रैंकिंग नहीं, खिताब जीतने पर है नजर: श्रीकांत

रैंकिंग नहीं, खिताब जीतने पर है नजर: श्रीकांत

नयी दिल्ली। भारत के शीर्ष पुरुष बैडमिंटन खिलाड़ी किदांबी श्रीकांत ने कहा है कि वह अब चोट से पूरी तरह से उबर चुके हैं और उनकी नजर रैंकिंग से कहीं ज्यादा खिताब जीतने पर लगी हुई है।
विश्व रैंकिंग में चौथे नंबर के श्रीकांत नागपुर में राष्ट्रीय टूर्नामेंट के दौरान जांघ में चोट लगने के कारण दो टूर्नामेंटों में हिस्सा नहीं ले पाए थे। लेकिन अब वह पूरी तरह फिट हैं और 13 दिसंबर से शुरु होने वाली दुबई ओपन सुपर सीरीज में खिताब जीतने के लिए पूरी तरह से तैयार है।
इस साल चार सुपर सीरीज खिताब जीत चुके श्रीकांत ने संवाददाताओं से कहा, मैं नंबर एक के बारे में नहीं सोच रहा हूं। रैंकिंग से कहीं ज्यादा अहम मेरे लिए खिताब जीतना है। मैं केवल अच्छे प्रदर्शन करने के बारे में सोचता हूं ना कि रैंङ्क्षकग के बारे में। यदि मैं अच्छा प्रदर्शन करता हूं और खिताब जितता हूं तो मैं नंबर वन बन सकता हूं। 24 साल के श्रीकांत ने इस वर्ष चार सुपर सीरीज खिताब अपने नाम किये हैं। उन्होंने कहा पिछले छह-आठ महीने मेरे लिए काफी शानदार रहे हैं। वर्ष का यह आखिरी टूर्नामेंट होगा जिसमें मैं अच्छा प्रदर्शन करना चाहता हूं। इस वर्ष मेरा प्रदर्शन काफी शानदार रहा है। लेकिन आने वाले समय में भी मैं ऐसा ही प्रदर्शन करना चाहता हूं।
श्रीकांत ने कहा, कि राष्ट्रीय चैंपियनशिप के दौरान मैं चोटिल हो गया था जिस कारण चाइना और हांगकांग ओपन में हिस्सा नहीं ले पाया था। लेकिन अब मैं ठीक हूं और चोट से पूरी तरह से उबर चुका हूं। मैंने लगभग एक महीने तक बैडमिंटन नहीं खेला और इस दौरान रिहेबिलिटेशन शुरु किया जिससे अब मैं पूरी तरह से फिट हूं। भारतीय खिलाड़ी ने इस वर्ष इंडोनेशिया, आस्ट्रेलिया, डेनमार्क और फ्रांस ओपन सुपर सीरीज खिताब जीते हैं। उन्होंने अगले साल के अपने कार्यक्रम को लेकर कहा कि राष्ट्रमंडल खेलों, एशियाई खेलों और विश्व चैंपियनशिप से पहले वह ब्रेक लेना चाहते हैं। उन्होंने कहा, कि अगले साल राष्ट्रमंडल खेलों, एशियाई खेलों और विश्व चैंपियनशिप सहित करीब 50 टूर्नामेंट होने वाले हैं और बड़े टूर्नामेंटों के लिए मैं खुद को फिट रखना चाहता हूं। 100 प्रतिशत फिट रहना मेरी प्राथमिकता है इसलिए मैं ब्रेक चाहता हूं।

Share it
Share it
Share it
Top