मऊ सिलेंडर ब्लॉस्ट में मंडलायुक्त ने दिए मजिस्ट्रियल जांच के आदेश..13 लोगों की मौत की पुष्टि

मऊ सिलेंडर ब्लॉस्ट में मंडलायुक्त ने दिए मजिस्ट्रियल जांच के आदेश..13 लोगों की मौत की पुष्टि



आजमगढ़। मऊ के वलीदपुर कस्बे में सोमवार को हुए सिलेंडर ब्लॉस्ट की घटना में 13 लोगों की मौत होने की पुष्टि आजमगढ़ मंडल की मंडलायुक्त कनक त्रिपाठी ने की है। मलबे में कुछ लोगों के दबे होने की संभावना है, उनको बाहर निकालने का प्रयास किया जा रहा है। राहत बचाव कार्य के लिए एनडीआरएफ और एसडीआरएफ की टीमों को बुलाया गया है। हादसे की मजिस्ट्रियल जांच के आदेश दिये गये हैं।

मोहम्मदाबाद कोतवाली के वलीदपुर निवासी छोटू बढ़ई के घर की महिला नाश्ता बना रही थी। उसी दौरान गैस रिसाव से सिलेंडर में आग लग गई। परिवार के लोग आग बुझाने का प्रयास कर ही रहे थे कि सिलेंडर में विस्फोट हो गया। विस्फोट इतना तेज था कि दो मंजिला मकान ढह गया गया। इसकी चपेट में आकर पड़ोसी का भी मकान जमीदोज हो गया। इस हादसे में मकान में रह रहे लोग तो दबे ही साथ ही राहत बचाव के लिए पहुंचे आसपास के लोग भी दब गये। मौके पर पहुंची पुलिस और प्रशासन की टीम ने मलवा हटाकर लोगों को निकालने का प्रयास कर रही है। अब तक करीब 35 लोग विभिन्न अस्पतालों में पहुंचाए गए हैं। आजमगढ़ जिले के जिला चिकित्सालय में कुल दस घायलों को भर्ती कराया गया है। जिसमें एक अज्ञात महिला की मौत हो गयी है। वहीं दो की हालत चिंताजनक देख चिकित्सकों ने हायर सेंटर के लिए रेफर किया गया है।

मंडलायुक्त ने बताया कि राहत बचाव कार्य के लिए जनपद के अलावा आसपास के जिलों की भी टीमें लगी हुई है। इसके अलावा गोरखपुर से एसडीआरएफ और एनडीआरएफ की टीमों को भी बुलाया गया है। घायलों को समुचित इलाक के लिए मुख्यचिकित्साधिकारियों को निर्देश दिये जा चुके है। इस घटना की जांच के लिए एटीएस की टीम भी पहुंचने वाली है।


Share it
Top