भारतीय खिलाडिय़ों को ज्यादा साहस दिखाना होगा : स्टिमैक

भारतीय खिलाडिय़ों को ज्यादा साहस दिखाना होगा : स्टिमैक

अहमदाबाद। हीरो कोंटिनेंटल कप में उत्तर कोरिया के हाथों मुकाबला हारने के बाद भारतीय फुटबॉल टीम के कोच इगोर स्टिमैक ने कहा है कि खिलाडिय़ों को मैच में ज्यादा साहस दिखाना होगा तभी उन्हें जीत मिल पाएगी। भारतीय टीम को यहां चल रहे हीरो कोंटिनेंटल कप में शनिवार को उत्तर कोरिया से 2-5 से हार का सामना करना पड़ा था। इससे पहले भारतीय टीम अपने पहले मैच में ताजिकिस्तान से 2-4 से हार झेलनी पड़ी थी। उत्तर कोरिया से हारने के बाद भारतीय टीम का अभियान इस टूर्नामेंट में अब लगभग समाप्त हो गया है और उसे फाइनल में पहुंचने के लिए सीरिया को बड़े अंतर से हराना होगा तथा उम्मीद करनी होगी कि ताजिकिस्तान एक अन्य मुकाबले में उत्तर कोरिया को पराजित करे। लेकिन विश्व रैंकिंग में 85वें नंबर पर मौजूद सीरिया को लगभग छह गोल के अंत से हराना 101वीं रैंकिंग के भारत के लिए एक असंभव सा काम लगता है। टीम के कोच स्टिमैक ने कहा, ''दूसरे हॉफ में हमने अच्छा प्रदर्शन किया और अपनी पूरी ताकत के साथ खेले। लेकिन पहले हॉफ में हम अपने प्रदर्शन के अनकूल नहीं खेल पाए। मैंने खिलाडिय़ों को भारत के लिए खेलना का मौका दिया है और उनसे इस खेल का आनंद लेने के लिए कहा है लेकिन अगर आप साहस नहीं दिखाओगे तो मुकाबला नहीं जीत सकते। दूसरे हॉफ में हमने मौके बनाए और जिम्मेदारियां निभाई। हालांकि मुझे अपने खिलाडिय़ों के प्रदर्शन पर गर्व है। पहले हॉफ में 0-3 से पिछडऩे के बाद स्टिमैक ने मानवीर सिंह और ब्रेंडन फर्नांडिस की जगह उदांता सिंह और लालिआनजुआला छांग्टे को मैदान में उतारा था। भारत ने अपने दोनों गोल दूसरे हॉफ में किए। भारत की तरफ से छांग्टे और सुनील छेत्री ने एक-एक गोल किया था। छेत्री टूर्नामेंट में अबतक तीन गोल कर चुके हैं और उनके 71 अंतर्राष्ट्रीय गोल हो गए हैं। उन्होंने ताजिकिस्तान के खिलाफ दो गोल किए थे। भारत का टूर्नामेंट में अगला मुकाबला सीरिया से 16 जुलाई को होगा।

Share it
Top