दिल्ली का क्वार्टरफाइनल में हरियाणा से मुकाबला

दिल्ली का क्वार्टरफाइनल में हरियाणा से मुकाबला

बेंगलुरू। विजय हजारे ट्रॉफी एकदिवसीय क्रिकेट टूर्नामेंट के ग्रुप मैचों के बाद आठ क्वार्टरफाइनलिस्ट तय हो गये हैं और दिल्ली का मुकाबला पड़ोसी राज्य हरियाणा से बेंगलुरू में होगा। विजय हजारे ट्रॉफी के चारों क्वार्टरफाइनल बेंगलुरू में खेले जाएंगे। रविवार को दिल्ली और हरियाणा के अलावा मुंबई और प्लेट ग्रुप की शीर्ष टीम बिहार का मुकाबला होगा। सोमवार को दो अन्य क्वार्टरफाइनल में महाराष्ट्र और झारखंड तथा आंध्र और हैदराबाद भिड़ेंगे। टूर्नामेंट के इस बार के प्रारूप के अनुसार एलीट ए और एलीट बी ग्रुप की टीमों को ग्रुप चरण के बाद एक साथ मिला दिया गया और शीर्ष पांच टीमों ने क्वार्टरफाइनल में जगह बनाई। ग्रुप सी से शीर्ष दो टीमों को और नये प्लेट ग्रुप से शीर्ष टीम को क्वार्टरफाइनल में जगह मिली है। ए और बी ग्रुप को मिलाने के बाद सबसे आखिरी की दो टीमें मध्यप्रदेश और रेलवे अगले साल एलीट सी ग्रुप में रेलिगेट हो गयी हैं जबकि एलीट ग्रुप सी की शीर्ष दो टीमें झारखंड और हरियाणा ने अगले सत्र में ए और बी में जगह बना ली है। ग्रुप सी की आखिरी टीम असम अगले सत्र में प्लेट ग्रुप में रेलीगेट हो गयी है जबकि प्लेट ग्रुप की शीर्ष टीम बिहार को एलीट सी ग्रुप में प्रमोशन मिल गया है।

ए और बी ग्रुप को मिलाने के बाद मुंबई, दिल्ली, महाराष्ट्र, आंध्र और हैदराबाद ने क्वार्टरफाइनल में जगह बनाई। मुंबई ने आठ में से छह मैच जीते और वह 28 अंकों के साथ शीर्ष पर रहा। दिल्ली ने आठ में से छह मैच जीते और वह 26 अंकों के साथ दूसरे स्थान पर रहा। महाराष्ट्र के भी 26 अंक रहे लेकिन रन औसत में वह तीसरे स्थान पर रहा। आंध्र के भी 26 अंक रहे लेकिन रन औसत में वह चौथे स्थान पर रहा। हैदराबाद ने आठ मैचों में 22 अंकों के साथ पांचवां स्थान हासिल किया। ग्रुप सी से झारखंड ने नौ मैचों से 32 अंक और हरियाणा ने नौ मैचों में 28 अंक हासिल कर क्वार्टरफाइनल में जगह बनाई। घरेलू क्रिकेट में वापसी करने वाली बिहार की टीम ने आठ मैचों में सात मैच जीते और 30 अंकों के साथ क्वार्टरफाइनल में जगह बनाई। उत्तराखंड की टीम मामूली अंतर से बिहार से पीछे रह गयी। उत्तराखंड ने आठ में से सात मैच जीते और उसके 28 अंक रहे। सभी 37 टीमों में सिक्किम और रेलवे की टीम एकमात्र ऐसी टीमें रहीं जो कोई मैच नहीं जीत सकीं। सिक्किम ने अपने आठों मैच और रेलवे ने आठ में से सात मैच गंवाये।

Share it
Top