Read latest updates about "हेल्थ" - Page 2

  • सर्दियों में बालों के लिए नुकसानदायक है गर्म पानी

    देखने में आया है कि जब हम कभी भ्रमण करके या आफिस से लौटने के उपरांत थके हारे घर में आते हैं तो शरीर को तरोताजा करने के लिए नहाने का मन करने लगता है और हम बिना सोचे समझे सीधे बाथरूम में पहुंचकर गर्मागर्म पानी से नहाकर अपनी थकान मिटाने लगते हैं। बेशक गर्म पानी से नहाने के बाद हमारा शरीर प्रदूषण व...

  • सुस्त नहीं, चुस्त बनें

    सुस्त और सुस्ती के साथ आलस्य और आलसी का गहरा नाता है। सदैव काम और श्रम करने वाले बहुत कम मिलते हैं। जो काम को कल पर टालता है वही आलस्य व आलसी व्यक्ति की पहली पहचान है। आलस एक बीमारी है इसीलिए इसे अपनाने वाला आलसी व्यक्ति अनेक रोगों का शिकार होता है। एक ही स्थान पर पड़े रहने वाले कठोर पत्थर पर भी...

  • स्लीपिंग पिल्स या पूजा पाठ?

    वृद्धावस्था में तरह-तरह की चिंताओं से ग्रस्त होना स्वाभाविक है। जवानी में अविवेक और अहंकार तथा काम और क्रोध के वशीभूत होकर जो जो भूलें कीं और उन भूलों के जो जो दुष्परिणाम हुए, इन पर सोचते रहने के लिए बाध्य होने वाले वृद्ध कम नहीं हैं। कुछ ऐसे होंगे जिन्होंने किसी को धोखा नहीं दिया होगा, तो भी किसी...

  • जब सर्दी जुकाम खत्म न होने पाए

    सर्दियां आते ही सर्दी जुकाम पता नहीं कितनों को अपनी चपेट में ले लेता है, विशेषकर बच्चों, बूढ़ों और कमजोर लोगों को। पहले तो ये लक्षण बस सर्दियों में ही प्रकट होते थे। अब तो गर्मी सर्दी दोनों मौसम में बहुत से लोग इस रोग से पीडि़त रहते हैं। वजह है प्रदूषण की अधिकता और शरीर में रोग प्रतिरोधक शक्ति का...

  • मशरूम खाइये, निरोगी रहिए

    जाड़े की ऋतु अपने साथ लाई है लज्जतदार और जायकेदार मशरूम या खुंबियों का तोहफा। प्रचुर मात्रा में खुंबियों के मिलने का सबसे माकूल मौसम जाड़ा ही है। इतना ही नहीं, मशरूम स्वास्थ्य के लिए पौष्टिक और फायदेमंद भी है। लोकप्रियता के चलते अब इसकी खेती भरपूर की जाती है, वहीं इसमें पौष्टिक पदार्थों की प्रचुर...

  • दूध गुर्दों को स्वस्थ रखता है

    दूध सर्व सुलभ पदार्थ है। यह शरीर के लिए सभी दृष्टि से उपयुक्त होता है। यह संपूर्ण आहार माना जाता है। इसे संतुलित आहार का दर्जा प्राप्त है। दूध से शरीर की सभी आवश्यक जरूरतें पूरी हो जाती हैं। इसमें खनिज, लवण, जल, विटामिन सभी तत्व मौजूद हैं। यह ताजा जल की भांति गुर्दों को तरोताजा रखता है। गुर्दे को...

  • मेवों से कीजिए विभिन्न रोगों का उपचार

    अखरोट अखरोट में विटामिन ए,बी और सी पाया जाता है। यह ह्नदय, बल-वीर्य, मस्तिष्क और लिवर को बल देने वाला होता है और शरीर का वजन बढ़ा देता है। रक्त दोष, रक्तचाप, क्षयवात, अजीर्ण तथा गर्मी को दूर कर देता है। इससे शरीर में अम्ल उत्पन्न होता है, पित्त उत्तेजित होता है और वात विकार नष्ट होते हैं। यह मल...

  • मन को एकाग्र करने के कुछ सूत्र

    मन बहुत चंचल होता है। आम भाषा में कहें तो चलायमान होता है। जहां कुछ भी देखा, मन में उत्सुकता होने लगती है। जो लोग मन पर अंकुश रखते हैं वे गलत काम नहीं कर पाते। मन को वश में रखना आसान नहीं है। मन को वश में रखना साधना कहलाता है। - कोई भी काम करने से पहले यह संकल्प करें कि मैं मन को भटकने नहीं...

  • जब भी खरीदें, एक्सपायरी डेट देखना न भूलें

    बाजार से आए दिन हम खाद्य पदार्थों के बंद पैकेट, जूस, दवाइयां, सौंदर्य प्रसाधन और अन्य पदार्थों की खरीदारी करते रहते हैं। सामान खरीदते समय हम में से अधिकतर लोग मेन्युफैक्चरिंग डेट या एक्सपायरी डेट की ओर कोई ध्यान नहीं देते। बस खरीदारी पूरी की, घर भागे और घर पर प्रयोग करते समय भी ध्यान इस पर नहीं...

  • तेल की भूमिका सौंदर्य उपचार में

    कुछ तेल खाने के काम आते हैं, कुछ मालिश के और कुछ का बुद्धिमतापूर्वक प्रयोग कर त्वचा को सुंदर बनाया जा सकता है। तेल का सही प्रयोग कर त्वचा को लंबे समय तक खूबसूरत रखा जा सकता है। आइए जानें कौन सा तेल प्रयोग करने से खूबसूरती में निखार आता है। - आंखों के नीचे काले घेरों को कम करने के लिए शुद्ध...

  • विभिन्न रोगों की एक महौषधि - अदरक

    शरद ऋतु आरम्भ होते ही नया अदरक आने लगता है। यह स्वयं में एक महौषधि होने के साथ ही साथ एक वैद्य भी है। यह शारीरिक विकारों को दूर कर रक्त संचार की वृद्धि करता है। इससे अत्यधिक ऊर्जा की प्राप्ति होती है और पाचन क्रिया सुदृढ़ होती है। शरद ऋतु में आने वाला प्रत्येक फल व साग सब्जी जैसे गाजर, मूली,...

  • मन को स्वस्थ रखें, शरीर निरोगी बना रहेगा

    मन का सीधा प्रभाव तन पर पड़ता है। यदि मन अस्वस्थ है तो तन भी अस्वस्थ रहेगा। यदि मन पुष्ट है, बलवान है, आप में मनोबल की कमी नहीं है तो आप का शरीर भी चुस्त दुरूस्त व पूरी तरह कार्यशील बना रहेगा। हमें ऐसा कुछ नहीं करना चाहिए, जिस से शरीर रोगी हो। हमें वह सब करना चाहिए जिस से शरीर स्वस्थ रह सके। जब हम...

Share it
Top