चार आदिवासी छात्रों ने फतह किया माउंट एवरेस्ट

चार आदिवासी छात्रों ने फतह किया माउंट एवरेस्ट

नागपुर। महाराष्ट्र में चंद्रपुर जिले के चार आदिवासी छात्रों ने विश्व की सबसे ऊंचे पर्वत शिखर माउंट एवरेस्ट पर बुधवार को चढ़ाई की।
एवरेस्ट फतह करने वाले पर्वतारोहियों में उमाकांत मदावी (19), परमेश आले (19), मनीषा धुर्वे (18) और कविदास कतमोडे (18) शामिल हैं। कविदास जीवती आश्रम स्कूल से हैं और पर्वतारोही देवदास आश्रम स्कूल में पढ़ते हैं। सूत्रों ने बताया कि ये चारों पर्वतारोही आज रात आधार शिविर लौट आएंगे।
चंद्रपुर के जिलाधिकारी कार्यालय के सूत्रों ने यूनीवार्ता को बताया कि ये पर्वतारोही भारत के दो आदिवासी आवासीय विद्यालयों के पहले साहसी छात्र हैं। इससे पहले इन छात्रों ने माउंट एवरेस्ट का कभी नाम तक नहीं सुना था। उनका उत्साह तब हिलोरे लेने लगा जब पर्वतारोहण के ख्याल लिये कुछ अधिकारियों ने इन आदिवासी छात्रों से संपर्क किया। चंद्रपुर के कई सरकारी आदिवासी विद्यालयों के दस आदिवासी छात्रों की सूची बनाकर महाराष्ट्र आदिवासी विभाग को भेजी गयी। इस साहसिक अभियान सफल बनाने के लिए चंद्रपुर जिलाधिकारी कार्यालय ने'मिशन शौर्यÓनाम दिया था।
उन्होंने बताया कि कविदास और उमाकांत ने एवरेस्ट की चोटी पर 0325 बजे पर कदम रखे जबकि परमेश और मनीषा ने क्रमश: 0425 बजे और 0435 बजे एवरेस्ट फतह किया।

Share it
Top