकतरफा हो तो प्यार में बदलनी मुश्किल हो जाती है। कभी-कभी लड़के किसी लड़की के लिए इस कद्र पागल हो जाते हैं कि...

  • जिससे लहराते रहें बाल

    बालों को चमकदार और लहरदार बनाने के लिए उनकी पूरी केयर करनी पड़ती है। इसके लिए सभी बालों को शैंपू करते हैं। आजकल तो बाजारों में ढेरों प्रकार के शैंपू और कंडीशनर उपलब्ध हैं। समझ नहीं आता कि कौन-सा ज्यादा बेहतरीन है। शैंपू बदलते-बदलते बालों का कचरा हो जाता है। दरअसल आपको अपना शैंपू बदलने की जरूरत...

  • गृृहिणी किसी प्रबंधक से कम नहीं

    टीवी पर एक कार्यक्र म आरंभ होने वाला था। 3 जोड़े बैठे हुए थे। महिलाओं से परिचय पूछा गया। एक ने बताया कि वह शिक्षिका है। दूसरी ने अपने को बैंक अधिकारी बताया। उन दोनों के चेहरों पर चमक थी। तीसरी ने दबे स्वर में कहा कि वह मात्र गृहिणी है। उसके हाव-भाव देखकर ऐसा लगा जैसे वह हीनभावना से ग्रस्त है। ...

  • मिडिल एज में महिलाओं को होता डिप्रेशन..45 से 69 साल की महिलाओं पर किया है अध्ययन

    नई दिल्ली । एक नए अध्ययन में अलग-अलग उम्र में डिप्रेशन और फिजिकल ऐक्टिविटी के संबंध का पता लगाया गया है। कई महिलाओं में मिडिल एज डिप्रेशन देखा गया है। इस स्टडी में 45 से 69 साल की 1100 से ज्यादा महिलाओं को शामिल किया गया। इनमें से 15 पर्सेंट महिलाओं ने कहा कि उन्होंने डिप्रेशन का सामना किया है।...

  • गरिमा बनाए रखें सास के रिश्ते की

    जब मां बेटे की शादी करती है तो वह खुशी से फूली नहीं समाती परन्तु कुछ समय बाद यह खुशी मुरझाने लगती है। प्राय: शिकायतें होती हैं कि बहू सास की इच्छाओं के अनुकूल नहीं निकली, दान-दहेज उनकी हैसियत से कम लाई है, काम में अपेक्षाकृत कम मदद करती है। उतना सम्मान उनको और उनके परिवार वालों को विवाह के समय...

  • बच्चों के तनाव को पहचानें

    तनाव एक ऐसा घुन है जो बच्चों को भी नहीं छोड़ता। वे भी उसकी चपेट में अनजाने में आ जाते हैं। पहले तो 10 साल तक के बच्चे मस्त खेलते कूदते रहते थे, अपने बचपन का पूरा आनन्द उठाते थे पर आज के युग में बच्चा दो वर्ष का होता है तो माता पिता उन्हें हिन्दी और अंग्रेजी भाषा में रोजमर्रा में प्रयोग होने वाले...

  • यूं करिए अपनी आंखों का मेकअप

    चेहरे की खूबसूरती में सबसे बड़ा योगदान होता है आंखों का। भारतीय महिलाओं को खूबसूरत और आकर्षक आंखों की मलिका कहा जा सकता है लेकिन कई महिलाएं आंखों के सही सौंदर्य को उजागर ही नहीं कर पातीं क्योंकि वे इन्हें संवारने के सही तरीके से अनजान होती हैं। आंखों के मेकअप में काम आने वाले प्रसाधन जैसे आई...

  • पारिवारिक वातावरण को दूषित बनाते घरेलू झगड़े

    झगड़ा शब्द उतना ही पुराना है जितना इस धरती पर मानव जीवन। घरों में लड़ाई-झगड़ा होना कोई नई बात नहीं है। यह तो युगों-युगों से होता आ रहा है। घरेलू झगड़े कई गुल भी खिला चुके हैं। इतिहास की कई महत्त्वपूर्ण घटनाएं घरेलू झगड़ों का ही परिणाम थी। राम का वनवास सौतिया डाह के कारण ही हुआ। राम न वन जाते और न...

  • एक्ने रहित दमकती त्वचा पाएं

    डे टू डे चेहरे को फेस वॉश से धोना, फिर एसपीएफ वाला माश्चराइजर लगाना ही दमकती त्वचा के लिए पर्याप्त नहीं है। हम क्या खाते हैं और हमारा लाइफ स्टाइल क्या है, इस पर भी एक्ने फ्री त्वचा और चमकती त्वचा पर प्रभाव पड़ता है। जंक फूड,अपौष्टिक आहार और वजन कम करने के कई गलत तरीके भी हमारी त्वचा पर प्रभाव...

  • प्रशंसा करना भी एक कला है

    आज के इस व्यस्त जीवन में किसी के पास वक्त नहीं है कि वह अपना काम छोड़कर दूसरों की बातों पर ध्यान दे परंतु कभी कभी ऐसा समय आ ही जाता है जब चाहे अनचाहे आपको किसी विषय पर राय देनी हो। जैसे आपके परिचित या पड़ोसी बाजार से कोई नयी वस्तु ले आयें और उस पर आपकी प्रतिक्रि या जानना चाहें और आप अपने काम में...

  • घर की मुर्गी नहीं है गृहिणी

    कहावत है कि 'घर की मुर्गी दाल बराबर'। बात गृहिणी की है। बेचारी सबसे पहले उठती है और सब को सुलाने के बाद ही उसे जरा सा कमर सीधी करने का अवसर मिल पाता है। दिन भर चरखी की भांति घूमती है। परिवार के हर छोटे बड़े सदस्य की हर मांग पूरी करती है। हर एक की आवश्यकता, फरमाइश और पसंद का पूरा-पूरा ध्यान रखती है।...

Share it
Top