Read latest updates about "धर्म-दर्शन"

  • बड़े काम का है तांबा, बच्चे को नजर लग जाए तो करें ये उपाय

    तांबा या कॉपर को वास्तु शास्त्र में बहुत ही महत्व दिया गया है, आपको बता दें कि तांबा नकारात्मक ऊर्जा को दूर करने में सहायक होता है और इसे घर में रखने से वास्तुदोष खत्म होता है। वास्तु शास्त्र में तांबे के अलग-अलग उपाय बताए गए हैं जिन्हें अपनाकर व्यक्ति अपने घर के वास्तुदोष से छुटकारा पा सकता है,...

  • हमारे धर्मस्थल: शक्ति पीठ माता भीमेश्वरी देवी सरकार

    हरियाणा के जिला झज्जर में प्रसिद्ध बेरी कस्बे में माता भीमेश्वरी देवी शक्तिपीठ राज्य भर में अनूठी पहचान रखता है। इसे लोकप्रिय भाषा शैली में माता बेरी वाली के नाम से जाना जाता है। प्रतिदिन यहां माता के दर्शन करने वालों की भीड़ देखने को मिलती है। नवरात्रों में तो यह भीड़ इतनी अधिक होती है कि पुलिस...

  • ....और बाल्मीकि विश्व के प्रथम कवि बन गये

    पूर्व नाम रत्नाकर था। यद्यपि वे प्रचेता च्यवन ऋषि के वंशधर थे लेकिन दुष्टों की संगति में पड़कर भयंकर दस्यु बन गये थे। वे लोगों की हत्याएँ एवं उन्हें लूट कर के ही अपने परिवार का भरण पोषण करते थे। उनकी इस अति पतित अवस्था एवं आचरण को देख कर सभी दु:खी थे पर किसी का साहस नहीं होता था कि उन्हें सही मार्ग...

  • माता लक्ष्मी की कृपा प्राप्त करनी है तो उन्हें अर्पित करें ये फूल

    पीले फूल बसंत के आगमन का सूचक होते हैं, पीले फूल देखने में जितने खूबसूरत होते हैं वास्तु शास्त्र में उतना ही इनका महत्व होता है। वहीं पूजा में भी पीले फूलों को काम में लिया जाता है। जब भी किसी धार्मिक कार्यक्रम का आयोजन किया जाता है तो उसमें भी पीले फूलों को काम में लिया जाता है। आपने भी देखा होगा...

  • धनवान बनना चाहते हैंं तो करें ये काम

    अक्सर देखा जाता है कि कुछ लोग अपने जीवन में बहुत मेहनत करते हैं लेकिन फिर भी उनका धनवान होने का सपना अधूरा रह जाता है। तो यदि आपके साथ भी एेसा ही कुछ एेसा ही हो रहा है तो हम आपको वास्तु के कुछ एेसे उपाय बताने जा रहे हैं, जिन्हें अपनाने से आपके जीवन में आ रही मुश्किलें कम हो सकती है। अगर...

  • पति का नाम न लेने के पीछे ये है कारण

    हिंदू धर्म की मानें तो पति को साक्षात भगवान का दर्जा दिया गया है। इसके अनुसार पति की आज्ञा का पालन करना पत्नी का कर्तव्य माना जाता है। कुछ प्राचीन मान्यताओं के अनुसार पति का नाम लेना अच्छा नहीं माना जाता। लेकिन आजकल के इस फास्ट फॉरवर्ड ज़माने में लव मैरेज का प्रचलन बढ़ता जा रहा है। जिस कारण लड़किया...

  • अगर ऐसा सपना दिख जाए तो हो जाएंगे मालामाल

    दिन भर की थकान मिटाने और नई ऊर्जा पाने के लिए गहरी नींद बहुत जरूरी है। नींद में व्यक्ति अनेक प्रकार के स्वप्न देखता है। अक्सर सपने की बात हमें याद नहीं रहती। स्वप्न सुखद एवं दुखद दोनों ही प्रकार के हो सकते हैं। स्वप्न द्वारा भविष्य में क्या होने वाला है गालीयुक्त झगड़ा: यदि स्वप्न में गालीयुक्त...

  • जानिए! क्या कहते हैं आपकी हथेली के निशान आपके भविष्य के बारे में...

    आपकी कुंडली में तो आपके भविष्य के बारे में दर्शाया ही गया होता है इसके साथ ही आपकी हथेली भी भविष्य से छिपे कई रहस्य आपके सामने उजागर करती है। हथेली पर अंकित रेखाएं और चिन्ह भविष्य में क्या होने वाला है या आपका भाग्य कब चमकने वाला है इसका संकेत देते हैं। हथेली में कुछ चिन्हों को बहुत ही शुभ माना...

  • यहां शिवलिंग पर चढ़ती है सीक वाली झाड़ू..

    भगवान शिव को प्रसन्न करने के लिए पंचामृत, दूध, जल, भांग, दही, घी, गंगा जल, बेलपत्र, धतूरा आदि चीज़े अर्पित करने का बारे में तो आपने सुना ही होगा। क्या आप जानते हैं, भोले बाबा का एक ऐसा भी मंदिर है जहां झाड़ू चढ़ाई जाती है। उत्तरप्रदेश के मुरादाबाद जिले में बीहाजोई गांव में पातालेश्वर शिव मंदिर है,...

  • तो ये है मृत्यु का रहस्य...!

    दुनिया के किसी भी कोने में, किसी भी मजहब, जाति, उम्र और किसी भी लिंग के मनुष्य से यह पूछा जाए कि उसका सबसे बड़ा भय क्या है तो नि:संदेह उसका एक ही उत्तर होगा-मृत्यु। उसके क्षणिक विचार मात्र से ही हम कांप उठते हैं। इसका मतलब हम यही मानते हैं कि बस, सब कुछ खत्म। लगता है अभी तो जीवन यात्रा शुरू ही हुई...

  • शनिदेव के इस रूप को देख मंत्रमुग्ध हो जाते हैं भक्त

    अक्सर देखा जाता है कि प्रत्यक शनि मंदिर में शनि देव की काले रंग की ही प्रतिमा ही स्थापित होती हैं, जिसका लोग तेल के साथ अभिषेक करते हैं। लेकिन क्या आपको पता है कि इंदौर के जूनी क्षेत्र मे एक एेसा प्राचीन शनि मंदिर है जहां विराजित सिंदूरी शनि महाराज के 16 श्रृंगार किए जाते हैं। इस प्राचीन मंदिर के...

  • भगवान के समान नहीं कोई दूसरा...

    एक समय में मान्यता थी कि जब-जब बादल गरजते हैं, बिजली कड़कती है, मतलब इंद्र देवता प्रसन्न हैं लेकिन इस विज्ञान के युग में यह मान्यता नहीं रह गई। आज वह मान्यता हो गई है जो वैज्ञानिक तर्क से कहते हैं कि कोई देवता नहीं है, यह सब प्राकृतिक नियम है जिसके तहत वर्षा होती है, बिजली कड़कती है, बादल गरजते...

Share it
Share it
Share it
Top