पंत का शतक बेकार, हिमाचल से हारकर फंसी दिल्ली

पंत का शतक बेकार, हिमाचल से हारकर फंसी दिल्ली

नादौन। रिषभ पंत की 135 रन की विस्फोटक शतकीय पारी के बावजूद दिल्ली को हिमाचल प्रदेश के खिलाफ गुरुवार को विजय हजारे ट्राफी ग्रुप बी मैच में दो रन की नजदीकी हार का सामना करना पड़ा जिससे दिल्ली की क्वार्टरफाइनल में जाने की उम्मीदों को गहरा झटका लगा है। दिल्ली ने अपने ग्रुप में लगातार चार मैच जीते थे। लेकिन उसके बाद उसने केरल और हिमाचल से लगातार दो मैच गंवा दिए जिससे एक झटके में दिल्ली की मुश्किलें बढ़ गई है। हिमाचल ने कप्तान प्रशांत चोपड़ा की 150 रन की शतकीय पारी के दम पर 50 ओवर में पांच विकेट पर 304 रन का मजबूत स्कोर बनाया। लक्ष्य का पीछा करते हुए युवा विकेटकीपर बल्लेबाज पंत ने मात्र 93 गेंदों पर 16 चौके और पांच छक्के उड़ाते हुए 135 रन ठोके। लेकिन उनके आठवें बल्लेबाज के रूप में 289 के स्कोर पर रन आउट होते ही दिल्ली की उम्मीदों को गहरा झटका लगा और फिर दिल्ली 49.4 ओवर में 302 रन पर सिमट गई और उसे दो रन से हार का सामना करना पड़ा। दिल्ली यदि आज जीत जाती तो वह सीधे क्वार्टरफाइनल में पहुंच जाती। लेकिन इस हार के बाद अब उसके लिए अगर-मगर की स्थिति बन गई है जबकि हिमाचल ने इस जीत से अपनी उम्मीदें जगा ली है। दिल्ली फिलहाल 16 अंकों के साथ ग्रुप में शीर्ष पर है। लेकिन तीन टीमें केरल, महाराष्ट्र और हिमाचल 14-14 अंकों के साथ अगले तीन स्थानों पर हैं। इन तीनों टीमों के पास भी क्वार्टरफाइनल में जाने का मौका बना हुआ है।
शनिवार को हिमाचल और बंगाल का मुकाबला धर्मशाला में होना है जबकि केरल और महाराष्ट्र की टीमें बिलासपुर में आमने सामने होंगी। दिल्ली को अब दुआ करनी होगी कि बंगाल शनिवार के मैच में हिमाचल को हरा दे। बंगाल को जीतने की स्थिति में कोई फायदा तो नहीं होगा लेकिन वह दिल्ली को क्वार्टरफाइनल में पहुंचा देगी। यदि हिमाचल जीता तो वह 18 अंकों के साथ क्वार्टरफाइनल में चला जाएगा और केरल तथा महाराष्ट्र के मुकाबले की विजेता टीम भी क्वार्टरफाइनल में पहुंच जाएगी। इस सूरत में दिल्ली को बाहर हो जाना पड़ेगा। दिल्ली अब सिर्फ यही प्रार्थना करे कि बंगाल अपना मैच जीत जाए। पंत जब तक क्रीज पर थे उन्होंने दिल्ली की उम्मीदों को कायम रखा था। हितेन दलाल 16, ध्रुव शौरी 15, उन्मुक्त चंद 42 और नीतीश राणा 52 रन बनाकर आउट हुए। राणा और पंत ने चौथे विकेट के लिए 115 रन की साझेदारी की। लेकिन इसके बाद दिल्ली के विकेट गिरते चले गए और 42वें ओवर में उसका स्कोर सात विकेट पर 249 रन हो गया। मिङ्क्षलद कुमार एक, ललित यादव दो और पवन नेगी आठ रन बनाकर आउट हुए। पंत ने प्रदीप सांगवान (17) के साथ टीम के स्कोर को 289 तक पहुंचाया। लेकिन मयंक डागर ने पंत को रन आउट कर दिल्ली की उम्मीदों को तोड़ दिया। दिल्ली 302 रन तक ही पहुंच सकी। रिषि धवन ने 38 रन पर तीन विकेट और पंकज जायसवाल ने 55 रन पर दो विकेट लिए। इससे पहले हिमाचल की पारी में कप्तान प्रशांत चोपड़ा ने 149 गेंदों पर 22 चौके और दो छक्के लगााते हुए 150 रन बनाए और अपनी टीम को 304 तक पहुंचाया। अमित कुमार ने 52 रन बनाए।

Share it
Share it
Share it
Top