बजरंगबली को दलित कहने पर सवर्ण समाज भड़का, सवर्ण चेतना मंच के राष्ट्रीय अध्यक्ष के नेतृत्व में मुख्यमंत्री के खिलाफ पारित किया निंदा प्रस्ताव

बजरंगबली को दलित कहने पर सवर्ण समाज भड़का, सवर्ण चेतना मंच के राष्ट्रीय अध्यक्ष के नेतृत्व में मुख्यमंत्री के खिलाफ पारित किया निंदा प्रस्ताव



हमीरपुर। उत्तर प्रदेश के हमीरपुर जिले में बजरंगबली को दलित कहकर समस्त हिन्दु समाज व साधु संतों की धार्मिक भावनाओं को ठेस पहुंचाने से नाराज सवर्ण चेतना मंच के सवर्ण चेतना मंच के राष्ट्रीय अध्यक्ष डा. भूपेन्द्र सिंह भदौरिया के नेतृत्व में बड़ी संख्या में लोगों ने गुरुवार को मुख्यमंत्री के खिलाफ नारेबाजी करते हुये निंदा प्रस्ताव पारित किया है।

सवर्ण चेतना मंच के राष्ट्रीय अध्यक्ष डा. भूपेन्द्र सिंह भदौरिया के नेतृत्व में हरपाल सिंह प्रदेश अध्यक्ष, दयाशंकर सिंह, अनिल कुमार पाठक, जयवीर सिंह, सौरभ सिंह, चन्द्रभूषण तिवारी, यदुनाथ सिंह, रामलखन, अवधेश कुमार मिश्रा, सुरेश कुमार, विजय शंकर सहित बड़ी संख्या में अधिवक्ताओं व अन्य लोगों ने गुरुवार को दोपहर बाद कलेक्ट्रेट में प्रदर्शन किया और मुख्यमंत्री के खिलाफ अपर जिलाधिकारी के कार्यालय के गेट पर जमकर नारेबाजी भी की। सभी ने मुख्यमंत्री के खिलाफ निंदा प्रस्ताव पारित कर अपर जिलाधिकारी विनय प्रकाश श्रीवास्तव के माध्यम से राज्यपाल को ज्ञापन भेजा।

प्रदेश अध्यक्ष हरपाल सिंह सेंगर ने बताया कि प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ पद की गरिमा को नजरअंदाज कर अमर्यादित भाषा का प्रयोग करते हुये राजस्थान की मालाखेड़ा अलवर की चुनावी सभा में बजरंगबली को दलित कहकर हिन्दु समाज एवं संत समाज की भावनाओं को ठेस पहुंचायी है। अली बनाम बजरंगबली कहकर समाज को विखण्डित करने का प्रयास किया जा रहा है जो शर्मनाक है। उन्होंने बताया कि किसी भी ग्रंथ में पवन पुत्र हनुमान जी को दलित नहीं कहा गया है। ऐसी प्रतीत होता है कि मुख्यमंत्री को रामायण, गीता व उपनिषद का ज्ञान नहीं है। वह भगवा वस्त्र पहनकर धन एवं पद की लालसा में सम्पूर्ण हिन्दु समाज एवं संत समाज को अपमानित कर रहे है। उन्हें मुख्यमंत्री पद पर बने रहना हिन्दु समाज को अब स्वीकार नहीं है।

कांग्रेसियों ने भी मुख्यमंत्री के बयानों की निंदा

जिला कांग्रेस कमेटी के मीडिया प्रभारी लक्ष्मीकांत त्रिपाठी, अरविन्द शुक्ला, आरपी गुप्ता, संजय वीर सिंह लोधी, हिमांशु सैनी व नरेन्द्र सिंह सहित तमाम कार्यकर्ताओं ने मुख्यमंत्री के खिलाफ प्रदर्शन कर राष्ट्रपति को एक ज्ञापन भेजा है। कांग्रेसियों ने बताया कि बजरंगबली को दलित कहकर सनातन धर्म का अपमान किया गया है जिसकी जितनी निंदा की जाये वह कम है।रॉयल बुलेटिन की नई एप प्ले स्टोर पर आ गयी है।royal bulletin news लिखे और नई app डाउनलोड करें


Share it
Top