आखिरकार किसके सपनों का भारत

आखिरकार किसके सपनों का भारत

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने स्वतंत्रता दिवस के अवसर पर लाल किले की प्राचीर से ऐलान किया कि साल 2022 में आजादी के 75 साल पूरे होने के अवसर पर देश अंतरिक्ष की दुनिया में नया कीर्तिमान दर्ज करेगा। इस पर विपक्ष कह रहा है कि अंतरिक्ष में भारत की शानदार उपलब्धि वैज्ञानिकों की लगन और मेहनत का परिणाम है, जिस उपलब्धि को यह सरकार अपने खाते में दिखाना चाहती है, लेकिन सभी जानते हैं कि जिस सरकार का कार्यकाल 2019 में पूर्ण हो रहा है वह आखिर 2022 की बातें करके लोगों को सिर्फ भ्रमित करने का काम कर रही है, इसलिए इस उपलब्धि के लिए पूर्व सरकारें और वैज्ञानिक वाकई बधाई के पात्र हैं, क्योंकि यह सालों की मेहनत का नतीजा है, दो-चार साल की उपलब्धि नहीं। बहरहाल समीक्षक तो यही कह रहे हैं कि यह हमारे शहीदों के सपनों का भारत है, जिसे ऊंचाइयों पर ले जाना प्रत्येक नागरिक का कर्तव्य है, इस पर राजनीति नहीं होनी चाहिए।

Share it
Share it
Share it
Top