Read latest updates about "हेल्थ" - Page 2

  • दही खाइये, दिल बचाइये

    वैज्ञानिकों ने पूरी तरह यह सिद्ध कर दिया है कि दूध से कहीं अधिक लाभप्रद दही का सेवन होता है। दूध की चिकनाई कोलेस्ट्रोल बढ़ाती है, इसलिए हृदय रोगियों के लिए दही का नियमित सेवन जहां एक ओर अत्यंत लाभकारी माना जाता है वहीं दूसरी ओर दूध के सेवन से कोलेस्ट्रोल हृदय की ओर जाने वाली कोशिकाओं को अवरूद्ध...

  • जीवन में कष्टों से बचने के उपाय

    जीवन फूलों की सेज नहीं, फिर भी यदि हम विवेक से काम लें तो दूरदर्शिता से आने वाले कष्टों को कम किया जा सकता है। आज के भागमभाग के युग में पग-पग पर रिस्क भरे पड़े हैं। अत: बुद्धिमान लोग हर काम को करने से पहले दस बार सोचते हैं। - यदि सुख से जीना चाहते हैं तो चिन्ता त्यागो। यह एक बीमारी है जो जला डालती...

  • चटनी जरूर खाएं

    'चटनी नहीं बनायी?' सारा खाना टेबिल पर आ गया, तब उसे देखते हुये प्रवीण बोला था। 'बनायी है। अभी लायी' रमा फुरती से प्लास्टिक का डिब्बा उठा लायी थी। छोटा सा डिब्बा जिसमें करीब ढाई-तीन सौ ग्राम धनिये की चटनी भरी थी। 'चटनी लो भाई साहब', प्रवीण ने चटनी का डिब्बा मेरे सामने कर दिया था। 'इतनी चटनी' मैं...

  • शारीरिक कमी पर फोकस क्यों?

    अनुभूति अपने जमाने में बेहद खूबसूरत और टेलेंटेड हुआ करती थी। टेलेंटेड तो वे उम्र के इस पड़ाव पर भी थी लेकिन अब नृत्य और स्पोटर््स उन्हें आर्थराइटिस के कारण छोडऩा पड़ गया था। उन्हें सदा से हर तरफ से प्रशंसा ही मिलती रही थी। अब शारीरिक कमी के कारण वे अपनी तकलीफ और मुश्किलों से तो बखूबी निपट लेती...

  • जानिये छिलकों के उपयोग

    बड़े-बूढ़े कहते हैं कि दुनियां में जो भी चीजें प्रकृति ने दी हैं वे सभी किसी-न-किसी रूप में उपयोगी भी हैं। कुछ लोग इस बात को काटने के लिए घास-फूस या अन्य किसी चीज़ का उदाहरण देकर कहेंगे कि बताइये इनका क्या उपयोग हो सकता है। वास्तव में उपयोग तो सभी चीजों का हो सकता है लेकिन अनेकानेक चीजों के...

  • धूम्रपान का फेफड़ों पर दूरगामी प्रभाव

    शौकिया, आदतन, देखादेखी या किसी भी कारण से धूम्रपान करना सदैव नुकसानदायक होता है। यह हर दृष्टि से सेहत को हानि पहुंचाता है। यह मुंह के कैंसर के खतरे को दुगुना कर देता है। यह दिल के आकार को बदल कर बीपी बढ़ा देता है। यह रक्त में थक्का बनाता है एवं हृदयाघात का कारण बनता है। इससे फेफड़े एवं श्वसन तंत्र...

  • मोटापा या दुबलापन दोनों ठीक नहीं

    कुछ लोग अत्यधिक मोटे अथवा अत्यंत दुबले होते हैं। स्वास्थ्य की दृष्टि से दोनों ठीक नहीं हैं। दोनों ही स्थितियां अनेक रोगों का कारण बन सकती हैं। व्यक्ति की ऊंचाई के अनुपात में उसका शरीर होना चाहिए। वजन उसके अनुसार हो। जितने इंच की ऊंचाई है, उसी के अनुसार उतना किग्रा वजन हो। भोजन एवं श्रम को सही व...

  • रीढ़ की हड्डी की टी. बी. लाइलाज नहीं

    भारत जैसे विकासशील देश में जहां अभी भी कई प्रतिशत आबादी गरीबी की रेखा से नीचे है, टी. बी. (क्षय रोग) जैसी बीमारी का काफी प्रकोप है। आमतौर पर यह रोग फेफड़ों को प्रभावित करता है लेकिन हड्डी तथा जोड़ों की टी. बी. का प्रकोप भी काफी देखा गया है। टी. बी. से घुटना, टखना, कूल्हा, रीढ़ की हड्डी इत्यादि...

  • तेज़ एंटी-बायोटिक दवाएं माइक्रोफ्लोरा बिगाड़ती हैं

    आजकल हर बीमारी का इलाज एंटीबायोटिक दवाओं के शक्तिशाली कैप्सूल से होता है जबकि हर तेज दवा का आफ्टर इफेक्ट जरूर होता है। एंटी बायोटिक दवाएं सूक्ष्म जीवाणुओं द्वारा बनाई जाती हैं। यह बैक्टीरिया को तो मार डालती हैं परन्तु रोगी के शरीर को क्षति नहीं पहुंचाती। बहुत सी बीमारियां बैक्टीरिया द्वारा फैलती...

  • क्या आप सही प्रकार की वसा का सेवन कर रहे हैं

    यू एस इंस्टीट्यूट के डॉ वाल्टर सी विलेट के अनुसार कम वसायुक्त भोजन ही हृदय रोगों की संभावना को कम नहीं करता। उनके अनुसार सही प्रकार की वसा का सेवन करना चाहिए। भोजन पकाते समय जिस तेल का प्रयोग किया जाना चाहिए है वह सनफ्लावर, साफ्लावर, मूंगफली या सरसों का तेल। इसके अतिरिक्त साबुत अनाज का सेवन हृदय...

  • स्वस्थ रहने के लिए करें डांस

    मानव जीवन में डांस को अब मात्र मनोरंजन का साधन ही नहीं समझा जाता बल्कि चिकित्सा के क्षेत्र में अत्याधुनिक औजार के तौर पर भी इस्तेमाल किया जाने लगा है। तभी तो लाइफ स्टाइल की बीमारियों से परेशान लोगों ने डांस थेरेपी के जरिए स्वस्थ रहने का अद्भुत हल निकाल लिया है। यदि आपकी व्यस्त जीवनशैली में से...

  • अगर जाना पड़े एक्स-रे कराने तो

    विज्ञान की अद्भुत देन एक्स-रे से सभी वाकिफ हैं जो शरीर के अन्दर होने वाले रोगों की सही जानकारी दे कर डॉक्टर और बीमार दोनों के लिए सहायक होता है। अब तो रंगीन और डिजिटल एक्स-रे की सुविधा होने से आंतरिक अंगों की स्थिति को और स्पष्ट रूप से जाना जा सकता है। एक्स-रे की सहायता से शरीर के किसी अंग की हुई...

Share it
Share it
Share it
Top