दिल्ली में होगा रोल बॉल का पांचवां विश्वकप

दिल्ली में होगा रोल बॉल का पांचवां विश्वकप

नयी दिल्ली। अंतरराष्ट्रीय स्तर पर तेज़ से उभर रहे खेल रोल बॉल का पांचवां विश्वकप दिल्ली के इंदिरा गांधी इंडोर स्टेडियम में 12 से 17 नवंबर तक आयोजित किया जाएगा जिसमें 40 देश हिस्सा लेंगे।

भारतीय रोल बॉल महासंघ के उपाध्यक्ष और अंतरराष्ट्रीय रोल बॉल महासंघ के निदेशक मनोज कुमार यादव ने शनिवार को संवाददाता सम्मेलन में यह जानकारी देते हुये बताया कि इस टूर्नामेंट में कुल 40 देश हिस्सा लेंगे। पुरूष वर्ग में 40 टीमें और महिला वर्ग में 20 टीमें उतरेंगी।

मनोज ने बताया कि रोल बॉल खेल की शुरूआत महाराष्ट्र के पुणे से 2003 में हुई थी और इसका पहला विश्वकप 2011 में पुणे में ही आयोजित हुआ था। पहला विश्वकप डेनमार्क ने जीता था और भारत दूसरे स्थान पर रहा था। दूसरा रोल बॉल विश्वकप केन्या में 2013 में हुआ और इसमें भारत पुरूष तथा महिला वर्ग दोनों में विजेता बना। पुणे ने 2015 में तीसरे विश्वकप की मेजबानी की और पुरूष वर्ग में भारत तथा महिला वर्ग में केन्या विजेता बना। चौथा विश्वकप 2017 में बंगलादेश में आयोजित हुआ और इसमें भारत ने दोनों वर्गों में खिताब जीता।

रोल बॉल स्केट््स के ऊपर खेले जाने वाला खेल है जिसमें 40 गुणा 20 मीटर का कोर्ट होता है और हर टीम में 6-6 खिलाड़ी शामिल होते हैं जो विपक्षी गोल में गोल करने का प्रयास करते हैं। हर टीम के साथ छह खिलाड़ी बेंच पर रहते हैं और चलते हुये खेल में खिलाड़यिों को बदला जाता है। इसका कोर्ट लकड़ी या सीमेंट का होता है जहां पर खिलाड़यिों को स्केट््स करने में आसानी होती है।

इस खेल में 25-25 मिनट के दो हाफ होते हैं और 10 मिनट का ब्रेक होता है। 16 साल पुराने इस खेल में भारत मौजूदा एशियाई और विश्व चैंपियन है। इसमें खेलने के लिये खिलाड़ी को स्केटिंग आना बहुत जरूरी है। भारत में इस खेल में 35 हजार खिलाड़ी हैं और अंतरराष्ट्रीय स्तर पर 50 देश इसे खेलते हैं।

मनोज ने बताया कि टूर्नामेंट के शुभंकर और लोगों के डिजाइन के लिये देशभर के स्कूली बच्चों से प्रविष्टियां मांगी गयी हैं और चयनित बच्चे को पुरस्कृत किया जाएगा और उसे विश्वकप देखने का मौका भी दिया जाएगा। विश्वकप की आयोजन समिति का अध्यक्ष दिल्ली रोल बॉल महासंघ की अध्यक्ष रेणु शर्मा को बनाया गया है। रोल बॉल 2003 से खेल मंत्रालय से मान्यता प्राप्त है जबकि भारतीय ओलंपिक संघ (आईओए) ने इसे 2007 में मान्यता दी थी लेकिन नीतिगत फैसलों के चलते उसने इसकी मान्यता 2011 में रद्द कर दी। मनोज ने बताया कि उनका महासंघ रोल बॉल को आईओए से मान्यता दिलाने के लिये प्रयासरत है।

Share it
Top