बाल कहानी: स्कूल जाते समय नहीं रोएगा आपका बच्चा

बाल कहानी: स्कूल जाते समय नहीं रोएगा आपका बच्चा

प्रारंभ में जब बच्चों को प्री स्कूल में दाखिला करवाना होता है तो माता-पिता इस तनाव में रहते हैं कि बच्चा वहां कैसे जाएगा, कैसे 3-4 घंटे बिताएगा। बच्चा भी स्कूल के नाम से रोने लगता है क्योंकि बच्चे को घर पर रहने की आदत बनी होती है। मां, दादी-दादा उसे घर पर दिखते हैं वो आजादी से इधर-उधर खेलता है, आता-जाता है, मर्जी से खाता-पीता है। इस रूटीन से एक अलग रूटीन में बच्चे को लाना माता-पिता के लिए चुनौती होती है। कुछ आसान टिप्स हैं जिन्हें आजमा कंर आप अपना तनाव कम कर सकते हैं और बच्चे के मन से स्कूल का डर भी कम कर सकते हैं।

रॉयल बुलेटिन की नई एप प्ले स्टोर पर आ गयी है।royal bulletin news लिखे और नई app डाउनलोड करें

बच्चे को पार्क में अन्य बच्चों के साथ खेलने दें:-

आजकल गली में या आंगन में खेलने का समय तो नहीं पर पार्क में सांय काल में बच्चे को साथ ले जाएं और वहां अन्य बच्चों को खेलता हुआ दिखाएं, झूले झूलवायें, उसकी उम्र के अन्य बच्चों के साथ हैलो करना सिखाएं, खेलने दें। नजर रखें ताकि बच्चा अन्य बच्चों के साथ खेलना पसंद करे। प्री स्कूल भेजने से पहले बच्चों के उठने-सोने, खाने-पीने के समय को थोड़ा अनुशासित करें। गली में आते जाते बच्चों को दिखाएं। हो सके तो बात करवाएं ताकि बच्चा खुल सके। थोड़ा थोड़ा स्कूल का जिक्र करते रहें। वहां की पोजिटिव बातें बताएं। स्कूल में खूब खिलौने और मित्र होते हैं। बहुत मजा आता है उनके साथ खेलने में जिससे बच्चे में थोड़ा आत्मविश्वास बने और उसके मन में मस्ती के विचार पैदा हों।

रॉयल बुलेटिन की नई एप प्ले स्टोर पर आ गयी है।royal bulletin news लिखे और नई app डाउनलोड करें

बच्चों को दें पसंदीदा टिफिन:-

जब बच्चा प्री स्कूल जाने लगे, उसे उसकी पसंद का टिफिन दें। ध्यान दें टिफिन में पौष्टिकता से भरपूर सामग्री हो। एक रात्रि पूर्व उससे जानकारी लें कि कल क्या लेकर जाना है ताकि स्कूल में अपना खाना खुशी से खत्म कर सके और स्कूल जाना बोझिल महसूस न हो।

शुरू में बच्चे को स्कूल लेने और छोडऩे जाएं:-

शुरूआत में बच्चे को कुछ समय तक स्वयं छोडऩे जाएं और थोड़ा समय रूक कर फिर घर वापिस आएं ताकि बच्चा सुरक्षित महसूस करे। बच्चे को अन्य बच्चों से मिलवाएं। आया-आंटी और मैडम से मिलवाएं ताकि बच्चे को लगे कि बड़े लोग उसका ध्यान रखेंगे और उनसे उसकी नजदीकी भी बढ़ेगी। उसका मन स्कूल में अन्य बच्चों के साथ लग सके, इसका पूरा प्रयास करें। छुट्टी होने पर दस मिनट पहले ही पहुंच जाएं। बच्चा आपको गेट पर देखकर उत्साहित महसूस करेगा। घर आकर उससे बातों बातों में स्कूल, मैडम और अन्य बच्चों के बारे में पूछें ताकि वह आपको कुछ बता सके।

- नीतू गुप्ता

रॉयल बुलेटिन की नई एप प्ले स्टोर पर आ गयी है।royal bulletin news लिखे और नई app डाउनलोड करें

Share it
Top