सेंसेक्स 95 अंक फिसला, निफ्टी 10800 के नीचे

सेंसेक्स 95 अंक फिसला, निफ्टी 10800 के नीचे


मुंबई। गुरुवार को शेयर बाजार ने दबाव के साथ शुरुआत की है। सुबह से ही अधिकांश एशियाई बाजार भी बिकवाली के दबाव में लाल निशान में कारोबार कर रहे हैं, जिसके कारण भारतीय शेयर बाजार भी गुरुवार को लगातार दूसरे दिन गिरावट के साथ खुले। सेंसेक्स में 94.92अंक या 0.26 की गिरावट देखी जा रही है और यह लाल निशान में 35,796.60 अंक पर ट्रेड कर रहा है, जबकि निफ्टी भी 10800 अंक के नीचे फिसल गया है। निफ्टी 26 अंक लुढ़ककर 10,765 अंक के पास पहुंच गया है।

गुरुवार को शेयर बाजार ने बिकवाली के दबाव के साथ गिरावट में शुरुआत की है। सुबह से ही अधिकांश एशियाई बाजार भी बिकवाली के दबाव में लाल निशान में कारोबार कर रहे हैं| इसके कारण भारतीय शेयर बाजार भी गुरुवार को लगातार दूसरे दिन गिरावट के साथ खुले। हालांकि बंबई स्टॉक एक्सचेंज पर बीएसई ने हरे निशान में 35944 अंकों पर ओपनिंग की थी, लेकिन बिकवाली हावी होते ही इसमें गिरावट जारी हो गई। सेंसेक्स नेक्स्ट 50 सूचकांक को छोड़कर सभी सूचकांक 0.48 फीसदी तक की गिरावट में कारोबार कर रहे हैं।

बीएसई का स्मॉलकैप और मिडकैप इंडेक्स में भी गिरावट देखी जा रही है, जबकि मिडकैप 150 सूचकांक, ऑलकैप 250 इंडेक्स और बीएसई 200 सूचकांक की कंपनियों में भी गिरावट का रुख है। सेक्टोरियल इंडेक्स में टेक और एफएमसीजी सेक्टर को छोड़कर सभी सेक्टर लाल निशान पर कारोबार कर रहे हैं।

निफ्टी में भी 26 अंकों तक की गिरावट आ चुकी है। निफ्टी 10,800 के नीचे चला गया है। 50 शेयरों वाला संवेदी सूचकांक नेशनल स्टॉक एक्सचेंज का निफ्टी सुबह लाल निशान में खुला था। फिलहाल एनएसई निफ्टी 26 अंकों की गिरावट के साथ 10,765 अंकों पर कारोबार कर रहा है। निफ्टी की 17 कंपनियों के शेयरों में तेजी का रुख है, जबकि 33 कंपनियों के शेयर्स में गिरावट जारी है। एफएमसीजी, आईटी और रियल्टी सेक्टर को छोड़कर अन्य सभी सेक्टोरियल इंडेक्स लाल निशान में कारोबार कर रहे हैं। मीडिया, ऑटो मोबाइल और बैंकिंग सेक्टर में गिरावट बनी हुई है और अधिकांश कंपनियों के शेयर लाल निशान में कारोबार कर रहे हैं।

बीएसई में बुधवार की गिरावट का असर मार्केट कैपिटलाइजेशन पर पड़ा और इसमें 1.39 लाख करोड़ रुपये की कमी आई। बुधवार को बाजार पूंजीकरण 143.41 लाख करोड़ रुपये रहा था, जबकि पिछले कारोबारी दिन मंगलवार को मार्केट कैप 144.80 लाख करोड़ रुपये था। रॉयल बुलेटिन की नई एप प्ले स्टोर पर आ गयी है।royal bulletin news लिखे और नई app डाउनलोड करें

Share it
Top