कृष्णा के गोल ने एटीके को हार से बचाया

कृष्णा के गोल ने एटीके को हार से बचाया

कोलकाता। दो बार की विजेता एटीके हीरो इंडियन सुपर लीग (आईएसएल) के छठे सीजन में शनिवार को रोमांच और नाटक से भरे मैच में अपने घर में अजेय क्रम को बरकरार रखने में सफल रही है। मुंबई और एटीके का मैच शनिवार रात 2-2 से बराबरी पर समाप्त रहा।

एटीके अपने घर में अजेय चल रही थी, लेकिन मुंबई सिटी एफसी ने युवा भारतीय क्रीड़ांगन स्टेडियम में खेले गए मैच में केविन एनगोई के गोल के दम पर इंजरी टाइम में 2-1 की बढ़त ले ली और लगा कि इसी के साथ मुंबई ने मैच अपने नाम कर लिया, तभी रॉय कृष्णा ने गोल करते हुए मुंबई को स्तब्ध कर घर में एटीके के अजेय क्रम को बरकरार रखा।

एटीके ने इस मैच से पहले अपने घर में दो मैच खेले थे और दोनों में जीत हासिल की थी। इस मैच से मिले एक अंक के दम पर एटीके ने पहले स्थान पर अपनी स्थिति मजबूत कर ली है। वह छह मैचों में 11 अंक लेकर पहले स्थान पर है। मुंबई छह मैचों से छह अंक लेकर सातवें स्थान पर ही बनी हुई है।

मुंबई के सामने मेजबान टीम के घर के दबदबे को तोडऩे की चुनौती थी और उसने शुरुआत भी अच्छी की थी। पहले 12 मिनट में रोवलिन बोर्जेस ने अपने साथियों के साथ मिलकर तीन हाफ चांसेस बनाए जो अंजाम तक नहीं पहुंच सके। मेजबान टीम भी यह बात जान गई थी। धीरे-धीरे उसने रफ्तार पकड़ी। 19वें मिनट में एटीके के डेविड विलियम्स ने सेंटर से एक मूव बनाया जो मुंबई के गोलकीपर के हाथों से टकरा कर बाहर चला गया। 27वें मिनट में ईदू गार्सिया ने डेविड को दोबारा गोल करने का मौका दिया और इस बार भी डेविड का प्रयास नेट से बाहर ही रहा। तीन मिनट बाद मुंबई के शुभाशीष को खराब खेल के कारण येलो कार्ड मिला।

एटीके धीरे-धीरे पासिंग से अपने खेल को मजबूत कर रही थी और इसी के दम पर वह 38वें मिनट में अच्छे संयोजन के साथ गोल करने में भी सफल रही। गार्सिया ने इस बार लेफ्ट फ्लैंक से माइकल सोसाइराज को पास दिया जो खाली थे। मुंबई के गोलकीपर अमरिंदर ने खतरा भांप लिया। वह गेंद को रोकने आए, लेकिन तब तक गेंद सोसाइराज के पास पहुंच चुकी थी जिन्होंने उसे अपने पैर के इशारे भर से गोल में डाल एटीके को 1-0 से आगे कर दिया।

पहले हाफ की शुरुआत बेशक मुंबई ने दमदार तरीके से की थी, लेकिन मेजबान टीम पहले हाफ का अंत अपने पक्ष में करने में सफल रही। पहले ही एक गोल से पिछड़ रही मुंबई को दूसरे हाफ में तीसरे मिनट बाद ही एक और झटका लग गया। डिएगो कार्लोस चोट के कारण बाहर चले गए। उनके स्थान पर केविन एनगोई मैदान पर आए। मुंबई पर दबाव दिख रहा था जिसे एटीके भुनाने में लगी थी। 52वें मिनट में गार्सिया ने एटीके के लिए एक और प्रयास किया जिसे प्रतीक ने क्लीयर कर मुंबई को राहत दी।

मुंबई के लिए परेशानी बनी एटीके को कुछ देर बाद कार्ल मैक्हग के चोटिल होने से निराश होना पड़ा। उनका स्थान अगुस ने लिया। कार्ल को पैर में चोट 60वें मिनट में लगी और दो मिनट बाद प्रीतक चौधरी ने उसकी परेशानी को और बढ़ा दिया। प्रतीक ने बेहतरीन हैडर से गोल कर मुंबई को बराबरी पर दिया था।

62वें मिनट में मुंबई को कॉर्नर मिला और प्रीतक ने मोहम्मद लार्बी के शॉट को नेट में डाल स्टेडियम में सन्नाटा पसरा दिया। एटीके के प्रशंसक मुंह पर हाथ रखे खड़े थे। 66वें मिनट और 68वें मिनट में क्रमश: मुंबई और एटीके ने बढ़त लेने की कोशिश की जो पूरी नहीं हो सकी। 75वें मिनट में मंबई के मोदू सोगू के पास अभी तक का सबसे अच्छा मौका था। पोस्ट से तकरीबन पांच-छह यार्ड की दूरी पर उनके पास गेंद आई थी जिसे वह ऊपर मार बैठे। दोनों टीमों के खिलाड़ी बेहद आक्रमक थे और इसी कारण मैच में कई बार झड़प भी देखने को मिली। इसी कारण 81वें मिनट में अनस इडाथोडिका को येलो कार्ड भी मिला। वहीं 88वें मिनट में केविन एनगोई को पीला कार्ड थमा दिया। इन्हीं एनगोई ने इंजरी टाइम में गोल कर मुंबई को जीत की दहलीज पर ला खड़ा किया। एनगोई ने यह गोल बीपिन सिंह के पास पर किया। हालांकि कृष्णा ने अंतिम समय पर मौका पा गोल कर दोनों टीमों को अंक बांटने पर मजबूर कर दिया।

Share it
Top