Read latest updates about "राज काज" - Page 1

  • केरल का नन दुष्कर्म कांड..न्याय की हत्या से कम नहीं गवाह का मरना

    -सियाराम पांडेय 'शांत' मुद्दई सुस्त, गवाह चुस्त का जुमला तो खूब सुना है। सुनने में यह बहुत अच्छा भी लगता है लेकिन व्यावहारिक जीवन में भी क्या गवाह चुस्त रहता है, इसका जवाब किसी के भी पास नहीं है। पहले लोग गवाही देने को हर क्षण तैयार रहते थे। आज स्थिति यह है कि आपराधिक मामलों में कोई गवाही देना...

  • ताकि मीटू कैंपेन का दुरुपयोग ना हो

    - आर.के.सिन्हाएम.जे.अकबर ने 'मीटू कैंपेन' में आरोप लगने के कारण केन्द्रीय मंत्रिमंडल से इस्तीफा दे दिया। राजनीतिक शुचिता की दृष्टि से यह कुछ हद तक जरूरी भी था। उनकी कुछ पूर्व महिला सहयोगियों ने उन पर यौन उत्पीड़न के आरोप लगाए थे। इस केस में दो बातें गौर करने लायक है। अकबर पर प्रिया रमानी नाम की एक...

  • शालीनता और शिष्टाचार की प्रतिमूर्ति थे पं. नारायण दत्त तिवारी

    -आर. के. सिन्हा... उत्तर प्रदेश और उत्तराखंड के अनेकों बार मुख्यमंत्री एवं भारत सरकार के वित्त मंत्री और विदेश मंत्री जैसे पदों पर लगातार पांच दशकों से ज्यादा सेवा देने वाले देश के मूर्धन्य राजनीतिज्ञ, विद्वान, चिंतक और प्रखर वक्ता पं.नारायण दत्त तिवारी के देहावसान के साथ भारतीय राजनीति के एक...

  • पैट्रोल-डीजल के दाम बढ़ाने वाला मोदी मंथन

    पेट्रोल-डीजल के बढ़ते दामों से राहत देने के लिए केंद्र सरकार द्वारा दी गई छूट अब बेअसर हो गई है। इसकी वजह यही है कि लगातार पेट्रोल-डीजल के दाम में बढ़ोतरी की जा रही है। जानकार कह रहे हैं कि यहां गौर करने वाली बात यह है कि दो दिन पहले ही प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कई बड़ी ऑयल कंपनियों के सीईओ के...

  • हिन्दुओं को आखिर कब तक अपमानित करती रहेगी कांग्रेसः

    सियाराम पांडेय 'शांत' कांग्रेस नेता शशि थरूर ने हिन्दुओ को बांटने वाला बयान दिया है।उनके बयान से न केवल भाजपा नाराज हैं बल्कि हिन्दू समाज भी कम क्षुब्ध नही है। राम मंदिर के लिए आंदोलन करने वाले तपसी छावनी के महंत परमहंस दास ने तो थरूर को बाबर की औलाद तक कह दिया है। हालांकि थरूर ने मीडिया पर...

  • पुलिस ही हमलावर तो किससे करें उम्मीद..?

    -सियाराम पांडेय 'शांत' पुलिस से लोगों को बड़ी उम्मीद होती है लेकिन पुलिस की भूमिका ही इन दिनों संदेह के घेरे में हैं। आजकल पुलिस मुंह से नहीं, गोली से बात करती है, यह बात हर आम और खास के दिमाग में हैं। पुलिस के व्यवहार में आया यह बदलाव अपने आप में रहस्य है, जिसका भेदन अभी किया नहीं जा सका है।...

  • 'केवल पुरुषों को दोष देने से काम नहीं चलेगा'

    पुरानी यादें हमेशा हसीन और खूबसूरत नहीं होतीं। मी टू कैम्पेन के जरिए आज जब देश में कुछ महिलाएं अपनी जिंदगी के पुराने अनुभव साझा कर रही हैं तो यह पल निश्चित ही कुछ पुरुषों के लिए उनकी नींदें उड़ाने वाले साबित हो रहे होंगे। कुछ अपनी सांसें थाम कर बैठे होंगे। इतिहास वर्तमान पर कैसे हावी हो जाता है, मी...

  • आधार का आधार तलाशते अरूण जेटली

    उच्चतम न्यायालय ने आधार पर सुनवाई करते हुए आदेश दिया था कि बैंक या दूरसंचार जैसी निजी कंपनियां इसका उपयोग सत्यापन के लिए नहीं कर सकती हैं। इस मामले में अब वित्त मंत्री अरुण जेटली का बयान सामने आया है जो कि कह रहे हैं कि संसद से पारित कानून के जरिये मोबाइल फोन और बैंक खातों को आधार से जोडऩे की...

  • मुसलमान क्यों ना जाएं सेना में ?

    -आर.के.सिन्हा.भारतीय सेना के पूर्व लेफ्टिनेंट जनरल सैयद अता हसनैन ने हाल ही में मुसलमानों का आह्वान किया कि वे भारतीय सेना में जाकर देश की सीमाओं की रखवाली में अपना योगदान करें। लेफ्टिनेंट जनरल सैयद अता हसनैन अपनी जगह बिलकुल सही हैं। निश्चित रूप से भारतीय सेना में कोई जातिगत आरक्षण नहीं है।वहां पर...

  • उत्तर प्रदेश पुलिस का अमानवीय चेहरा

    -प्रमोद भार्गव उत्तर प्रदेश में योगी आदित्यनाथ की सरकार जबसे अस्तित्व में आई है, तब से मुठभेड़ में बदमाशों को मार गिराए जाने का सिलसिला जारी है। अब प्रदेश की राजधानी लखनऊ में मोबाइल कंपनी एपल के क्षेत्रीय प्रबंधक विवेक तिवारी की हत्या को जिस तरह से अंजाम दिया गया है, उससे लगता है पुलिस मुठभेड़ के...

  • शर्म करो विवेक तिवारी की जाति पूछने वालों..!

    -आर.के. सिन्हा लखनऊ में बेगुनाह विवेक तिवारी का नृशंस कत्ल हमारे समाज में घर कर गई विकृत मानसिकता को जाहिर करता है। उन पर एक पागल पुलिसिए ने सड़क पर रोककर गोली चला दी। उनकी मौत मौके पर ही हो गई। अब इस पर तमाम तरह की प्रतिक्रियाएं आ रही हैं। विवेक की मौत पर उसके प्रति सहानुभूति जताने या...

  • हॉरर किलिंग पर हो सख्त और त्वरित कार्रवाई

    -डॉ. कविता सारस्वत हाल के दिनों में तीन घटनाओं ने पूरे देश का ध्यान अपनी ओर खींचा है। यूपी के मुजफ्फरनगर में एक व्यक्ति की हत्या कर उसके शव को गन्ने के खेत में गाड़ दिया गया और खेत में सिंचाई के लिए पानी चला दिया गया। इसी तरह तेलंगाना में एक युवक प्रणय की हत्या उस समय कर दी गई, जब वह अपनी गर्भवती...

Share it
Top