सेंसेक्स 232 अंक मजबूत, निफ्टी भी 53 अंक चढ़ा

सेंसेक्स 232 अंक मजबूत, निफ्टी भी 53 अंक चढ़ा


मुम्बई। अधिकतर विदेशी बाजारों से मिले मजबूत संकेतों के बीच भारत की विकास दर के संबंध में विश्व बैंक की सकारात्मक रिपोर्ट से उत्साहित निवेशकों की लिवाली के दम पर बुधवार को घरेलू शेयर बाजार लगातार चौथे दिन हरे निशान में रहे।

बीएसई का 30 शेयरों वाला संवेदी सूचकांक सेंसेक्स 231.98 अंक की तेजी के साथ 36,212.91 अंक पर और एनएसई का निफ्टी 53 अंक की तेजी के साथ 10,855.15 अंक पर बंद हुआ।

विश्व बैंक की 'ग्लोबल इकोनॉमिक प्रोस्पेक्ट्स' रिपोर्ट में कहा गया है कि वैश्विक अर्थव्यवस्था में गिरावट के बावजूद भारत की विकास दर बढ़कर वर्ष 2019-20 में बढ़ते हुये 7.5 प्रतिशत पर पहुँच जायेगी और 2021-22 तक इसी स्तर पर बनी रहेगी। रिपोर्ट में यह भी कहा गया है कि भारत दुनिया की सबसे तेजी से बढ़ने वाली बड़ी अर्थव्यवस्था बना रहेगा। रिपोर्ट के मुताबिक वित्त वर्ष 2017-18 के 6.7 प्रतिशत से बढ़कर 2018-19 में भारत की विकास दर 7.3 प्रतिशत पर पहुँचने का अनुमान है।

अमेरिका और चीन के बीच हुई बातचीत के प्रति निवेशकों की धारणा मजबूत रही जिससे सेंसेक्स बढ़त के साथ 36,181.37 अंक पर खुला। एफएमसीजी और बैंकिंग समूह में हुई लिवाली से कारोबार के दौरान यह 36,250.54 अंक के दिवस के उच्चतम स्तर तक पहुंचा। अंतर्राष्ट्रीय बाजार में कच्चे तेल की कीमतों में रही तेजी और धातु तथा तेल एवं गैस समूहों में हुई बिकवाली के दबाव में यह 35,863.29 अंक के दिवस के निचले स्तर तक लुढ़क गया। अंतत: यह गत दिवस की तुलना में 0.64 प्रतिशत की बढ़त में 36,212.91 अंकं पर बंद हुआ। सेंसेक्स की 30 में से 18 कंपनियाँ तेजी में और 12 गिरावट में रहीं।

निफ्टी भी बढ़त के साथ 10,862.40 अंक पर खुला। कारोबार के दौरान यह 10,870.40 अंक के दिवस के उच्चतम और 10,749.40 अंक के निचले स्तर से होता हुआ गत दिवस की तुलना में 0.49 फीसदी की तेजी के साथ 10,855.15 अंक पर बंद हुआ। निफ्टी की 50 में से 26 कंपनियाँ गिरावट में और 24 तेजी में रहीं।

दिग्गज कंपनियों के विपरीत छोटी और मंझोली कंपनियों में बिकवाली हावी रही। बीएसई का मिडकैप 0.04 प्रतिशत यानी 5.62 अंक की गिरावट के साथ 15,121.60 अंक पर और स्मॉलकैप 0.17 प्रतिशत यानी 24.14 अंक की गिरावट के साथ 14,600.97 अंक पर बंद हुआ।

बीएसई में कुल 2,742 कंपनियों के शेयरों में कारोबार हुआ जिनमें 1,452 में गिरावट और 1,143 में तेजी रही जबकि 152 कंपनियों के शेयरों के भाव अपरिवर्तित बंद हुये।


Share it
Top