आदित्य ठाकरे को क्या राजनीति में मिलेगी सफलता ? क्या कहते हैं सितारे


मुंबई में शिवसेना कठिन दौर से गुजर रही है। शिवसेना के युवा नेता और पार्टी अध्यक्ष उद्धव ठाकरे के बेटे, आदित्य ठाकरे ने महाराष्ट्र के वर्ली विधानसभा क्षेत्र से चुनाव मैदान में उतरने की घोषणा की। इसके साथ, वह प्रत्यक्ष चुनाव लड़ने के लिए तीन पीढ़ियों में पहले ठाकरे बन गए, एक ऐसा कदम जो पार्टी में अपने संस्थापक और सुप्रीमो, बालासाहेब ठाकरे की मृत्यु के बाद के वर्षों में बदलाव को दर्शाता है।

आदित्य ठाकरे भारतीय राजनीति के लिए भले ही नया नाम हो परन्तु इनके परिवार की पकड़ भारतीय हिन्दू राजनीति पर बहुत पुरानी और मजबूत रही है। यहां बता देना सही रहेगा की आदित्य उद्धव ठाकरे के पुत्र और बाल ठाकरे के पौत्र है। महाराष्ट्र राज्य में शिवसेना की भूमिका सर्वविदित है। शिवसेना प्रमुख के पुत्र के सक्रीय राजनीति में आने की घोषणा के साथ ही महाराष्ट्र राजनीति के नए मुख्यमंत्री के चेहरे का भी निर्धारण हो गया। उल्लेखनीय है कि ठाकरे जूनियर वर्तमान में अपने राजनीतिक जीवन के एक महत्वपूर्ण और निर्णायक दौर से गुजर रहे हैं। 1 अक्टूबर 2019 को इनके राजनीती में आने की घोषणा हुई और आज 4 अक्टूबर 2019 को हम इनकी कुंडली का अध्ययन कर आपको बताने जा रहे है कि क्या आदित्य ठाकरे राजनीति में सफल हो पाएंगे? क्या उन्हें अपने पिता और दादा के समान जनता का असीम स्नेह मिल पाएगा? क्या वे वातवा में युवा सेना को अपने नेतृत्व में एक नयी बुलंदियों पर लेकर जा सकेंगे?

आइये देखे उनकी कुंडली इस विषय में क्या कहती है -

जन्मसमय के अभाव में आज हम इनकी चंद्र कुंडली का अध्ययन करेंगे-

13 जून 1990, मुम्बई

आदित्य ठाकरे का जन्म मकर राशि में हुआ। चंद्र लग्न के अनुसार चंद्र लग्न में शनि चंद्र और राहु एक साथ युति संबंध में है। मंगल तृतीय भाव में, शुक्र चतुर्थ भाव में, बुध व सूर्य पंचम भाव, गुरु षष्ठ भाव में, केतु सप्तम भाव में स्थित है। इनकी कुंडली की यह विशेषता है कि सारे नवग्रह प्रथम भाव से लेकर सप्तम भाव के मध्य स्थित है, यह योग कालसर्प योग के नाम से भी जाना जाता है। प्रथम से सप्तम भाव के मध्य योग बनने के फलस्वरुप इनके जीवन का प्रथम भाग बहुत ही सुखमय और आरामदायक रहेगा। परन्तु विवाह के बाद इनके जीवन का वास्तविक संघर्ष शुरु होगा। राजनैतिक समझौते और गठबंधन आगे जाकर विवादित होकर टूट सकते हैं। जन्मपत्री में एक मजबूत शनि हमेशा एक राजनेता या राजनीतिक महत्वाकांक्षा वाले व्यक्ति के लिए एक वरदान होता है। आदित्य के चार्ट में, शनि शश महापुरुष योग का निर्माण कर रहा है और वर्गोत्तम शनि होने से बहुत शक्तिशाली हो गया है। यह दर्शाता है कि आदित्य बहुत मजबूत चरित्र और महान नेतृत्व गुणों से युक्त है। चंद्रमा से चौथे घर में मजबूत शुक्र उन्हें एक करिश्माई नेता बना सकता है।

