सपोर्ट कोचिंग स्टाफ मामले पर समिति से मिलेंगे शास्त्री

सपोर्ट कोचिंग स्टाफ मामले पर समिति से मिलेंगे शास्त्री

नयी दिल्ली। भारतीय क्रिकेट टीम के नवनियुक्त मुख्य कोच रवि शास्त्री सपोर्ट कोचिंग स्टाफ मामले के हल के लिये भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (बीसीसीआई) द्वारा गठित चार सदस्यीय समिति से मंगलवार को मुलाकात करेंगे। बीसीसीआई ने हाल ही में टीम इंडिया के पूर्व निदेशक रवि शास्त्री को भारतीय क्रिकेट टीम का प्रमुख कोच और पूर्व तेज गेंदबाज जहीर खान को गेंदबाजी कोच तथा पूर्व बल्लेबाज राहुल द्रविड़ को विदेशी दौरों के लिए बल्लेबाजी सलाहकार नियुक्त किया था। लेकिन पिछले कुछ दिनों से मीडिया में ऐसी खबरें आ रही है कि शास्त्री ने सपोर्ट स्टाफ में द्रविड़ और जहीर की नियुक्तियों पर असंतोष व्यक्त किया है क्योंकि वह खुद ही अपना सपोर्ट स्टाफ चुनना चाहते हैं। मीडिया खबरों में कहा गया है कि शास्त्री रविवार को अमेरिका से भारत पहुंचेंगे और वह मंगलवार को समिति के सदस्यों से मुलाकात करेंगे। शास्त्री की समिति के साथ होने वाली बैठक के दौरान कई सवालों के जवाब मिलने की संभावना है। सबसे पहला सवाल तो यही है कि क्या जहीर अपनी भूमिका निभाने को तैयार है। इसके अलावा क्या शास्त्री सिर्फ जरुरत के हिसाब से जहीर की सेवाएं लेना चाहते हैं। बैठक में इस बात पर भी चर्चा होने की संभावना है कि पहले ही भारत ए और अंडर 19 की टीम कोचिंग का जिम्मा संभाल रहे द्रविड़ बल्लेबाजी सलाहकार के रूप में कितनी सेवाएं दे पाएंगे। ऐसा भी माना जा रहा है कि शास्त्री ने बीसीसीआई को अभी तक यह नहीं बताया है कि वह द्रविड़ और जहीर की सेवा नहीं लेना चाहते हैं।
जहीर और द्रविड़ की नियुक्तियां उस समय अधर में पड़ गई जब प्रशासकों की समिति (सीओए) के अध्यक्ष विनोद राय ने कहा कि द्रविड़ और जहीर के नामों की सपोर्ट स्टाफ में इन पदों पर केवल सिफारिश ही की गयी थी और उनकी नियुक्तियों पर मुहर के लिये सीओए से और मुख्य कोच शास्त्री से सलाह किये जाने की जरूरत है।
लेकिन क्रिकेट सलाहकार समिति (सीएसी) इससे पहले कह चुकी है कि ये नियुक्तियां शास्त्री की सहमति से हुई हैं। ऐसे में सीओए और बीसीसीआई के इस अचानक लिये गये फैसले से काफी विरोधाभास पैदा हो गया है। सीओए ने जिस चार सदस्यीय समिति का गठन किया है उसमें बीसीसीआई के कार्यवाहक अध्यक्ष सीके खन्ना और मुख्य कार्यकारी अधिकारी राहुल जौहरी के अलावा सीओए की सदस्य डायना इडुलजी और बोर्ड के कार्यवाहक सचिव अमिताभ चौधरी शामिल हैं। यह समिति 19 जुलाई को अपनी बैठक में इस पर फैसला करेगी।

Share it
Top