स्वतंत्रता दिवस पर विराट जीत का तोहफा

स्वतंत्रता दिवस पर विराट जीत का तोहफा



पोर्ट ऑफ स्पेन। कप्तान विराट कोहली के नाबाद 114 रन की शतकीय पारी तथा श्रेयय अय्यर के 65 रनों की अर्धशतकीय पारी की बदौलत भारत ने बुधवार को वर्षा बाधित तीसरे और अंतिम वनडे मुकाबले में मेजबान वेस्टइंडीज को डकवर्थ लुइस नियम के तहत छह विकेट से हराकर 2-0 से सीरीज अपने नाम कर देशवासियों को स्वतंत्रता दिवस पर जीत का तहफा दिया है।

विराट ने 99 गेंदों में 14 चौकों के सहारे 144 रन बनाए और अपने एकदिवसीय अंतर्राष्ट्रीय करियर का 43वां शतक जड़ दिया। विराट का इस सीरीज में यह लगातार दूसरा शतक है। अय्यर ने 41 गेंदों में 65 रन की पारी में तीन चौके और पांच छक्के लगाए। विराट को उनकी शतकीय पारी के लिए मैन ऑफ द मैच और मैन ऑफ द सीरीज का पुरस्कार दिया गया। विराट ने इस वनडे सीरीज के दो मैचों में 234 रन बनाए हैं।

इससे पहले टॉस जीतकर पहले बल्लेबाजी करने उतरी विंडीज की पारी के बीच वर्षा आ गयी जिसके बाद अंपायरों ने मैच को 35-35 ओवर का कराने का फैसला लिया। वेस्टइंडीज ने सलामी बल्लेबाज क्रिस गेल की 41 गेंदों में आठ चौकों और पांच छक्कों की विस्फोटक पारी और उनकी एविन लुइस के साथ पहले विकेट के लिए 115 रनों की शतकीय साझेदारी की बदौलत 35 ओवर में सात विकेट पर 240 रन बनाए। बारिश के कारण भारत को 255 रनों का संशोधित स्कोर का लक्ष्य दिया गया।

लुइस ने 29 गेंदों में पांच चौके और तीन छक्के की मदद से 43 रन बनाए। भारत की ओर से मध्य तेज गेंदबाज खलील अहमद ने 68 रन पर तीन विकेट लिए जबकि तेज गेंदबाज मोहम्मद शमी ने 50 रन पर दो विकेट लिए। स्पिनर युजवेंद्र चहल और रवींद्र जडेजा को एक-एक विकेट मिला।

लक्ष्य का पीछा करने उतरी भारतीय टीम ने कप्तान विराट के नाबाद शतक और मध्यक्रम के बल्लेबाज अय्यर के 65 रनों की शानदार अर्धशतकीय पारी की मदद से 32.3 ओवर में चार विकेट खोकर 256 रन बना लिए और मैच तथा सीरीज जीत ली। विंडीज की ओर से फेबियन एलेन ने 40 रन पर दो विकेट और केमार रोच ने 53 रन देकर एक विकेट लिया।

इससे पहले वेस्टइंडीज के सलामी बल्लेबाज क्रिस गेल और एविन लुइस ने टीम को मजबूत शुरुआत दिलाई और दोनों बल्लेबाजों ने ताबड़तोड़ बल्लेबाजी करते हुए पहले 10 ओवर में ही 100 का आंकड़ा पार कर दिया। दोनों के बीच पहले विकेट के लिए 115 रनों की बड़ी साझेदारी हुई।

दोनों के बीच इस साझेदारी को देखते हुए एक समय ऐसा लगा रहा था कि स्कोर 300 के पार जाएगा। गेल और लुइस भारतीय तेज गेंदबाजों पर लगातार भारी पड़ रहे थे। वेस्टइंडीज का स्कोर पहले 10 ओवर में बिना विकेट खोए 114 रन था। भुवनेश्वर ने मैच के पहले ओवर में हालांकि कोई रन नहीं दिया लेकिन गेल ने शमी की ओवर में 12 रन मार दिए। इसके बाद दोनों ही बल्लेबाज भारतीय गेंदबाजों पर भारी पड़े और अपनी रन गति को तेज कर दिया। गेल ने अपने अर्धशतक को मात्र 30 गेंदों में छह चौकों और चार छक्कों की मदद से पूरा किया।

