विश्वकप में टीम नहीं, लेकिन अमेरिकी फैन्स सबसे ज्यादा

विश्वकप में टीम नहीं, लेकिन अमेरिकी फैन्स सबसे ज्यादा

बर्लिन। अमेरिका की फुटबाल टीम भले ही फीफा विश्वकप-2018 के लिये क्वालीफाई नहीं कर पायी हो लेकिन गुरूवार से रूस में शुरू होने जा रहे टूर्नामेंट में अमेरिका के फुटबाल प्रशंसकों की भारी संख्या स्टेडियमों में अन्य टीमों की हौंसला अफजाई करते हुये जरूरी दिखेगी। यह भी दिलचस्प है कि अमेरिका और रूस दो चिर प्रतिद्वंद्वी विकसित देश हैं लेकिन रूस में हो रहे विश्वकप के लिये अमेरिका से जाने वाले फुटबाल प्रेमियों की संख्या अन्य देशों से कहीं अधिक है, यह स्थिति तब है जब अमेरिका की राष्ट्रीय फुटबाल टीम इस बार टूर्नामेंट के लिये क्वालीफाई ही नहीं कर सकी है।
टिकटों की बुकिंग डाटा के अनुसार विश्वकप के दौरान अमेरिका से रूस जाने के लिये 66 फीसदी लोगों ने टिकट बुक करायी है। हालांकि अमेरिका की तरह ही क्वालीफाई नहीं कर सके इटली के प्रशंसकों की रूस के लिये बुङ्क्षकग में 16 फीसदी की कमी आयी है। यह इतिहास में पहला मौका है जब इटली विश्वकप के लिये क्वालीफाई नहीं कर सका है। यात्रा तकनीक से जुड़ी कंपनी ट्रैवलपोर्ट ने बताया कि 14 जून से 15 जुलाई तक होने वाले विश्वकप के लिये अमेरिका से रूस की ओवरऑल फ्लाइट बुङ्क्षकग कुल एक लाख 36 हजार 503 बढ़ गयी है। विशलेषकों के अनुसार रूस में इस बार टूर्नामेंट के दौरान जाने वाले प्रशंसकों में अमेरिकी नागरिकों का प्रतिशत सबसे अधिक रह सकता है क्योंकि अमेरिका में लातिन अमेरिकी लोगों की बड़ी जनसंख्या रहती है। अमेरिका के वर्ष 1994 में विश्वकप की मेजबानी करने के बाद से देश में फुटबाल को लेकर रूचि काफी बढ़ी है।

Share it
Share it
Share it
Top