शिविर चुनौतियों से निपटने में मददगार: मनप्रीत

शिविर चुनौतियों से निपटने में मददगार: मनप्रीत

बेंगलुरु। भारतीय पुरुष हॉकी टीम के कप्तान मनप्रीत सिंह ने कहा है कि राष्ट्रीय अभ्यास शिविर आगामी चुनौतियों से निपटने में मददगार साबित होगी।
भारतीय टीम के 33 खिलाड़ी सोमवार को यहां भारतीय खेल प्राधिकरण (साई) के अभ्यास शिविर से जुड़ गए। भारत ने पिछले साल ओड़िशा हॉकी वर्ल्ड लीग फाइनल्स में कांस्य पदक जीता था। टीम को इस वर्ष एशियाई खेलों और गोल्ड कोस्ट राष्ट्रमंडल खेलों में हिस्सा लेना है। भारतीय टीम पिछले महीने न्यूजीलैंड में हुए चार राष्ट्रों के इंविटेशनल टूर्नामेंट में दूसरे नंबर पर रही थी।
मनप्रीत ने सोमवार को कहा," हमने पर्याप्त आराम कर लिया है, मानसिक और शारीरिक रूप से भी। अब हमें इस वर्ष आने वाली चुनौतियों के लिए खुद को पूरी तरह से तैयार रखना होगा और इसकी शुरुआत सुल्तान अजलान शाह कप से होगी।
टीम के लिए गत वर्ष अच्छा रहा था। लेकिन इस साल हम एशिया खेलों में अपना खिताब बरकरार रखना चाहते हैं जिससे हम टोक्यो ओलंपिक में सीधा प्रवेश कर सकते हैं।
" भारतीय टीम ने चार राष्ट्रों के इंविटेशनल टूर्नामेंट के आठ मैचों में कुल 17 गोल खाए थे। मिडफिल्डर मनप्रीत का मानना है कि आगे आने वाले बड़े टूर्नामेंटों के लिहाज से टीम को अपनी रक्षापंक्ति मजबूत करनी होगी। वर्ष 2011 में अंतरराष्ट्रीय हॉकी में पदार्पण करने वाले मनप्रीत अब तक 200 से अधिक मैचों में टीम का नेतृत्व कर चुके हैं। कप्तान ने कहा," इस शिविर में डिफेंस को मजबूत करना हमारा लक्ष्य है और हम अपनी रणनीतियों के अनुसार ही इस पर काम कर रहे हैं। आप व्यक्तिगत रूप से नहीं बल्कि एक टीम के रूप में अपनी रक्षापंक्ति को अधिक मजबूत कर सकते हैं।

Share it
Top