रिकर्व पुरुष टीम 14 वर्षों में पहली बार विश्व चैंपियनशिप के फाइनल में

रिकर्व पुरुष टीम 14 वर्षों में पहली बार विश्व चैंपियनशिप के फाइनल में

हर्टोगेनबॉश। भारतीय रिकर्व पुरुष तीरंदाजों तरुणदीप राय, अतानु दास और प्रवीण जाधव ने अगले साल होने वाले टोक्यो ओलम्पिक खेलों के लिए देश को तीन ओलम्पिक कोटा स्थान दिलाने के बाद अपना शानदार प्रदर्शन बरकरार रखते हुए 14 वर्षों के बाद विश्व चैंपियशिप के फाइनल में जगह बना ली है।

भारतीय तिकड़ी ने यहां चल रही विश्व चैंपियनशिप में बुधवार को कनाडा को 5-3 से हराकर क्वार्टर फाइनल में जगह बनाते हुए टोक्यो ओलंपिक के लिए कोटा हासिल किया था। भारत ने गुरूवार को क्वार्टफाइनल में चीनी ताइपे को 6-0 से हराकर सेमीफाइनल में जगह बनायी और फिर सेमीफाइनल में मेजबान हॉलैंड को शूटऑफ में 5-4 से पराजित कर स्वर्ण पदक मुकाबले में स्थान बना लिया।

भारतीय टीम इससे पहले 2005 में मैड्रिड में हुई विश्व चैंपियनशिप में फाइनल तक पहुंची थी। उस टीम के सदस्यों में तरुणदीप राय, जयंत तालुकदार, रॉबिन हंसदा और गौतम ङ्क्षसह शामिल थे तथा इस टीम ने रजत पदक हासिल किया था। तरुणदीप 14 साल के बाद विश्व चैंपियनशिप के फाइनल में पहुंची भारतीय टीम में भी शामिल हैं।

वर्ष 2012 के लंदन ओलंपिक के बाद यह पहला मौका है जब भारतीय पुरुष टीम ने ओलंपिक कोटा हासिल किया है। भारतीय पुरुष टीम पिछले रियो ओलंपिक 2016 के लिए क्वालीफाई नहीं कर पायी थी। क्वार्टर फाइनल में जगह बनाने वाली टीमों को तीन खिलाड़यिों का ओलम्पिक कोटा मिलेगा।

भारत के अलावा ऑस्ट्रेलिया, चीन, चीनी ताइपे, ब्रिटेन, कजाकिस्तान, कोरिया और हॉलैंड ने भी क्वार्टरफाइनल में स्थान बनाने के साथ रिकर्व वर्ग में ओलम्पिक कोटा हासिल कर लिया था।

भारत के फाइनल में पहुंचने के बाद अतानु ने कहा, ''हमने यहां तक पहुंचने के लिए काफी कड़ी मेहनत की। हम विश्व चैंपियनशिप से 10 दिन पहले हॉलैंड पहुंच गए थे। हमने ब्रेदा में अभ्यास किया जिससे हमें जीतने में मदद मिली। हम यहां की हवा और परिस्थितियों को अच्छी तरह समझ गए हैं। यही वजह है कि हमने अपना सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन किया है।

भारतीय टीम ने पहले राउंड में नार्वे को और फिर छठी सीड कनाडा को हराकर क्वार्टरफाइनल में जगह बनायी। भारत ने क्वार्टफाइनल में तीसरी सीड चीनी ताइपे को लुढ़काया।

सेमीफाइनल में भारत का मुकाबला हॉलैंड से हुआ और मामला शूटऑफ में चला गया। भारत ने शूटऑफ में 29 का स्कोर किया जबकि हॉलैंड ने 28 का स्कोर किया। भारत का स्वर्ण पदक के लिए चीन से मुकाबला होगा जिसने अन्य सेमीफाइनल में टॉप सीड कोरिया को 6-2 से हराया। कोरिया की महिला टीम एकल वर्ग के स्वर्ण पदक मुकाबले में उतरेगी जहां उसका सामना चीनी ताइपे से होगा जबकि चीन और ब्रिटेन कांस्य पदक के लिए खेलेंगे।

भारतीय टीम ने क्वार्टरफाइनल में चीनी ताइपे के खिलाफ पहला सेट 55-52 से, दूसरा सेट 55-48 से और तीसरा सेट 55-54 से जीतकर मुकाबला 6-0 से समाप्त कर दिया। सेमीफाइनल में हॉलैंड के खिलाफ भारत पहला सेट 54-56 से हारा लेकिन दूसरा सेट 52-49 से जीत गया। तीसरे सेट में हॉलैंड ने 57-56 से जीत हासिल की जबकि चौथा सेट भारत ने 57-55 से जीतकर मुकाबले को शूटऑफ में पहुंचा दिया।

शूटऑफ में भारत ने 29 और हॉलैंड ने 28 का स्कोर किया। भारत ने 10,10 और नौ के स्कोर किए जबकि हॉलैंड ने 9,9 और टेन के स्कोर किए। भारत ने यह मुकाबला जीतकर फाइनल में स्थान बना लिया जहां रविवार को स्वर्ण पदक के लिए उसके सामने चीन की चुनौती होगी जबकि कांस्य पदक के लिए कोरिया और हॉलैंड की टीमें आमने-सामने होंगी।

रिकर्व महिला टीम को दूसरे दौर में बेलारुस से 2-6 से हार का सामना करना पड़ा था जिससे उसकी ओलंपिक कोटा हासिल करने की उम्मीदें टूट गई थी।

भारतीय पुरुष कंपाउंड टीम ने पहले दौर में स्पेन को 235-239 से हराया लेकिन दूसरे दौर में उसे 234-238 से हार का सामना करना पड़ा। कंपाउंड महिला टीम ने सीधे दूसरे दौर में खेलते हुए फ्रांस को 236-226 से हराया। क्वार्टफाइनल में महिला टीम ने हॉलैंड को 219-213 से हराया लेकिन सेमीफाइनल में अमेरिका से 226-227 से हारने के बाद भारत का कांस्य पदक के लिए शनिवार को तुर्की से मुकाबला होगा।

Share it
Top