निलंबन के बाद मेरे खेल में सुधार हुआ: पांड्या

निलंबन के बाद मेरे खेल में सुधार हुआ: पांड्या

मुंबई। मुंबई इंडियन्स के स्टार ऑलराउंडर हार्दिक पांड्या ने माना है कि एक टॉक शो पर अपने आपत्तिजनक बयान के कारण मिले निलंबन ने उन्हें मानसिक रूप से मजबूत किया है और इससे उनके खेल में भी सुधार हुआ है।रॉयल चैलेंजर्स के खिलाफ मुंबई इंडियन्स के मैच में पांड्या ने नाबाद 37 रन की पारी से टीम को जीत दिलाने में अहम भूमिका निभाई और एक विकेट भी निकाला। पांड्या को आईसीसी विश्वकप के लिये भी भारतीय टीम में जगह मिली है। पांड्या और लोकेश राहुल को कॉफी विद करण शो पर महिलाओं के खिलाफ आपत्तिजनक बयान के लिये भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड(बीसीसीआई) की ओर से अस्थायी रूप से निलंबित किया गया था। मैच के बाद पांड्या ने माना कि कुछ समय के निलंबन से ही उनमें मानसिक रूप से काफी बदलाव आया है और उनका खेल पहले से बेहतर हुआ है। मौजूदा आईपीएल सत्र में पांड्या ने अब तक टीम के लिये संतोषजनक प्रदर्शन किया है और 172 रन के लक्ष्य का पीछा करने उतरी मुंबई के लिये 16 गेंदों में पांच चौके और दो छक्के लगाकर नाबाद 37 रन की पारी से जीत सुनिश्चित की। पांड्या ने कहा,''हर खिलाड़ी के जीवन में उतार चढ़ाव आते हैं। निलंबन से मुझे कुछ समय अपनी फिटनेस के लिये मिल गया। जब तक मैं खेल से दूर रहा मुझे सही दिशा में आगे बढऩे की प्रेरणा मिली और मैं अच्छी मानसिकता के साथ वापसी कर पाया। भारतीय ऑलराउंडर ने कहा,''मैं गत वर्ष से ही फिनिशर की भूमिका का अभ्यास कर रहा हूं। टीम में मेरा यही काम है और मैं इसीलिये खेलता हूं। मैं नेट पर इसका अभ्यास कर रहा था। यह परिस्थितियों की बात है। आप स्थिति के अनुसार खेलते हैं और यही जरूरी होता है कि आपको आवश्यकता के अनुसार परिणाम भी मिले। पांड्या को विश्वकप टीम में भी अहम माना जा रहा है। उन्होंने टीम चयन को लेकर कहा,'' जरूरी है कि टीम का आपपर भरोसा हो। विश्वकप बड़ा मंच है। यह पहली बार है जब मैं विश्वकप टीम में खेलूंगा। मेरे लिये लगातार अच्छी बल्लेबाजी करना जरूरी है। मैं कुछ समय के लिये गेम से बाहर रहा लेकिन अब वापसी कर रहा हूं तो मुझे अच्छा खेलना होगा। पांड्या ने विश्वकप में अपने प्रदर्शन को लेकर कहा कि यदि 2017 आईसीसी चैंपियंस ट्रॉफी जैसी स्थिति ही ब्रिटेन में होंगी तो भारत को फायदा मिलेगा। उन्होंने कहा,''हमें वहां की स्थितियां देखनी होंगी। कई लोग कह रहे हैं कि वहां गेंद स्विग करेगी, वहां ठंड होगी और मैंने पहले कभी सपाट विकेट पर नहीं खेला है। हम स्थितियों के हिसाब से रणनीति बनाकर खेलेंगे।

Share it
Top