पहले 10 ओवर में ज्यादा रन लुटते देख कप्तान ने गेंद स्पिनर युजवेंद्र चहल को दी। चहल ने उम्मीद के अनुरुप ही प्रदर्शन करते हुए लुइस को शिखर धवन के हाथों कैच कराकर उनकी पारी का अंत कर दिया और इस साझेदारी को तोड़ दिया। लुइस के आउट होने के बाद गेल भी ज्यादा देर क्रीज पर नहीं टिक सके और खलील की गेंद पर कप्तान विराट कोहली को कैच दे बैठे।

विंडीज की पारी के 22वें ओवर में बारिश आ गयी और मैच को वहीं रोक देना पड़ा। जिस वक्त बारिश के कारण मैच रोका गया उस समय मेजबान टीम का स्कोर 22 ओवर में दो विकेट पर 158 रन था। बारिश के बाद अंपायरों ने मैच के ओवरों में कटौती करना का निर्णय लेते हुए 35-35 ओवर कराने का फैसला किया।

सलामी बल्लेबाजों के आउट होने के बाद मध्यक्रम में शिमरॉन हेत्मायेर और शाई होप ने विंडीज की पारी को आगे बढाया। दोनों के बीच तीसरे विकेट के लिए 50 रन की साझेदारी हुई। दोनों के बीच साझेदारी और बड़ी होती कि उससे पहले ही शमी ने हेत्मायेर को बोल्ड कर पवेलियन भेज दिया। हेत्मायेर के आउट होते ही होप भी जल्द ही आउट हो गए। उन्हें रवींद्र जडेजा ने आउट किया। हेत्मायेर ने 25 रन और होप ने 24 रन की अपनी पारी में एक-एक चौका लगाया। विंडीज की पारी में निकोलस पूरन ने 30, कप्तान जैसन होल्डर ने 14 और कार्लोस ब्रैथवेट ने 16 रन बनाए। फेबियन एलेन छह रन बनाकर नाबाद रहे।

लक्ष्य का पीछा करने उतरी भारतीय टीम के सलामी बल्लेबाज शिखर धवन और रोहित शर्मा ने टीम को धुआंधार शुराआत दिलाई और 2.4 ओवर में 25 रन बना डाले। लेकिन रन चुराने की कोशिश में रोहित रन आउट हो गए और एक बार फिर भारतीय सलामी जोड़ी टीम को मजबूत शुरुआत दिलाने में नाकाम रही। रोहित ने छह गेंदों में दो चौके की मदद से 10 रन बनाए।

पहला झटका लगने के बाद भारतीय पारी को कप्तान विराट और धवन ने आगे बढ़ाया। दोनों ने सधी हुई पारी खेलते हुए दूसरे विकेट के लिए 66 रनों की साझेदारी कर ली। लेकिन धवन फेबियन एलेन की गेंद पर कीमो पॉल को कैच दे बैठे। धवन का विकेट 91 के स्कोर पर गिरा। धवन ने 36 रनों की अपनी पारी में पांच चौके लगाए।

धवन के बाद युवा विकेटकीपर बल्लेबाज रिषभ पंत उतरे लेकिन वह एक बार फिर नाकाम साबित हुए और एलेन की पहली ही गेंद पर पॉल को कैच दे बैठे और बिना खाता खोले पवेलियन चल दिए। पंत के आउट होने तक भारत का स्कोर तीन विकेट पर 92 रन था और भारतीय पारी लड़खड़ा गयी थी।

इसके बाद विराट ने एक बार फिर जिम्मेदारी से बल्लेबाजी करते हुए श्रेयस अय्यर के साथ टीम की पारी को आगे बढ़ाया। दोनों ने चौथे विकेट के लिए 120 रनों की मजबूत साझेदारी कर टीम का स्कोर 212 तक पहुंचा दिया। हालांकि अय्यर मैच खत्म करने से पहले ही केमार रोच का शिकार हो गए। अय्यर ने 65 रन बनाए।

अय्यर के आउट होने के बावजूद विराट अपनी पारी को आगे बढ़ाते रहे और लगातार दूसरे मैच में शतक ठोक दिया। विराट ने नाबाद रहते हुए 32.3 ओवर में ही टीम को जीत दिला दी। विराट 114 और केदार जाधव 19 रन बनाकर नाबाद रहे।

भारत और विंडीज के बीच पहला वनडे मुकाबला बारिश की भेंट चढ़ गया था जबकि भारत ने मेजबान टीम को दूसरे वनडे में डकवर्थ लुइस नियम के तहत 59 रनों से पराजित किया था। भारत और वेस्टइंडीज के बीच दो मैचों की टेस्ट सीरीज 22 अगस्त से शुरु होगी।

Share it
Top