Read latest updates about "संबंध" - Page 1

  • फादर्स डे 16 जून पर विशेष: फादर्स डे मनाने की कहानी

    -डॉक्टर अरविन्द जैन हम हर साल जून माह के तीसरे सप्ताह में फादर्स डे मनाते हैं और पिता के प्रति प्रेम व्यक्त करते हैं। लेकिन क्या कभी आपने सोचा है, कि यह परिकल्पना आई हां से और इसकी शुरुआत कैसे हुई? जानिए फादर्स डे के पीछे छुपी इस कहानी को - माना जाता है कि फादर्स डे सर्वप्रथम 19 जून 1910 को...

  • काँटे ही काँटे हैं प्रेम की राहों में

    स्कूल कॉलेज में साथ में पढऩे वाले लड़के लड़कियों के लिए ट्यूशन, कोचिंग, कंप्यूटर प्रशिक्षण आदि कतिपय ऐसे स्थान हैं जहां से प्रेम का बीज अधिकतर अंकुरित होता है और फूटता भी है। साथ-साथ आने जाने, बैठकर पढऩे-लिखने, प्रतिदिन मिलने-जुलने और दोस्ती की प्राथमिक सीढ़ी पर चढऩे का सर्वोत्तम मौका उन्हें मिलता...

  • शादी के पहले शारीरिक संबंधों का प्रभाव

    लगभग-18-20 वर्ष की आयु में युवा वर्ग में सेक्स के प्रति गहरा आकर्षण उत्पन्न हो जाता है। सभी जाति के युवकों में हर समय सेक्स संबंधी नई-नई जानकारी प्राप्त करने की उत्सुकता रहती है। सेक्स के प्रति अत्यधिक लगाव युवा वर्ग में शारीरिक संबंध बनाने का आधार बनता है। यह संबंध कैसे बनता है? शादी के पहले...

  • टूटने न दें इस रिश्ते को

    विवाह के बाद दंपति की आशाएं भिन्न हो सकती हैं जिससे दोनों के संबंधों पर प्रभाव पड़ सकता है। बड़े मुद्दों पर सहमति न होने पर गंभीर संघर्ष तथा जीवन को खतरा हो सकता है। इसके लिए आवश्यक है कि दंपति परस्पर वार्तालाप करें। एक दूसरे को अपने विचार, भावनाएं तथा भविष्य के लिए अपने उद्देश्यों व कल्पनाएं...

  • यादगार बन जाए आपकी पहली डेट

    जब आप पहली बार डेट पर जा रही हों तो आपको सबसे बड़ी परेशानी आती है क्या पहनें, कहां जाएं क्योंकि यह आपकी पहली डेट होती है। आप घबरा रही होती हैं कि क्या बात करेंगी? ऐसी कई छोटी-छोटी बातें आपके मन में उठ रही होती हैं। आप ही नहीं, हर किसी को इस घबराहट का सामना करना पड़ता है, पर डरिए नहीं। हम आपको...

  • एक दूजे को समझना जरूरी है

    दो व्यक्ति कभी बिलकुल एक सी विचारधारा के नहीं हो सकते, न ही उनकी पसंद, हॉबीज बिलकुल एक जैसी हो सकती हैं। फिर स्त्री और पुरूष के शौक कुछ तो भिन्नता लिए होंगे ही। दंपति को चाहिए कि वे एक दूसरे की खुशी को ध्यान में रखते हुए एक दूसरे के शौक और जज्बात की कद्र करें। अपने शौक और जज्बात दूसरे पर न थोपें।...

  • जब दिल टूट जाए

    दिल से दिल लगाकर रखना अच्छा होता है किंतु इन सब से भारी दिल का टूटना होता है। दिल का टूटना अत्यंत पीड़ादायी होता है। इस अपरिभाषित दर्द को वैज्ञानिक भी स्वीकारते हैं। लड़कियां दिल के टूटने से अपना रूप बदल लेती हैं, बनाव-श्रृंगार एवं पहरावा बदल लेती हैं। वे अपना व्यक्तिगत व्यवहार भी बदल लेती हैं। ...

  • पत्नी से भावनात्मक जुड़ाव भी जरूरी है

    विवाह के उपरांत सबसे नजदीकी और प्रिय रिश्ता होता है पति-पत्नी का। लड़की अपने परिवारजनों को छोड़कर नए परिवेश में दाखिल होती है। उसके लिए नया घर, नए लोगों के बीच में रहना, नए वातावरण में स्वयं को ढालना बहुत बड़ी जिम्मेदारी होती है। ऐसे में प्रिय पति का कुछ सहयोग उसे मिल जाए तो सोने पे सुहागा हो...

  • अपने दांपत्य जीवन में मधुरता लाएं?

    दांपत्य जीवन की बुनियाद पति-पत्नी के सुखद संबंधों पर ही निर्भर करती है। अच्छे वैवाहिक संबंध जीवन को स्थायित्व प्रदान करते हैं। इसलिए यह जरूरी है कि युगल जोड़ी एक-दूसरे की इच्छाओं व अपेक्षाओं का ख्याल रखें। पति-पत्नी दोनों की अपने जीवन साथी से कुछ अपेक्षाएं रहती हैं। आइए हम जानते हैं कि आखिर क्या है...

  • रूठे रूठे पिया, मनाऊं कैसे?

    मृणालिनी, अपने नाम के अनुरूप ही सुकोमल एवं नाज़ नखरों वाली है। अपनी मनमोहक देहयष्टि का पूरा फायदा उठाना जानती है वह, इसीलिए तो अरूणाभ शादी के बाद से ही उसके इशारों पर नाचता रहा। उसका इतराना, इठलाना और रूठना सब उसे बहुत भाता था मगर यह सब बहुत ज्यादा दिन नहीं चल पाया। ईशा के जन्म के बाद भी जब...

  • चुंबन है सैक्स की सही शुरूआत

    अमेरिकी विज्ञानियों के एक शोध ने सच को सामने लाकर चौंका दिया है। रग्टर यूनिवर्सिटी की एंथ्रोपोलेजिस्ट डॉक्टर हेलन फिशन ने सर्वेक्षण पूरा कर परिणाम सामने रखा। दिसम्बर 2009 में एजेंसी के माध्यम से रिपोर्ट सामने आई थी। इस ताजा शोध के मुताबिक वर्तमान समय में पुरूष चुंबन प्रक्रि या को सैक्स का सबसे...

  • कैसे मनाएं रूठे पति को

    पति-पत्नी में से किसी एक से कोई गलती हो जाती है तो दूसरे का नाराज होना स्वाभाविक है। अक्सर पुरूष मानते हैं कि पत्नियां जब नाराज होती हैं तो बड़ी मुश्किल से मानती हैं पर आजकल के पति भी इस मामले में पीछे नहीं हैं। पत्नी के सिर्फ 'सॉरी' कह देने भर से उनकी नाराजगी दूर नहीं होती। वैसे तो 'सॉरी' जैसे...

Share it
Top