राजनीति में सफलता के लिए आवश्यक है कि कर्म भाव बली हो, दशमेश शुक्र चतुर्थ भाव से अपने भाव को दृष्टि देकर अतिरिक्त बल देकर शुभता दे रहे हैं। आयेश मंगल पराक्रम भाव में मित्र राशि मीन में है और मंगल की अष्टम दृष्टि कर्म भाव पर होने के कारण इनमें नेतॄत्व शक्ति भी पर्याप्त मात्रा में है। इस तरह के योग व्यक्ति को नाम, प्रसिद्धि और सफलता प्रदान करने के लिए जाने जाते हैं। स्वराशि के शनि जन्म चंद्र के साथ है और राहु का चातुर्य भी इन्हें प्राप्त हो रहा है। यह शनि इन्हें जीवन में अतिउत्तम सफलता देंगे। इस समय गोचर में शनि इनके जन्मचंद्र से द्वादश पर गोचर कर रहे हैं और शनि साढ़ेसाती का प्रथम चरण इनपर प्रभावी है। शनि साढ़ेसाती का यह समय इनके करियर को राजनीति में सफलता, पद और सम्मान देने का पूर्ण सामर्थ्य रखता है। गोचर में राहु छ्ठे भाव पर गोचर कर अपनी पंचम दृष्टि से दशम भाव को अपनी नीतिकुशलता दे रहे हैं। अब यदि गुरु गोचर पर नजर डालते हैं तो गुरु गोचर में द्वादश भाव पर हैं यहां ये अत्यधिक व्यय दर्शा रहे हैं। सफलता प्राप्ति के लिए अत्यधिक मात्रा में धन व्यय होने के योग भी यहां बन रहे हैं। कुल मिलाकर इनके कार्यों से उसकी प्रतिष्ठा और राजनीतिक स्थिति को बढ़ावा मिल सकता है। ग्रह गोचर इस बात की पुष्टि करते हैं कि उनके पास शिवसेना की विरासत को आगे ले जाने की क्षमता है। उनकी कुंडली से यह भी संकेत मिलता है कि यद्यपि वे वर्तमान में अपने दृष्टिकोण में आक्रामक दिखते हैं, लेकिन वे अपने पिता की तुलना में अधिक धर्मनिरपेक्ष, प्रगतिशील होंगे और एक गरिमामय स्थान पाने में सक्षम होंगे।

अत: महाराष्ट्र की राजनीति में एक नए सूर्य का उदय हो चुका है, सिर्फ अभी प्रभात होने की देर है। तनिक प्रतिक्षा सभी को करनी होगी।

ज्योतिष आचार्या रेखा कल्पदेव कुंडली विशेषज्ञ और प्रश्न शास्त्री

8178677715

rekhakalpdev@gmail.com

ज्योतिष आचार्या रेखाकल्पदेव पिछले 15 वर्षों से सटीक ज्योतिषीय फलादेश और घटना काल निर्धारण करने में महारत रखती है. कई प्रसिद्ध वेबसाईटस के लिए रेखा ज्योतिष परामर्श कार्य कर चुकी हैं। आचार्या रेखा एक बेहतरीन लेखिका भी हैं। इनके लिखे लेख कई बड़ी वेबसाईट, ई पत्रिकाओं और विश्व की सबसे चर्चित ज्योतिषीय पत्रिका फ्यूचर समाचार में शोधारित लेख एवं भविष्यकथन के कॉलम नियमित रुप से प्रकाशित होते रहते हैं। जीवन की स्थिति, आय, करियर, नौकरी, प्रेम जीवन, वैवाहिक जीवन, व्यापार, विदेशी यात्रा, ऋणऔर शारीरिक और मानसिक स्वास्थ्य, धन, बच्चे, शिक्षा,विवाह, कानूनी विवाद, धार्मिक मान्यताओं और सर्जरी सहित जीवन के विभिन्न पहलुओं को फलादेश के माध्यम से हल करने में विशेषज्ञता रखती हैं।

Share it
Top