घरेलू परिस्थितियों में टेस्ट मैच खेलना आसान नहीं : विराट

घरेलू परिस्थितियों में टेस्ट मैच खेलना आसान नहीं : विराट

पुणे। भारतीय कप्तान विराट कोहली ने दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ होने वाले दूसरे टेस्ट मैच से पहले बुधवार को कहा कि घरेलू परिस्थितियों में टेस्ट मैच खेलना आसान नहीं होता। यहां हालात बदले हुए होते हैं पिच अलग होती और कई बार आप घरेलू मैदान का फायदा उठाने में नाकाम रह सकते हैं।

कप्तान ने हालांकि कहा कि उनकी टीम अच्छे से जानती है कि विपरीत परिस्थितियों में मैच कैसे जीता जाता है। कप्तान के रुप में विराट का टेस्ट में घरेलू मैदान में रिकॉर्ड बेहतर रहा है लेकिन 2017 में ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ इस मैदान में खेले गए आखिरी टेस्ट मैच में भारत को करारी हार झेलनी पड़ी थी।

विराट ने कहा, ''टीम को अच्छे से पता है कि हमें अपनी परस्थितियों में कैसे खेलना है और हम जानते हैं कि हमें कैसे टेस्ट मैच जीतना है। घरेलू परिस्थितियों में टेस्ट मैच खेलना आसान नहीं होता और कुछ कठिनाइयों का सामना करना पड़ता है।

उन्होंने कहा, ''गेंद स्पिन करती है और हमें यहां इससे पहले भी दिक्कतों का सामना करना पड़ा था लेकिन हम ऐसी टीम है जिसकी जवाबदेही बनती है और हम बहाने नहीं बना सकते। मेरे ख्याल से हमें इस क्षेत्र में थोड़े सुधार की जरुरत है और अपनी गलतियों से सीख लेकर आगे बढऩा एक टीम के रुप में काफी फायदेमंद साबित होता है।

भारतीय कप्तान ने कहा, ''हम किसी भी चीज को हल्के में नहीं ले सकते हैं वो भी उस वक्त जब हमने अपने घरेलू मैदान में खेलने के बावजूद एक ही सत्र में चार से पांच विकेट गंवा दिए थे। हमारी मानसिकता हमारे लिए बहुत महत्वपूर्ण है। टीम की मानसिकता है कि हम सभी मैचों में अपने खेल पर ध्यान केंद्रित करें और इन मुकाबलों को जीतें न कि इस बात पर कि हम किन परिस्थितियों में खेल रहे हैं।

चाइनामैन गेंदबाज कुलदीप यादव को पहले मुकाबले में अंतिम एकादश में शामिल नहीं कर पर विराट ने कहा कि घरेलू परिस्थिति में कुलदीप को बैठाकर रविचंद्रन अश्विन और रवींद्र जडेजा को शामिल करना मैदान की परिस्थिति और टीम संयोजन के अनुकूल था।

विराट ने कहा, ''वह जानते हैं कि भारत में अश्विन और जडेजा ही हमारी पहली पंसद हैं क्योंकि यह दोनों खिलाड़ी गेंदबाजी के साथ-साथ बल्लेबाजी में उपयोगी योगदान दे सकते हैं। हमारे लिए टीम का चयन संयोजन पर होता है और यह निर्णय पूरी तरह संयोजन आधारित था।

उन्होंने कहा, ''हमारे लिए सिर्फ एक ही चीज मायने रखती है और हम चाहते हैं कि टीम ज्यादा से ज्यादा मुकाबले जीते और टीम में ऐसा करने की क्षमता है। हमारी टीम का पिछले तीन वर्षों में हार का प्रतिशत बेहद कम रहा है और यह टीम के लिए बेहद सकारात्मक बात है।

विराट ने कहा, ''हमारी टीम बेहद संतुलित है लेकिन यह सब टीम के संयुक्त प्रदर्शन के बिना संभव नहीं है। टीम का हर खिलाड़ी जीत में अपना योगदान दे रहा है। कोई भी खिलाड़ी निजी तौर पर अपने लिए नहीं सोच रहा है और सभी यह सोचते हैं कि मैं टीम के लिए क्या कर सकता हूं। तेज गेंदबाज अपना योगदान देकर खुश हैं और वह अपनी क्षमता के अनुरुप प्रदर्शन कर रहे हैं और यही बात कुलदीप पर भी लागू होती है।

भारत और दक्षिण अफ्रीका के बीच तीन टेस्ट मैचों की सीरीज का दूसरा मुकाबला गुरुवार से पुणे में खेला जाएगा। भारत ने पहले टेस्ट में दक्षिण अफ्रीका के 203 रन से हराकर सीरीज में 1-0 की बढ़त हासिल कर ली है।

Share it
Top