फेडरर 14वीं बार क्वार्टरफाइनल में, जोकोविच बाहर

फेडरर 14वीं बार क्वार्टरफाइनल में, जोकोविच बाहर

मेलबोर्न। गत चैंपियन स्विटजरलैंड के रोजर फेडरर ने अपने खिताब बचाओ अभियान को आगे बढ़ाते हुये 14वीं बार आस्ट्रेलियन ओपन टेनिस टूर्नामेंट के पुरूष एकल क्वार्टरफाइनल में प्रवेश कर लिया लेकिन पुरूष वर्ग के सबसे बड़े उलटफेर में छह बार के चैंपियन सर्बिया के नोवाक जोकोविच चौथे दौर में हारकर बाहर हो गये। 14वीं वरीयता प्राप्त जोकोविच को दक्षिण कोरिया के हियोन चुंग ने तीन घंटे 21 मिनट तक चले मुकाबले में 7-6, 7-5, 7-6 से हरा दिया। 58वीं रैंङ्क्षकग के कोरियाई खिलाड़ी ने पहले सेट का टाईब्रेक 7-5 और तीसरे सेट का टाईब्रेक 7-3 से जीता। चुंग का क्वार्टरफाइनल में अमेरिका के टेनिस सैंडग्रीन से मुकाबला होगा। 12 बार के ग्रैंड स्लेम चैंपियन जोकोविच ने मैच के दौरान अपनी कोहनी की चोट का इलाज कराया जिसके चलते वह छह महीने तक कोर्ट से बाहर रहे थे। उन्हें लगातार दूसरे साल क्वार्टरफाइनल से पहले बाहर होना पड़ा है। पिछले वर्ष वह डेनिस इस्तोमिन से दूसरे दौर में हार गये थे। दूसरी वरीय फेडरर ने यहां रॉड लेवर एरेना में चले पुरूष एकल के चौथे दौर के मुकाबले में मार्टन फुक्सोविच को लगातार सेटों में 6-4, 7-6, 6-2 से मात दी। उन्होंने यह मुकाबला दो घंटे एक मिनट में अपने नाम किया। स्विस खिलाड़ी ने 80वीं रैंक हंगरी के मार्टन को दिन के पहले मुकाबले में आसानी से हराया। फेडरर ने मैच जीतने के बाद कहा, मुझे लगता है कि मार्टन ने अच्छा खेला। लेकिन मुश्किल परिस्थितियों में आपको जल्द ही नयी सोच के साथ खेलना पड़ता है। अब मैंने जल्द मुकाबला खत्म कर दिया है तो मैं अपनी पत्नी मिर्का को रात को डिनर पर भी ले जा सकता हूं।
अपने 20वें ग्रैंड स्लेम की तलाश में लगे फेडरर का रवैया भी मजाकिया दिखा जो दूसरे सेट के दौरान फोरहैंड से चूकने के बाद एक समय हंसते हुये भी दिखाई दिये लेकिन बाद में उन्होंने मार्टन के खिलाफ लंबी रैलियां खेलीं। उन्होंने 25 साल के खिलाड़ी के खिलाफ एक भी ब्रेक अंक का सामना नहीं किया और 34 विनर्स झोंके। साथ ही उन्होंने 10 में से तीन बार विपक्षी की सर्विस ब्रेक की जबकि हंगरियन खिलाड़ी ने छह डबल फाल्ट किये और एक भी ब्रेक अंक भुना नहीं सके। फेडरर ने तीसरा सेट केवल 31 मिनट में ही समाप्त कर दिया और दो घंटे एक मिनट में मुकाबला जीत लिया। उन्होंने इसी के साथ करियर के कुल 52वें ग्रैंड स्लेम क्वार्टरफाइनल और मेलबोर्न में 14वें अंतिम आठ मैच में जगह बनाई जहां उनके सामने 19वीं सीड चेक गणराज्य के टॉमस बेर्दिच की चुनौती होगी। पुरूष एकल के चौथे दौर के एक अन्य मुकाबले में चेक खिलाड़ी ने 25वीं वरीय इटली के फाबियो फोगनिनी को लगातार सेटों में 6-1, 6-4,6-4 से पराजित कर दो घंटे आठ मिनट में जीत पक्की कर ली। वर्ष 2010 के बाद आस्ट्रेलियन ओपन में अपनी सबसे निचली वरीयता के साथ उतरे बेर्दिच ने मैच में 11 में से छह ब्रेक अंकों को भुनाया और 37 विनर्स भी लगाये।
वर्ष 2017 में अधिकतर सत्र चोट से प्रभावित रहे बेर्दिच के सामने हालांकि अगली चुनौती आसान नहीं होने वाली है। उन्हें अब फेडरर से भिडऩा है जो उन्हें गत वर्ष तीसरे राउंड में हरा चुके हैं। हालांकि चेक खिलाड़ी भी अच्छी फार्म में दिखाई दे रहे हैं जिन्होंने पहले सेट में ही पांच एस और 13 विनर्स लगा आधे घंटे में ही यह सेट निपटा दिया।
महिला एकल के मुकाबलों में विश्व की नंबर एक खिलाड़ी सिमोना हालेप ने जापान की नाओमी ओसाका को लगातार सेटों में 6-3 6-2 से हराकर क्वार्टरफाइनल में जगह पक्की कर ली। 72वीं रैंक की ओसाका के खिलाफ हालेप ने गलतियों का फायदा उठाया और दूसरे सेट में 5-2 से बढ़त के बाद उन्होंने फोरहैंड रिटर्न के साथ अपनी अंतिम आठ में तीसरी बार जीत सुनिश्चित की।
एक अन्य अहम मुकाबले में पूर्व चैंपियन जर्मनी की एंजेलिक केर्बर की भी क्वार्टरफाइनल में वापसी हो गयी। उन्होंने 88वीं रैंङ्क्षकग की सीह सू वेई को 4-6 7-5 6-2 से हराया। 21वीं वरीय जर्मन खिलाड़ी को ताइवानी खिलाड़ी की ओर से काफी चुनौती मिली लेकिन 2016 की चैंपियन ने पहले सेट में पिछडऩे के बाद दो घंटे आठ मिनट में जाकर अपना टिकट कटा लिया। केर्बर के सामने अब यूएस ओपन फाइनलिस्ट मैडिसन की की चुनौती होगी।

Share it
Top