15 वर्षीय शार्दुल विहान ने डबल ट्रैप में दिलाया रजत

15 वर्षीय शार्दुल विहान ने डबल ट्रैप में दिलाया रजत

जकार्ता। भारत के युवा निशानेबाज़ाें के 18वें एशियाई खेलों में शानदार प्रदर्शन के सिलसिले को आगे बढ़ाते हुये 15 वर्षीय शार्दुल विहान ने पुरूष डबल ट्रैप स्पर्धा में गुरूवार को रजत पदक जीत लिया। विहान ने फाइनल में कुल 73 का स्कोर किया और दूसरे स्थान पर रहकर रजत जीता। वह इस स्पर्धा में मामूली अंतर से स्वर्ण पदक से चूक गये। कोरिया के हाइनवू शिन ने 74 के स्कोर के साथ स्वर्ण पदक पर कब्जा किया जबकि कतर के हमाद अली अल मारी ने 53 के स्कोर के साथ कांस्य जीता। भारत का निशानेबाजी में यह कुल आठवां पदक है।

भारत अब तक निशानेबाजी में दो स्वर्ण, चार रजत और दो कांस्य पदक जीत चुका है। भारत ने 2014 के पिछले एशियाई खेलों में एक स्वर्ण, एक रजत और सात कांस्य सहित नौ पदक जीते थे। भारत अब इस संख्या को पीछे छोड़ने के करीब पहुंच गया है। भारत ने पुरूष ट्रैप स्पर्धा में जहां रजत पदक जीता वहीं महिला ट्रैप स्पर्धा में श्रेयसी सिंह छठे और वर्षा वर्मन सातवें स्थान पर रहीं। श्रेयसी का 121 और वर्षा का 120 का स्कोर रहा। चीन ने इस स्पर्धा के स्वर्ण और रजत पदक अपने नाम किये जबकि कजाखिस्तान को कांस्य पदक मिला।

युवा निशानेबाज़ इससे पहले क्वालिफिकेशन में 141 का स्कोर कर 10 खिलाड़ियों की फील्ड में शीर्ष पर रहे थे और फाइनल के लिये क्वालीफाई किया था। इसी स्पर्धा में अन्य भारतीय और पूर्व नंबर एक डबल ट्रैप निशानेबाज़ अंकुर मित्तल 134 के स्कोर के साथ नौवें नंबर पर रहकर फाइनल में जगह नहीं बना सके थे। गत वर्ष मात्र 14 साल की उम्र में विहान ने राष्ट्रीय शॉटगन चैंपियनशिप में चार स्वर्ण पदक जीते थे। दो बार के पूर्व एशियन चैंपियन अनवर सुल्तान से कोचिंग ले रहे विहान ने गत वर्ष मॉस्को में जूनियर विश्व चैंपियनशिप में छठा स्थान हासिल किया था।

Share it
Share it
Share it
Top