मूंग की नयी किस्म आईपीएम205-7 जारी

मूंग की नयी किस्म आईपीएम205-7 जारी

नयी दिल्ली। भारतीय कृषि वैज्ञानिकों ने मूंग की एक ऐसी किस्म का विकास कर लिया है जो सिर्फ 52 दिनों में तैयार हो जाती है और इसकी बुआई से मिट्टी की गुणवत्ता में सुधार होता है ।
भारतीय कृषि अनुसंधान परिषद के महानिदेशक त्रिलोचन महापात्रा ने आज यहां राष्ट्रीय कृषि सम्मेलन , रबी अभियान 2016..17 को सम्बोधित करते हुये कहा कि मूंग की आईपीएम 205-7 किस्म की पैदावार 52 से 55 दिनों के अंदर हो जाती है ।
मूंग की इस किस्म काे हाल ही में जारी किया गया है और किसान इसकी बुआई गेहूं की फसल लेने के बाद कर सकते हैं ।
डॉ महापात्रा ने कहा कि पिछले तीन साल के दौरान फसलों की एक सौ नयी किस्मों के बीज जारी किये गये हैं और निकट भविष्य में 50 और नयी किस्मों को जारी किया जायेगा ।
एक ग्लास पानी रोक सकता है किडनी की बीमारी से होने वाली मौत
उन्होंने कहा कि फसलों के उत्पादन लक्ष्य को प्राप्त करने के लिये उन्नत बीज जरूरी हैं । जैव उर्वरकों के उपयोग को भी उन्होंने महत्वपूर्ण बताया ।
ज्योतिषी की सलाह…?
 डॉ महापात्रा ने कहा कि कुछ राज्य कृषि से जुड़ी समस्याओं की जानकारी देते हैं लेकिन कुछ राज्य ऐसा
नहीं करते हैं। नयी-नयी समस्याओं की जानकारी से अनुसंधान को बल मिलेगा और इसका लाभ अंतत: किसानों को ही होगा ।
आप अगर देश,प्रदेश के साथ ही  अपने आस-पास की ताज़ा खबर से जुड़े रहना चाहते है तो अभी रॉयल बुलेटिन का मोबाइल एप डाउन लोड करे ….गूगल के प्ले-स्टोर में जाइये और टाइप कीजिये royal bulletin और रॉयल बुलेटिन की एप डाउनलोड कर लीजिये या आप इस लिंक पर क्लिक करके भी एप  डाउनलोड कर सकते है …..
http://goo.gl/ObsXfO

Share it
Top