Read latest updates about "लाइफ स्टाइल" - Page 2

  • शेयरिंग करना सिखाएं बच्चों को

    बच्चे अपने माता-पिता, घर-परिवार और आस-पास के वातावरण से बहुत कुछ सीखते हैं। बच्चे गंदी आदतें जल्दी सीखते हैं और अच्छी आदतों पर पूरा ध्यान नहीं देते। ऐसे में माता-पिता की जिम्मेदारी बढ़ जाती है। एक्सपर्ट्स के मुताबिक बच्चों को बचपन से ही शेयरिंग का अभ्यास करवाना होगा। तभी वह सीख पाएंगेे और साथ ही...

  • इन्हें अपनाएं खूबसूरती बढ़ाएं

    नियमित व्यायाम और तेज टहलना खूबसूरती बनाए रखने में मदद करते हैं। व्यायाम शरीर को तो लाभ पहुंचाता ही है, उसके साथ थकान और तनाव से भी मुक्ति दिलाता है। - चीनी और नींबू का रस त्वचा को मुलायम और साफ करने के लिए हाथों पर रगड़ा जा सकता है। - पैरों की थकान दूर करने के लिए और मृत त्वचा मुलायम बनाने के...

  • न कहलाएं लेट-लतीफ

    ऑफिस का वक्त हो तो सड़कों पर टै्रफिक का नजारा पागल कर देने वाला नजर आता है। एक आपाधापी सी मची होती है। लोग सड़कों पर बदहवास से वाहन दौड़ाते देखे जा सकते हैं। यूं लगता है मानो जान हथेली पर लेकर चले जा रहे हों। उन्हें अपने जीवन की जरा भी परवाह ही नहीं। समय से बाजी मारने की कोशिश करते ये ऑफिस या...

  • न बनें अनचाहे मेहमान

    वैसे भारतीय समाज में मेहमान को भगवान का दर्जा दिया जाता है परंतु जब वहां मेहमान वक्त-बेवक्त आ धमके तो मेजबान को भारी परेशानी का सामना करना पड़ सकता है। कई बार लोग सरप्राइज देने के चक्कर में अचानक किसी के घर मेहमान बनकर पहुंचते हैं तो मेजबान के साथ-साथ खुद भी परेशान होते हैं। इस संबंध में शान मेहता...

  • मिल जुल कर ही महकता है दांपत्य

    जब वैवाहिक सूत्र में बंध ही गए हैं तो उसे सफल बनाना पति-पत्नी दोनों पर ही निर्भर करता है। परिवार के सदस्यों का योगदान तो बहुत कम होता है। यदि दोनों पार्टनर अपनी जिम्मेदारियों को सही रूप देते रहें तो यह बगिया हमेशा महकती रहेगी। दोषारोपण न करें:- कुछ गलतफहमी होने पर एक दूसरे को दोष न दें। स्पष्ट रूप...

  • 22 सितंबर : आज ही सिख संप्रदाय के पहले गुरु गुरुनानक देव जी का निधन हुआ था

    नयी दिल्ली। भारतीय एवं विश्व इतिहास में 22 सितंबर की प्रमुख घटनाएं इस प्रकार हैं- 1539 – सिख संप्रदाय के पहले गुरु गुरुनानक देव जी का निधन। 1791- भौतिक विज्ञानी और रसायनशास्‍त्री माइकल फैराडे का निधन। 1792 - फ्रांस गणराज्य की स्थापना की घोषणा हुयी। 1903 - अमेरिकी नागरिक इटालो...

  • हमारे परिधान ही हमारी पहचान हैं

    बदलते समय, बदलते परिवेश में आधुनिक पहनावे के प्रभाव से कोई भी अछूता नहीं है। सभी वस्त्रों की चकाचौंध की ओर आकर्षित हो रहे हैं। वस्त्रों और उनके डिजाइन से स्त्री-पुरूष, बच्चों, सभी को एक वस्तु के रूप में प्रस्तुत किया जा रहा है। लोगों में आधुनिकता की इस अंधी दौड़ में आधुनिक दिखने की लिप्सा बढ़ती जा...

  • दैनिक कार्यों की नीरसता से हताश न हों

    मेज-कुर्सी पर बैठ कर ऑफिस का काम करने वालों की तुलना में होम मेकर महिला सदैव लाभ में रहती है। उसे अपनी व्यस्तताओं के दौरान बार-बार नीचे झुकने, तन कर खड़ा होने और शरीर को दाएं-बाएं मोडऩे की आवश्यकता पड़ती है। इन विविध हरकतों का शरीर और अंगों पर सुखद प्रभाव पड़ता है और स्वाभाविक लोच और निरोगता कायम...

  • शरीर शोधक है करेला

    सब्जियों की श्रेणी में आने वाला करेला कड़वे स्वाद के कारण विख्यात है। इसकी कई प्रजातियां बाजार में मिल जाती हैं। सभी समान गुणधर्म की होती हैं। यह सब्जी, सलाद, जूस, अचार या सूखाकर चूर्ण बनाकर उपयोग किया जाता है। इसका कड़वा होना ही इसे गुणकारी बनाता है। भारत में इसे उपवास के पहले एवं बाद में खाने की...

  • लौकी से मिलता है आराम व संतुष्टि

    लौकी सब्जी प्रजाति का एक बारह मासी फल है। इसे कुछ स्थान पर दूधी के नाम से भी जानते हैं। यह सब्जी, सलाद, रायता, जूस, हलवा, लड्डू आदि बनाने के काम आती है। इसका परांठा भी बनाया जाता है। जूस से हृदय को लाभ मिलता है। गला सुखाने वाली प्यास की स्थिति में यह रक्षा कवच का काम करती है। दस्त के कारण होने वाले...

  • औषधियों के प्रयोग से पहले इनका भी ध्यान रखें

    आजकल प्राय: यह देखने को मिलता है कि किसी असाध्य या भयानक परिस्थितियों में ही लोग डॉक्टर के पास जाकर उनसे परामर्श लेते हैं अन्यथा सिर दर्द, पेट दर्द, कमरदर्द, आदि जैसी छोटी-मोटी बीमारियों का उपचार स्वयं कर लेते हैं। अपने आप ही केमिस्ट के पास जाकर दवाई खरीदना, अपने अनुसार ही दवाइयों की खुराकों को...

  • मन की दुर्बलता है आशंका

    रोजमर्रा के जीवन में अधिकांश समय हम सब भिन्न-भिन्न आशंकाओं से ग्रस्त रहते हैं। बच्चे ठीकठाक स्कूल पहुंचे या नहीं, बहू की तबीयत कैसी होगी, बेटी का पत्र नहीं आया, बीमार तो नहीं पड़ गई होगी, दामाद का साक्षात्कार होना था, ठीक हुआ या नहीं, नातिन के विवाह में कोई अड़चन तो नहीं आ जाएगी? आशंकाओं की तालिका...

Share it
Share it
Share it
Top