बदलाव इमरान के बूते की बात नहीं

बदलाव इमरान के बूते की बात नहीं

पहली बार पाकिस्तान के प्रधानमंत्री बने इमरान खान के इरादे तो बहुत नेक और तरक्की पसंद हैं, लेकिन जो हालात हैं उससे समझा जा सकता है कि वो कुछ खास कर नहीं सकते हैं। इसी बात को सामने रखते हुए पाकिस्तानी लेखक तारिक फतह ने कहा कि इमरान चाहते जो भी हों, लेकिन वो पाकिस्तान के हालात बदल नहीं सकते हैं, क्योंकि सही मायने में इमरान के हाथ में कुछ भी नहीं है। गौरतलब है कि पाकिस्तान की चुनी हुई सरकार पर सेना का नियंत्रण वाले आरोप पहले से लगते रहे हैं और इसी बात को तारिक फतह कह रहे हैं। उन्होंने यह कहकर सनसनी फैला दी है कि इमरान की तीसरी बीबी सेना की एजेंट है। समझा जा रहा है कि इससे उन्होंने जहां इमरान पर निशाना साधा वहीं सेना प्रमुख जावेद बाजवा को भी आईना दिखाने का काम कर दिया है। बहरहाल इस बात में दम तो है, क्योंकि जब तक नीतियां नहीं बदली जाएंगी तब तक देश में बदलाव कैसे दिखाई दे सकता है।

Share it
Share it
Share it
Top