Read latest updates about "धर्म-दर्शन" - Page 2

  • धन की कमी से छुटकारा पाने के लिए करें ये तीन उपाय

    मेहनत करने के बाद भी अगर व्यक्ति को आर्थिक परेशानियों का सामना करना पड़ता है तो इसका एक कारण वास्तुदोष भी होता है। अगर घर में वास्तुदोष हो तो ये तरक्की में बाधा उत्पन्न करता है और इससे घर के सदस्यों को अनेक परेशानियों का सामना करना पड़ता है। अगर व्यक्ति इन वास्तुदोषों को ठीक कर ले तो धन संबंधि...

  • बसंत पंचमी विशेष: 10 फरवरी: बसंतोत्सव: प्रेम, पूजन और प्रकृति का पर्व

    जब कलियां,पल्लव,पुष्प, कोंपल तथा पत्ते तक खिले खिले हो उठें,मौसम खुशगवार हो जाए, न गर्मी सताए और न ही सर्दी का प्रकोप रहे, तब समझ लीजिए कि बसंत आ गया है। बसंत हृदय में काम भाव भर कर पशु पक्षी तक में रमण का चाव जगाकर सृष्टि को गति देता है, प्रकृति सुंदर से सुंदरतम हो जाती है, बसंतपंचमी के बसंत के...

  • बसंत पंचमी-10 फरवरी: ज्ञान की देवी सरस्वती की पूजा और उसका महत्त्व

    हर युग में ज्ञान को सर्वोत्तम धन माना गया है। ज्ञान के बल पर ही महान ऋषि-मुनि साधारण मनुष्य से पूज्यनीय बनें। ज्ञान ही है जो किसी प्रतियोगिता में रंक को भी राजा बनाने की क्षमता रखता है। हिन्दू धर्म में ज्ञान की देवी मां सरस्वती जी को माना जाता है। संसार में फैली उदासी और अज्ञानता को समाप्त करने के...

  • बसंत पंचमी मां सरस्वती व प्रकृति का आविर्भाव दिवस

    माघ माह में शुक्ल पक्ष की पंचमी तिथि को बसंत पंचमी मां सरस्वती के जन्म दिवस के रूप मे बडे ही उल्लास से मनाया जाता आ रहा है। इस दिन माता सरस्वती की पूजा विशेष फलदायी मानी जाती है। ये ब्रह्मा जी की मानसपुत्री भी है, जो विद्या की अधिष्ठात्री देवी कहलाई जाती है। इनके हाथों में हमेशा वीणा रहती है। इसी...

  • ज्योतिष: करोड़पति बनाता है कुंडली का विष्णु योग

    जातक की जन्मकुंडली में उसके जीवन का सम्पूर्ण विवरण निहित होता है। जन्मकुंडली का अध्ययन करके यह बताया जा सकता है कि जातक का जीवन दु:खमय व्यतीत होगा या सुखमय। कुंडली में अनेक प्रकार के योग होते हैं। यहां पर त्रिमूर्ति योग अर्थात् ब्रह्मा योग, विष्णुयोग तथा शिवयोग से संबंधित प्रमुख बातों की जानकारी दी...

  • पर्यटन/तीर्थस्थल: सारे तीरथ बार-बार, गंगासागर एक बार

    भारत की नदियों में सबसे पवित्र गंगा नदी है जो गंगोत्री से निकल कर पश्चिम बंगाल में आकर सागर से मिलती है। गंगा का जहां सागर से मिलन होता है, उस स्थान को गंगासागर कहते हैं। इसे सागरद्वीप भी कहा जाता है। यह स्थान देश में आयोजित होने वाले तमाम बड़े मेलों में से एक गंगासागर मेला के लिए सदियों से विश्व...

  • रामायण कथा: शबरी का राम-प्रेम

    शबरी भीलनी जाति की स्त्री थी। शबरी में भक्ति और सेवाभाव कूट-कूट कर भरा था। वह अकेली ही मतंगमुनि के आश्रम के पास अपनी छोटी-सी कुटिया में रहती थी। वह हर समय मुनि की सेवा में ही लगी रहकर अपना जीवन व्यतीत कर रही थी। वह नित्य आश्रम के मार्ग को दूर तक झाड़-बुहारती थी। जंगल से आश्रम के लिए सूखी लकडिय़ां,...

  • पर्यटन: महाबलिपुरम् के बोलते पत्थर

    तमिलनाडु में कई प्राचीन स्मारक व अद्वितीय मूर्तियों वाले ऐतिहासिक मंदिर है। ऐसा ही एक शानदार पर्यटन स्थल है महाबलिपुरम्। महाबलिपुरम कोरोमंडल तट जो बंगाल की खाड़ी में है, पर स्थित है। इन मंदिरों का निर्माण 7००-728 के दौरान पल्लव राजवंश के महेन्द्रवर्मन् ने आरम्भ करवाया जिसे उसके पुत्र नरसिंहवर्मन ने...

Share it
Top