Read latest updates about "राज काज" - Page 1

  • आया ऊंट पहाड़ के नीचे

    -मनोज ज्वाला ऊंट एक ऐसा मरुस्थलीय प्राणी है, जो यह सोच कर हमेशा अकड़ा रहता है कि उससे बड़ा-ऊंचा दूसरा कोई नहीं है। उस 'मरुस्थल के जहाज' की सवारी करने वाले कबीलाई लोगों के बीच से सारी दुनिया को फतह करने के लिए 'इस्लाम' नाम का जो मजहब निकला उसके आधुनिक झण्डाबरदार बने पाकिस्तान की अकड़ भी कुछ ऐसी ही है।...

  • मंत्रिमंडल विस्तार में संतुलन साधने का प्रयास

    -सियाराम पांडेय 'शांत' सरकारें मंत्रिमंडल का विस्तार करती रहती हैं। यह प्रक्रियागत मामला है लेकिन उत्तरप्रदेश में योगी आदित्यनाथ मंत्रिमंडल का विस्तार अहम इसलिए है कि इसमें उत्तर प्रदेश के तीनों ही भूभाग पूर्वांचल, पश्चिमांचल और बुन्देलखंड के बीच क्षेत्रीय और जातीय संतुलन स्थापित करने की कोशिश की...

  • कांग्रेस में बिखराव और असहाय सोनिया

    - प्रभुनाथ शुक्ल कांग्रेस का हाथ बेहद कमजोर हो चुका है। इतना कमजोर कि वह खुद का बोझ उठाने में सक्षम नहीं है। पार्टी के भीतर आंतरिक लोकतंत्र और संगठन बिखर चुका है। वह मजबूत विपक्ष की भूमिका निभाने के भी काबिल नहीं है। अनुशासन जैसी बात खत्म हो चली है। संगठन से जुड़े नेता अपना घर छोड़ भाजपा का दामन...

  • कश्मीर घाटी में अमन की बहाली

    कश्मीर घाटी में धीरे-धीरे जनजीवन पटरी पर लौटने लगा है। भारत सरकार द्वारा जम्मू कश्मीर में अनुच्छेद-370 हटाने और जम्मू कश्मीर तथा लद्दाख दो केंद्र शासित प्रदेश बनाने के बाद पिछले कुछ दिनों से समूचे राज्य में ऐहतियातन धारा 144 लागू कर दिया गया था। स्कूल-कॉलेज बंद कर दिए गए थे, सरकारी दफ्तरों में...

  • पाकिस्तान अधिकृत कश्मीर के गठन का गुनहगार कौन?

    मनोज ज्वाला भारतीय संविधान के अनुच्छेद 370 को निरस्त कर जम्मू-कश्मीर को केन्द्र शासित प्रदेश बना दिए जाने के बाद अब पाकिस्तान अधिकृत कश्मीर (पीओके) पर भी चर्चा होने लगी है। सन 1947 में जम्मू-कश्मीर पर पाकिस्तानी-कबायली आक्रमण हो जाने और उसी दौरान उस पूरी रियासत का वहां के महाराजा के हाथों...

  • आजादी के बाद सशक्त भारतीय सेना के लिए सबसे बड़ा कदम

    आर. के. सिन्हा भारत के 73वें स्वतंत्रता दिवस के मौके पर लाल किले की प्राचीर से प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी द्वारा रक्षा क्षेत्र में चीफ ऑफ डिफेंस स्टाफ (सीडीएस) की घोषणा भारतीय सैन्य शक्ति को और अधिक प्रभावी बनाने की दिशा में उठाया गया एक ऐसा कदम है, जो पिछले कई दशकों से लंबित था। राष्ट्र की...

  • लाल किले से विकास और सुधार का शंखनाद

    -सियाराम पांडेय शांत प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी सामाजिक सरोकार, सुधार और परिष्कार की बात करते हैं। आत्मकवाद और अवांछनीयताओं से लड़ने की दृढ़ता प्रकट करते हैं। जन संवाद का एक भी मौका वे चूकते नहीं है। उन्हें पता है कि वे जो बात कह रहे हैं वह पहली और आखिरी नहीं है। पहले भी इसपर बातें होती रही हैं। आगे...

  • सत्ता हस्तान्तरण का एक गुप्त प्रकरण

    -मनोज ज्वाला 14 अगस्त 1947 की आधी रात को ब्रिटेन की महारानी के परनाती ने जवाहरलाल नेहरू के हाथों भारत की सत्ता यों ही हस्तान्तरित नहीं कर दी थी, बल्कि ब्रिटिश हितों के हिसाब से तत्सम्बन्धी पात्रता का परीक्षण कर लेने बाद की गई थी। सत्ता हासिल करने के निमित्त नेहरू जी ब्रिटिश हुक्मरानों द्वारा ली गई...

  • यह कश्मीर को मिली आजादी का जश्न है , आइए मिलकर मनाएं

    -प्रभुनाथ शुक्ल भारत वासियों के लिए यह अजब संयोग है कि स्वाधीनता दिवस यानी 15 अगस्त और रक्षाबंधन एक ही दिन मनाया जाएगा। दोनों महापर्व एक दूसरे के पूरक हैं। दोनों का ऐतिहासिक और धार्मिक महत्व है। एक हमें जहां त्याग और बलिदान की सीख देता हैं वहीं दूसरा बुराईयों और आसुरी प्रवृत्तियों से समाज...

  • कश्मीर पर कांग्रेस कंफ्यूज क्यों है?

    -अनिल बिहारी श्रीवास्तव अनुच्छेद 370 पर अपनी छीछालेदर करवा चुकी कांग्रेस शायद कोई सबक लेने को तैयार नहीं है। एक कांग्रेसी नेता का कथित बयान सोशल मीडिया में पढ़ने को मिला। उनका कहना है कि भविष्य में केन्द्र में कांग्रेस को बहुमत मिलने और उसकी सरकार बनने पर जम्मू कश्मीर की पुरानी स्थिति वापस लौटा...

  • क्यों भड़के हुए हैं योगी महाराज..!

    -केपी सिंह उत्तरप्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ का पारा इन दिनों चढ़ा नजर आ रहा है। कभी अपने मंत्रियों पर तो कभी अधिकारियों पर उनका गुस्सा फूट रहा है। उनका मिजाज बताता है कि उन्हें भ्रष्टाचार और लापरवाही बर्दाश्त नहीं है। फिर भी उनके राज में दिया तले अंधेरे की स्थिति अभी तक बनी रही है। इसे...

  • दिल्ली को कहां लेकर जाएगी मुफ्त की राजनीति..!

    योगेश कुमार गोयल दिल्ली विधानसभा चुनाव से चंद माह पहले मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने मुफ्त बिजली तथा बिजली मीटरों के फिक्स चार्ज में भारी गिरावट करके बड़ा चुनावी दांव खेला है। इससे दिल्ली की सियासत में हड़कंप मच गया है। दिल्ली के लाखों बिजली उपभोक्ताओं को तत्काल प्रभाव से राहत दिए जाने के इस...

Share it
Top