रिश्वत खाकर मुल्जिम को थाने से भगाने का आरोप...बुढाना के करबला रोड निवासी नफीस को गोली मारने के आरोपी इंतजार को थाने से भगाया

रिश्वत खाकर मुल्जिम को थाने से भगाने का आरोप...बुढाना के करबला रोड निवासी नफीस को गोली मारने के आरोपी इंतजार को थाने से भगाया

मुजफ्फरनगर। युवक को गोली मारने के आरोपी को रिश्वत लेकर थाने से भगाने का संगीन आरोप बुढाना पुलिस पर पीडि़त पक्ष ने लगाया है। इस मामले में एक नेता को भी आरोपी बनाया गया है। दबंगों द्वारा गोली मारकर घायल किये गये पीडि़त के परिजनों ने आज बुढ़ाना पुलिस पर सही तरह से मामले की विवेचना न करने और आरोपियों की गिरफ्तारी न होने पर रोष व्यक्त करते हुए एडीजी जोन मेरठ से कार्यवाही की गुहार लगाई है। पीडि़तों ने एसएसपी से भी आरोपियों के विरूद्ध कार्यवाही करने की मांग की है। मीडिया सैंटर में पत्रकारों से वार्ता करते हुए कस्बा बुढाना के मौहल्ला करबला रोड निवासी पप्पू पुत्र हबीब ने पत्रकारों को बताया कि विगत सात सितम्बर को उसके भाई नफीस को दबंगों ने रात के समय घर में घुसकर गोली मार दी थी, जिसमें वह गंभीररूप से घायल हो गया था। इस सम्बंध् में घटना में शामिल इंतजार पुत्र अशरफ, अकबर पुत्रा मंगलू, शाहिद पुत्र शादी व शाहरूख पुत्र मेहरदीन निवासी करबला रोड के विरूद्ध बुढाना कोतवाली में तहरीर देकर मुकदमा दर्ज कराया गया था। पुलिस ने रिपोर्ट दर्ज होने के बाद मुल्जिम इंतजार पुत्र अशरफ को गिरफ्तार कर लिया था। पप्पू ने आरोप लगाया कि बुढाना के एक नेता की शह पर कोतवाली के एसआई जयवीर सिंह ने मुल्जिमान से सांठगांठ कर मोटी रकम वसूलने और 9 सितम्बर को इंतजार को थाने से भगा दिया। पीडि़त पप्पू ने बताया कि इस घटना में शामिल शाहरूख पुत्रा मेहरदीन यूपी पुलिस में सिपाही है और मुरादाबाद के थाना सिविल लाईन में तैनात है, जो फिलहाल छुट्टी पर घर आया हुआ है। पीडि़त ने बताया कि इस घटना में शामिल चारों आरोपी अभी पुलिस गिरफ्त से बाहर है, जिनकी तत्काल गिरफ्तारी होना बेहद जरूरी है। उन्हें डर है कि कहीं आरोपी उन पर झूठा मुकदमा न दर्ज करा दे और परिवार को जानमाल का नुकसान न पहुंचा दें, इसलिए प्रार्थी के परिवार की जानमाल की सुरक्षा होना बेहद जरूरी है। पीडि़त ने बताया कि वह पिछले दिनों एसएसपी से भी मिले थे और एसएसपी को बताया गया था कि बुढाना पुलिस आरोपियों के विरूद्ध कार्यवाही नहीं कर रही है, जिस पर एसएसपी ने कार्यवाही का आश्वासन दिया था, लेकिन अभी तक भी चारो मुल्जिमान की गिरफ्तारी न होने से पुलिस की कार्यप्रणाली भी सवालों के घेरे में है। पीडि़त पक्ष ने मेरठ जोन के एडीजी को भी एक शिकायती पत्र देकर पूरे मामले की विवेचना निष्पक्ष तरीके से करने के साथ-साथ आरोपियों की तत्काल गिरफ्रतारी की मांग की है।

Share it
Top