सिंधू ने रचा इतिहास, वर्ल्ड टूर फाइनल्स में जीता खिताब

सिंधू ने रचा इतिहास, वर्ल्ड टूर फाइनल्स में जीता खिताब


ग्वांग्झू। ओलंपिक और विश्व चैंपियनशिप की रजत विजेता भारत की पीवी सिंधू ने फाइनल में हारने की प्रेतबाधा से आखिर मुक्ति पाते हुए साल के अंतिम बैडमिंटन टूर्नामेंट वर्ल्ड टूर फाइनल्स में रविवार को खिताब जीतकर नया इतिहास रच दिया। सिंधू यह खिताब जीतने वाली पहली भारतीय बन गयी हैं।

भारत की स्टार सिंधू ने फाइनल मुकाबले में दूसरी वरीयता प्राप्त जापान की निजोमी ओकुहारा को एक घंटे दो मिनट में 21-19, 21-17 से हराकर खिताब जीता। सिंधू का 2018 में यह पहला खिताब है और इस तरह उन्होंने साल का समापन खिताब के साथ कर लिया।

विश्व रैंकिंग में छठे नंबर की सिंधू ने पांचवीं रैंकिंग की ओकुहारा के खिलाफ अपना रिकॉर्ड अब 7-6 का लिया है। सिंधू ने इस जीत के साथ लगातार कई फाइनल हारने और चोकर्स के ठप्पे से मुक्ति पा ली है। सिंधू ने अपने खिताबी सफर के दौरान विश्व की नंबर एक खिलाड़ी ताइपे की ताई जू यिंग को पराजित किया था।

रॉयल बुलेटिन की नई एप प्ले स्टोर पर आ गयी है।royal bulletin news लिखे और नई app डाउनलोड करें

सिंधू को 2016 रियो ओलंपिक, 2017 विश्व चैंपियनशिप, 2017 वर्ल्ड टूर फाइनल्स, 2018 राष्ट्रमंडल खेल, 2018 विश्व चैंपियनशिप और 2018 जकार्ता एशियाई खेलों के फाइनल में हार मिली थी और उन्हें रजत पदक से संतोष करना पड़ा था। लेकिन अब सिंधू ने इतिहास रच सभी भारतीयों को गौरवान्वित कर दिया।


Share it
Top