जब पति हो आशिक मिजाज

जब पति हो आशिक मिजाज

विपरीत लिंगी के प्रति आकर्षण स्वाभाविक है। चाहे स्त्री हो या पुरूष, इससे कोई अछूता नहीं रहता। अपने साथी द्वारा आकर्षक विपरीत लिंगी की तारीफ करना, फब्ती कसना या मजाक करना तो पति पत्नी स्वीकार कर लेते हैं पर जहां जरा सी यह भनक लगे कि पति या पत्नी में से किसी एक पर किसी अन्य से आशिकी का भूत सवार हो गया है तो कोई भी बरदाश्त नहीं कर पाएगा।

अधिकतर पुरूषों को दूसरी औरत की तारीफ करना व उनसे बात करना अच्छा लगता है पर आशिक मिजाजी प्राय: पत्नियों को पसन्द नहीं आती। आशिक मिजाज पति अधिकतर पत्नियों को अच्छे नहीं लगते। इसमें उन्हें परेशानी होती है।

कभी-कभी आशिक मिजाजी इतनी बढ़ जाती है जिसका सीधा प्रभाव पारिवारिक जीवन पर पड़ता है। इसका परिणाम बुरा ही होता है। किसी अन्य से मजाक करना या उसकी तारीफ करना तक तो ठीक है पर आशिक-मिजाज होना उचित नहीं है।

मनोवैज्ञानिकों के अनुसार सुन्दरता की तारीफ करना गलत नहीं है। जो लोग सुन्दरता की तारीफ नहीं करते, वे भावहीन व्यक्ति होते हैं। कुछ पुरूष डर के कारण सुन्दरता की तारीफ नहीं करते कि कहीं उन्हें पत्नी के गुस्से का शिकार न होना

पड़े। यह भी कुछ अस्वाभाविक सा लगता है।

तारीफ, हंसी मजाक सीमा तक हो तो कोई पत्नी इसे बुरा नहीं मानेगी। हां, पति कुछ अधिक ही दूसरी औरतों की तरफ आकर्षित होता हो तो वह पत्नी की परेशानी का कारण बनेगा ही। वैसे पत्नी को भी समझना चाहिए और मूल्यांकन करना चाहिए कि पति अन्य औरतों की किन बातों की तारीफ अधिक करता है। प्रयास कर अपने में उन कमियों को दूर करना चाहिए।

आशिकी सिर्फ बातों तक हो तो ठीक है पर यदि स्पर्श और आगे तक हो जाए तो मामला गंभीर हो जाता है। ऐसे में पत्नी को समझदारी से काम लेना चाहिए:-

- सबसे पहले तो पत्नी को पति से अकेले में प्यार और समझदारी से बात करनी चाहिए कि पति आखिर ऐसा क्यों करता है या परस्त्री की किस बात पर आकर्षित हो रहा है?

- पत्नी को यह भी स्टडी करनी चाहिए कि किन कारणों से उसका पति दूसरी महिलाओं के पीछे पड़ा है या उनकी ओर खिंचा चला जा रहा है। उस

औरत से ईर्ष्या न कर पत्नी को उसकी अच्छाइयों को ग्रहण करने का प्रयास करना चाहिए।

- जिस औरत की पति प्राय: तारीफ करता है यदि आप उसे जानती हैं तो आप भी तारीफ में शामिल हो जाएं। कभी नाराजगी ज़ाहिर न करें ताकि पति को यह न लगे कि आप चिढ़ रही हैं। हो सकता है वह जानबूझकर आपको चिढ़ा रहा हो।

- अगर पति मजाक में दूसरों की तारीफ करे तो जरूरी नहीं कि आप भी मजाक में हर बात का जवाब दें, कटाक्ष करें या उनकी हर बात काटें। इससे भी पति चिढ़ जाते हैं और अवसर पाते ही पत्नी को नीचा दिखाने लगते हैं। ऐसे में पत्नी को समझ जाना चाहिए कि वह मजाक को गंभीरता से न लें।

- यदि पति किसी और के सामने आपकी बुराई करे और उनकी तारीफ करें तो प्यार से पति को समझाएं कि आपको यह पसन्द नहीं है अत: ऐसी तुलना दूसरों के आगे वे न करें।

- पति किसी के आकर्षक व्यक्तित्व की तारीफ करें तो आप भी कहें कि फलां कितनी स्मार्ट लग रही है या लगती है।

- बात कुछ अधिक संगीन हो जाए तो परिवार के किसी ऐसे सदस्य से सलाह कर समस्या का समाधान करवाने का प्रयत्न करें जिनका प्रभाव आपके पति पर हो। ध्यान रखें कि कभी पति को नीचा न दिखाएं ताकि उसे ठेस न पहुंचे।

कुछ पति स्वभावत: रोमांटिक होते हैं और अपनी रूखी पत्नी के मुकाबले बाहर की सजी धजी महिलाएं उन्हें अधिक आकर्षक लगती हैं। यदि आपके पति इस प्रवृत्ति के हैं तो उनकी प्रवृत्ति समझ कर अपने में आकर्षण पैदा करने का प्रयास करें।

आज के आधुनिक युग में ब्यूटी पार्लर व आकर्षक परिधानों की सहायता से अपने में काफी आकर्षण पैदा किया जा सकता है। इस ओर से लापरवाह न रहें क्योंकि आपके दांपत्य की खुशी खतरे में पड़ सकती है।

- नीतू गुप्ता

Share it
Top