चंदगीराम गोल्ड कप में पहली बार होगी 5-10 वर्ष की कुश्ती

चंदगीराम गोल्ड कप में पहली बार होगी 5-10 वर्ष की कुश्ती

नयी दिल्ली। सातवीं अखिल भारतीय चंदगीराम गोल्ड कप कुश्ती प्रतियोगिता का आयोजन यहां 17-18 मार्च को चंदगीराम अखाड़े में किया जा रहा है जिसमें पांच से 10 वर्ष के बच्चों की कुश्ती सबसे बड़ा आकर्षण होगी।
चंदगीराम स्पोट््र्स वेलफेयर चैरिटेबल ट्रस्ट के मैनेजिंग ट्रस्टी और भारत केसरी पहलवान रहे जगदीश कालीरमन ने गुरूवार को संवाददाता सम्मेलन में बताया कि इस दंगल में देश भर से 800 से ज्यादा पुरुष और महिला पहलवान हिस्सा लेंगे और पुरुष फ्रीस्टाइल, महिला फ्रीस्टाइल तथा पुरुष ग्रीको रोमन तीनों वर्गों में कुश्तियां होंगी।
दंगल कमेटी के अध्यक्ष कालीरमन ने बताया कि इस बार पांच से सात वर्ष और आठ से 10 वर्ष के बच्चों की कुश्तियां सबसे बड़ा आकर्षण होंगी। उन्होंने कहा, पूरे भारत में संभवत: यह पहली बार है जब इस उम्र के बच्चों की कुश्तियां कराई जा रही हैं। इस प्रतियोगिता के माध्यम से हम बच्चों को मैट पर अंतर्राष्ट्रीय नियमों के तहत खेलने का अनुभव देना चाहते हैं क्योंकि यही बच्चे आगे चलकर देश के लिए अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर पदक हासिल करेंगे। इस उम्र के बच्चों की सुरक्षा को लेकर पूछे जाने पर कालीरमन ने कहा, कि अमेरिका में ग्रेड दो से ही कुश्ती शुरू हो जाती है। हम बच्चों की सुरक्षा का पूरा ख्याल रखेंगे। डॉक्टर और ट्रेनर बाकायदा मौजूद रहेंगे और कुश्ती के फंसने की स्थिति में कुश्ती छुड़वा दी जायेगी। मैं अपने बेटे अंशुमन कालीरमन और बेटी चिराक्षी कालीरमन को भी इस उम्र की कुश्ती में उतार रहा हूं ताकि मैं दूसरों के सामने खुद भी एक उदाहरण रख सकूं कि बच्चों को खेल खासकर कुश्ती में उतारने में कोई बुराई नहीं है। चंदगीराम स्पोट्र्स वेलफेयर चैरिटेबल ट्रस्ट के अध्यक्ष राजेंद्र प्रताप सिंह ने बताया कि सभी वजन वर्गों में विजेता पहलवानों को नगद पुरस्कार दिए जाएंगे और बच्चों को दो से तीन हजार रुपये के पुरस्कार दिए जाएंगे।पहलवानों के वजन 17 मार्च को सुबह लिए जाएंगे और कुश्तियां विश्व संस्था यूनाइटेड वल्र्ड रेसलिंग के नियमों के आधार पर कराई जाएंगी। महिला और पुरुष सीनियर वर्ग में 10-10 हजार रुपये का पुरस्कार दिया जाएगा। प्रतियोगिता निदेशक और अर्जुन अवार्डी कृपाशंकर बिश्नोई ने बताया कि इसमें कई राज्यों के पहलवानों के अलावा नामी अखाड़ों के पहलवान हिस्सा लेंगे और ऐसे ही दंगल से देश को भविष्य के स्टार मिलेंगे। इस अवसर पर प्रो कुश्ती लीग की टीम मुंबई महारथी के मालिक मूलचंद सहरावत भी मौजूद थे।

Share it
Top