दिल्ली हॉफ मैराथन में हिस्सा लेंगे रिकॉर्ड 40633 प्रतिभागी

दिल्ली हॉफ मैराथन में हिस्सा लेंगे रिकॉर्ड 40633 प्रतिभागी

नयी दिल्ली। राजधानी में 20 अक्टूबर को होने वाली दुनिया की प्रतिष्ठित एयरटेल दिल्ली हॉफ मैराथन के 15वें संस्करण में इस बार रिकॉर्ड 40633 प्रतिभागी हिस्सा लेंगे।

दिल्ली हॉफ मैराथन के प्रमोटर प्रोकैम इंटरनेशनल ने बुधवार को यहां एक संवाददाता सम्मेलन में यह जानकारी दी। आईएएएफ की इस गोल्ड लेवल रेस में 275000 डॉलर की पुरस्कार राशि दी जाएगी।

आयोजकों ने बताया कि इस बार हॉफ मैराथन में प्रतिभागियों की संख्या में 11 फीसदी का इजाफा हुआ है और हॉफ मैराथन में कुल 13115 धावक हिस्सा लेंगे। ग्रेट दिल्ली रन में 16962 प्रतियोगियों की भागीदारी रहेगी। 10 किलोमीटर दौड़ में 77 फीसदी का इजाफा हुआ है और इस वर्ग में 8553 प्रतिभागी हिस्सा लेंगे। सीनियर सिटिजन दौड़ में 1430 प्रतिभागी और चैंपियनस विद डिसएबिलिटि में 573 प्रतियोगी उतरेंगे। इस बार की मैराथन दिल्ली हॉफ मैराथन के इतिहास के सभी रिकॉर्ड तोड़ देगी।

दिल्ली हॉफ मैराथन में सुरेश कुमार पटेल भारतीय चुनौती का दारोमदार संभालेंगे। सुरेश 2011 और 2014 में भारतीय विजेता रह चुके हैं। वह बेंगलुरु में 10 किलोमीटर दौड़ के चार बार के विजेता हैं। सुरेश को रेस में एशियाई एथलेटिक्स चैंपियनशिप के कांस्य पदक विजेता मुरली कुमार दवित और काठमांडू में हॉफ मैराथन जीतने वाले अनीश थापा मगर से चुनौती मिलेगी।

भारत की महिला चुनौती का दारोमदार 2017 की कोर्स रिकॉर्डधारी एल सूरिया और 3000 मीटर स्टीपलचेज की राष्ट्रीय रिकॉर्डधारी सुधा ङ्क्षसह के कंधों पर रहेगा। सूरिया ने 2017 में 70.31 मिनट का कोर्स रिकॉर्ड बनाया था। सुधा ने 2012 के संस्करण में भारतीय विजेता होने का गौरव हासिल किया था। 2018 संस्करण की भारतीय उपविजेता पारुल चौधरी भी महिला वर्ग में प्रबल दावेदार रहेंगी। 2011 विश्व चैंपियनशिप की स्वर्ण विजेता और ओलंपिक में तीन बार की पदक विजेता अमेरिका की कार्मेलिटा जेटर को इस बार दिल्ली हॉफ मैराथन का ब्रांड एंबेसेडर बनाया गया है।

Share it
Top