सुशील क्वालिफिकेशन में हारकर बाहर

सुशील क्वालिफिकेशन में हारकर बाहर

नूर सुल्तान। दो बार के ओलंपिक पदक विजेता पहलवान सुशील कुमार विश्व कुश्ती प्रतियोगिता में 74 किग्रा फ्री स्टाइल ओलंपिक वज़न वर्ग में क्वालिफिकेशन में शुक्रवार को हारकर बाहर हो गये।

भारत को पुरूष फ्री स्टाइल के ओलंपिक वज़न वर्ग में 57 किग्रा में रवि कुमार और 65 किग्रा में बजरंग पुनिया ने गुरूवार को कांस्य पदक मुकाबले में पहुंचकर ओलंपिक कोटा दिलाया था। लेकिन शुक्रवार को ङ्क्षरग में सुशील 74 किग्रा में, किरण को 70 किग्रा में, परवीन को 92 किग्रा में और सुमित को 125 किग्रा में हारकर बाहर हो जाना पड़ा। अब भारत की उम्मीदें जूनियर विश्व चैंपियन दीपक पुनिया से 86 किग्रा में और मौसम खत्री से 97 किग्रा में रहेंगी जो शनिवार को अपने मुकाबलों में उतरेंगे।

भारत को इस टूर्नामेंट में अब तक तीन ओलंपिक कोटा मिले हैं। बजरंग और रवि के अलावा महिला पहलवान विनेश फोगाट ने भारत को ओलंपिक कोटा दिलाया है।

दो बार के ओलंपिक पदक विजेता सुशील से भारत को खासी उम्मीदें थीं लेकिन जकार्ता एशियाई खेलों की तरह उन्होंने यहां भी निराश किया। सुशील को अजरबेजान के खादजीमुराद गादझियेव ने नजदीकी मुकाबले में 11-9 से पराजित कर दिया। सुशील ने मुकाबले की शुरूआत में बढ़त बनाई थी और ब्रेक में वह 9-4 से आगे थे। लेकिन विपक्षी पहलवान ने दूसरे राउंड में तेजी से अटैक कर लगातार अंक हासिल किये। गादजिएव ने अंतिम दो मिनट में छह अंक हासिल किये और अंत में सुशील को मैच से बाहर करते हुये एक अंक लेने के बाद मुकाबला 11-9 से जीत लिया।

इस हार के बाद सुशील की उम्मीदें इसी बात पर टिकी थीं कि गादझियेव इस वजन वर्ग के फाइनल तक पहुंचे। गादझियेव ने अपना राउंड 32 और प्री क्वार्टरफाइनल मुकाबला जीतकर क्वार्टरफाइनल में जगह बनाई जहां उन्हें अमेरिका के पहलवान से हार का सामना करना पड़ा। इसी के साथ सुशील की टूर्नामेंट में चुनौती समाप्त हो गयी।

वर्ष 2010 में मॉस्को में विश्व चैंपियनशिप में स्वर्ण पदक जीतने वाले सुशील नौ साल के अंतराल के बाद विश्व चैंपियनशिप में उतरे थे। सुशील ने गत वर्ष गोल्ड कोस्ट राष्ट्रमंडल खेलों में स्वर्ण पदक जीता था लेकिन जकार्ता एशियाई खेलों में वह शुरूआती दौर में ही बाहर हो गये थे। सुशील ने दिल्ली में ट्रायल जीतकर विश्व चैंपियनशिप में खेलने का हक पाया था लेकिन उन्हें क्वालिफिकेशन में हार कर ही बाहर हो जाना पड़ा।

फ्री स्टाइल 70 किग्रा में करण को उज्बेकिस्तान के इख्तियोर नवरुजोव ने क्वालिफिकेशन में 7-0 से पराजित कर दिया। नवरूजोव क्वार्टरफाइनल में पहुंच कर रूस के पहलवान से पराजित हुये जिससे करण की उम्मीदें भी समाप्त हो गयीं।

92 किग्रा में परवीन ने क्वालिफिकेशन में कोरिया के चांगजेई सुई को 12-1 से पराजित किया लेकिन प्री क्वार्टरफाइनल में वह यूक्रेन के पहलवान लियू बोमेर सागाल्युक से 0-8 से हार गये। सागाल्युक क्वार्टरफाइनल में ईरान के पहलवान से हारे और उनकी हार के साथ परवीन टूर्नामेंट से बाहर हो गये।

125 किग्रा में सुमित को क्वालिफिकेशन में हंगरी के डेनियल लिगेटी ने 2-0 से पराजित किया। लिगेटी इसके बाद प्री क्वार्टरफाइनल में उज्बेकिस्तान के पहलवान से हार गये और उनकी हार के साथ टूर्नामेंट से बाहर हो गये।

पुरूष फ्री स्टाइल ओलंपिक वजन वर्ग में कोटा हासिल करने के लिये अब भारत के पास 86 और 97 किग्रा के मुकाबले बचे हैं जिनमें क्रमश: दीपक और मौसम शनिवार को उतरेंगे। दीपक ने पिछले महीने एस्तोनिया में आयोजित हुई जूनियर विश्व चैंपियनशिप में स्वर्ण पदक जीता था जो इस प्रतियोगिता में भारत का 18 साल बाद मिला स्वर्ण पदक था। इन दोनों पहलवानों के साथ 97 किग्रा के गैर ओलंपिक वर्ग में जितेंद्र और 61 किग्रा के गैर ओलंपिक वर्ग में राहुल अवारे उतरेंगे।

Share it
Top