प्रो मुक्केबाजी में नये स्टार बनने उतरेंगे अखिल, जितेंद्र

प्रो मुक्केबाजी में नये स्टार बनने उतरेंगे अखिल, जितेंद्र

नई दिल्ली। ओलंपिक पदक विजेता विजेन्दर सिंह के बाद अब अखिल कुमार और जितेंद्र कुमार पेशेवर मुक्केबाजी में धाक जमाने के लिये अपनी किस्मत आजमाएंगे। दोनों भारतीय मुक्केबाज पांच अगस्त को 'बैटलग्राउंड एशिया' में प्रो मुक्केबाजी में पदार्पण करेंगे जिसके लिये उनके विपक्षी खिलाडियों की भी घोषणा कर दी गयी है। बीजिंग ओलंपिक के क्वार्टरफाइनलिस्ट अखिल और जितेंद्र तथा विजेंद्र नौ वर्षां में पहली बार प्रो मुक्केबाजी सर्किट में एक साथ दिखाई देंगे। राष्ट्रमंडल खेल 2006 के स्वर्ण पदक विजेता तथा बीजिंग ओलंपिक में क्वार्टरफाइनल तक पहुंचे अखिल पांच अगस्त को मुंबई में प्रो मुक्केबाजी में पदार्पण करेंगे। अखिल एमेच्योर मुक्केबाजी में करीब 250 बाउट में भारत का प्रतिनिधित्व कर चुके हैं। हरियाणा के 36 वर्षीय अखिल अपनी पहली प्रो बाउट में आस्ट्रेलिया के टाई गिलक्रिस्ट का चार राउंड की 63 किग्रा जूनियर वेल्टरवेट मुकाबले में सामना करेंगे। गिलक्रिस्ट ने 2010 में प्रो मुक्केबाजी में पदार्पण किया था और तब से 13 बाउट में हिस्सा लिया है जिसमें छह में जीत दर्ज की है। आस्ट्रेलियाई मुक्केबाज ने 68 राउंड खेले हैं और प्रो मुक्केबाजी में उनका प्रदर्शन काफी अच्छा रहा है।
गिलक्रिस्ट से अपनी पहली बाउट को लेकर अखिल ने कहा हां मेरे विपक्षी को मुझसे अधिक अनुभव है लेकिन इससे मुझे कोई फर्क नहीं पड़ता है। यह मेरा पदार्पण है और मैं अपनी ट्रेनिंग पर ध्यान दे रहा हूं ताकि अच्छा प्रदर्शन कर सकूं। पिछले छह महीने से मैं अपनी फिटनेस पर भी कड़ी मेहनत कर रहा हूं। साथ ही अपनी तकनीक पर भी काम कर रहा हूं। प्रो मुक्केबाजी में कदम रखने जा रहे हरियाणा के अन्य मुक्केबाज जितेंद्र थाईलैंड के थानेट लिखितकाम्पोर्न के खिलाफ पहली बाउट लड़ेंगे। भिवानी के 28 वर्षीय मुक्केबाज 2006 राष्ट्रमंडल खेलों में कांस्य पदक जीत चुके हैं। उन्होंने 2009 में विश्वकप में कांस्य पदक भी जीता था तथा 2007 में एशियाई चैंपियनशिप में वह कांस्य जीत चुके हैं। जितेंद्र के विपक्षी थानेट भी पेशेवर मुक्केबाजी में नये हैं और इस वर्ष उन्होंने एक ही बाउट में हिस्सा लिया है जिसमें उन्हें हार झेलनी पड़ी थी। जितेंद्र 61 किग्रा की लाइटवेट कैटेगरी में चार राउंड की बाउट में थानेट का मुकाबला करेंगे। उन्होंने कहा मेरे लिये प्रो मुक्केबाजी में यह नयी शुरूआत है और मैं लगातार अपनी फिटनेस सुधारने की कोशिश कर रहा हूं।

Share it
Top