पंजाब की राजनीति में बुरे फंसे सिद्धू

पंजाब की राजनीति में बुरे फंसे सिद्धू

navjot singh sidhu
पंजाब विधानसभा चुनाव की तस्वीर लगातार उलझती जा रही हैं। राज्यसभा की सदस्यता से इस्तीफा देने वाले भाजपा के नवजोत सिंह सिद्धू अभी तक असमंजस की स्थिति में हैं। उन्हें रास्ता नहीं सूझ रहा है वह नई पार्टी बनाए या किसी राजनीतिक दल के साथ मिलकर समझौता कर अपने आप को पंजाब की राजनीति में महत्वपूर्ण भूमिका में लायें। सिद्धू की टीम में शामिल पर्गट सिंह ने अलग राह पकड़ ली है। वह आम आदमी पार्टी के संपर्क में हैं। वहीं आम आदमी पार्टी से निष्काषित सांसद गांधी अपनी एक अलग पार्टी बनाने के लिए आम आदमी पार्टी से नाराज लोगों के संपर्क में हैं। वह अपनी खिचड़ी अलग पका रहे हैं इसी तरह आम आदमी पार्टी से नाराज सुच्चा सिंह छोटेपुर अलग अपनी ताल ठोक रहे हैं।
काटजू को पाकिस्तान भेज देना चाहिए
वह पंजाब में एक नई पार्टी बनाने जा रहे हैं कुल मिलाकर पंजाब में सत्ता की होड़ में सभी नेता अपनी अपनी पार्टी बनाकर सत्ता में भागीदारी के प्रयास में जुट गए हैं। भारतीय जनता पार्टी के नेता भी इस आग में घी डालने का काम कर रहे हैं। जितना ज्यादा विघटन होगा उतना ही लाभ भारतीय जनता पार्टी को राष्ट्रीय पार्टी के रूप में मिलेगा। आम आदमी पार्टी को कमजोर करने के लिए कांग्रेस और भाजपा आप से जुड़े नेताओ की महत्वकांक्षाओं को हवा दे रहे हैं।

Share it
Share it
Share it
Top