Read latest updates about "अजब गज़ब" - Page 2

  • 12 फुट से अधिक की जटाओं वाले नागा बने आकर्षण का केन्द्र

    कुम्भनगरी (प्रयागराज)। कुम्भनगरी नगरी सोमवार को दूसरा शाही स्नान शुरू हुआ। भोर पहर अखाड़ों ने स्नान शुरू कर दिया जो लगातार जारी है। हर अखाड़े में हजारों की संख्या में नागा साधु और संत स्नान करने संगम तट पर पहुंचे। सभी अखाड़ों की सोभा बड़ा रहे नागा अलग-अलग रंग रूप में नजर आये।12 फुट से ज्यादा लम्बी...

  • जब मुर्गी को बुलवाया गया थाने

    शिवपुरी। मध्यप्रदेश के शिवपुरी जिला मुख्यालय के फिजिकल कॉलेज पुलिस थाने में आज उस समय रोचक नजारा देखने को मिला, जब एक मुर्गी को पकड़ कर लाया गया।मुर्गी पर आरोप था कि उसने अपने पड़ोस में रहने वाली एक मासूम बच्ची को काट कर घायल किया है। पुलिस सूत्रों के अनुसार फिजिकल कॉलेज थाना अंतर्गत यहां...

  • रहस्य कथा: अबूझ है हत्यारे 'बरमूडा त्रिकोण' का रहस्य

    प्यूर्तो रिको और बरमूडा के बीच का त्रिकोणीय क्षेत्र 'बरमूडा त्रिकोण' के नाम से जाना जाता है। यह स्थान पश्चिमी एटलांटिक महासागर (फ्लोरिडा राज्य, अमेरिका) के नजदीक है। बरमूडा त्रिकोण की 'मौत का त्रिकोण, 'एटलांटिक का कब्रिस्तान' और 'शैतानी त्रिकोण' इत्यादि कई नामों से भी जाना जाता है। यह खूनी क्षेत्र...

  • पचास लीटर दूध की रबड़ी प्रतिदिन बांट रहे रबड़ी बाबा

    कभी चार धाम की यात्रा पर निकले थे अब प्रयागराज कुंभ में बांट रहे रबड़ी कुंभ नगरी (प्रयागराज)। अठारह वर्ष की आयु में संसार सागर की मोह माया से थक हारकर मन में चारधाम यात्रा का संकल्प लेकर उत्तराखण्ड से निकला एक युवक 47 वर्षीय नागा साधू बनकर आज प्रयागराज कुम्भ में लोगों को रबड़ी खिलाकर उन्हें खुशियां...

  • जोनबिल मेला जहां आज भी बिना पैसे का होता कारोबार

    विधि विधान के साथ तीन दिवसीय मेला शुरू, देश- विदेश से मेला देखने आते हैं सैलानी मोरीगांव (असम)। प्राचीन समय में व्यवसाय के लिए चलन में रहे विनिमय प्रथा पर आधारित ऐतिहासिक जोनबिल मेला गुरुवार को पूरे विधि विधान के साथ मोरीगांव जिले के जागीरोड स्थित प्रसिद्ध जूनबिल क्षेत्र में आरंभ हो गया। मेले में...

  • पैरों में चिपक जाते थे पिल्ले इसीलिए नर्सों ने पीट-पीटकर मार डाला

    कोलकाता। कोलकाता के एनआरएस अस्पताल में कुत्ते के 16 बच्चों की पीट-पीटकर हत्या मामले में गिरफ्तार की गई दोनों नर्सों ने चौंकाने वाली वजह का खुलासा किया है। पुलिस पूछताछ में पता चला है कि जब वे मेडिकल कॉलेज से वापस लौटती थीं तब ये कुत्ते उनके पैरों में चिपक जाते थे इसके अलावा कथित तौर पर नर्सों...

  • आकाशीय बिजली में है बड़ा दम

    आकाशीय बिजली का हम सबको ही कभी न कभी सामना करना पड़ता है। जब बिजली चमकती या कड़कती है तो कई बार हम कांप उठते हैं। डर तो लगता ही है। हर साल हजारों लोग आकाशीय बिजली के कारण मर जाते हैं। बिजली मनुष्यों को ही नहीं मारती। वह मछली, पशु-पक्षी या वनस्पति आदि किसी को भी अपनी ज़द में ले सकती है। पचासों वर्ष...

  • चिंतन: भय का भूत और भगवान

    भय जब किन्हीं भी कारणों से अपने पांव मन-मस्तिष्क पर पसारने-बढ़ाने लगता है तो इंसान को मानसिक रूप से बिलकुल पंगु कर देता है जिसके परिणामस्वरूप अपने आप से ही डरा हुआ इंसान भयावह हो उठता है-जिससे निजात पाने के लिए उसे पूर्ण रूपेण मानसिक शांति की जरूरत होती है और 'यही जरूरत' जन्म देती है 'भगवान' को। ...

  • 70 साल के चाय वाले ने बीवी संग घूमे 23 देश, आनंद महिन्द्रा ने कहा ये हैं देश के सबसे अमीर

    कोच्चि। केरल के कोच्चि में रहने वाले विजयन और उनकी बीवी मोहना अब तक दुनिया के 23 मुल्क घूम चुके हैं। खास बात ये है कि 70 साल के विजयन और उनकी बीवी कोच्चि में एक छोटी सी दुकान चलाते हैं लेकिन उनकी माली हालत उनके सपनों के रास्ते में नहीं आई। उन्होंने चाय की दुकान चलाते हुए ही थोड़ा-थोड़ा पैसा जमा कर...

  • न डोली, न कार, बुलेट चलाकर मंडप में पहुंची ये दुल्हन

    महाराष्ट्र के पुणे में औध तहसील में केडगांव है। इस गांव उस वक्त लोगों के भीड़ लग गई जब शादी के जोड़े में एक नई नवेली दुल्हन बुलट चलाती हुई निकली। उसके पीछे फूलों से सजी एक कार थी, जिसमें दूल्हा और उसके परिजन सवार थे। अधिकतर भारतीय दुल्हनें पहले पालकी में आया करती थीं। समय बदलने के साथ पालकी की जगह...

  • भगवान के बगीचे के नाम से जाना जाता है ये अनोखा गांव, जानिए खासियत

    आज हम आपको एक ऐसे गांव के बारे में बताएंगे जिसे जानकर आप चौंक जाएंगे। दरअसल, जिस गांव की हम बात कर रहे है वो मावल्यान्नॉंग गांव है जो भारत के मेघालय में मौजूद है। इस गांव की काफी विशेष बातें है जिसकी वजह से ये अपनी प्रसिद्धि हासिल कर चुका है।आप ये जानकर चौंक जाएंगे कि इस गांव की साक्षरता दर...

  • रहस्य रोमांच: भारत में ममी का बसेरा बौद्ध लामा का शरीर

    जहां भी 'ममी' की चर्चा होती है तो सहसा मिश्र देश के पिरामिडों में रखें राजा और रानियों के निर्जीव शरीर 'ममी' की याद आ जाती है। संसार के प्राचीन आचार्यों में पिरामिड तथा ममी का जिक्र होता रहा है। यही आश्चर्य की बात है कि हजारों साल पहले मिश्र के निवासियों ने मृत शरीर को सुरक्षित रखने की जानकारी...

Share it
Top