400 लोगों से 30 करोड़ रुपए से अधिक की धोखाधड़ी कर कंपनी हुई फरार

400 लोगों से 30 करोड़ रुपए से अधिक की धोखाधड़ी कर कंपनी हुई फरार


कंपनी ने लोगों को ओला कंपनी में कार लगाने का झांसा देकर रोजाना मुनाफा देने का दिया था लालच

नोएडा। बाइक बोट, बाइक यात्रा के बाद एक और कंपनी करीब 400 लोगों से 30 करोड़ रुपए की धोखाधड़ी कर फरार हो गई। कंपनी ने 9 महीने पहले ही सेक्टर 63 के डी ब्लॉक में अपना ऑफिस खोला था। कंपनी ने लोगों को ओला कंपनी में कार लगाने का झांसा देकर करोड़ों रुपए निवेश कराए थे। कंपनी ने लोगों को मुनाफा देने की बात कही थी। कुछ दिन तक कंपनी ने लोगों को मुनाफा भी दिया। इसके बाद जनवरी में कंपनी अपना आफिस बंद कर फरार हो गई। पीडि़तों ने कोतवाली फेज थ्री पुलिस से मामले की शिकायत की है।

मूलरूप से अलीगढ़ निवासी रेखा गाजियाबाद के लाल कुआं स्थित कालोनी में परिवार के साथ रहती है। रेखा ने बताया कि एक विज्ञापन के जरिए वह 10 नवम्बर 2018 को कंपनी गो इंडिया ग्रो (जीआईजी) कैब्स एंड सर्विसेज प्राइवेट लिमिटेड के सेक्टर 63 डी ब्लॉक स्थित ऑफिस पहुंची। वहां उसे कंपनी के कुछ लोग मिले। उन्होंने बताया कि कंपनी में उन्हें 76 हजार रुपए जमा करने होंगे। कंपनी का काम कार खरीदरकर ओला कंपनी में लगाने का है। वह उनके 76 हजार रुपए को इसी काम में लगाएंगे। इसके बदले उन्हें 315 दिन तक रोजाना 510 रुपए मिलेंगे, जो 1 लाख 60 हजार 650 रुपए बैठेंगे। रेखा ने बताया कि वह उनके झांसे में आ गई। उन्होंने अपने गहने बेचकर कंपनी को 2 लाख 28 हजार रुपए दे दिए। कंपनीकर्मी ने उन्हें बताया कि अब उन्हें 945 दिन तक रोजाना 510 रुपए मिलेंगे। जो टोटल 4 लाख 81 हजार 950 रुपए बैठेगा। रेखा ने बताया कि इसी तरह आरोपियों ने करीब 400 लोगों से 30 करोड़ से अधिक रुपए निवेश करा लिए। इसके बाद कुछ दिन कंपनी ने लोगों को रोजाना पैसा देना भी शुरू कर दिया। लेकिन जनवरी 2019 में कंपनी रातो-रात अपना सेक्टर 63 स्थित ऑफिस बंद कर भाग गई। तभी से सभी निवेशकर आरोपियों को तलाश रहे हैं लेकिन उनका कुछ पता नहीं चल रहा है। कंपनी में कई पुलिसकर्मी और सरकारी कर्मचारियों का भी पैसा लगा था।

एसएचओ देवेंद्र सिंह यादव ने बताया कि इस संबंध में तहरीर मिली है। कंपनी का एक ऑफिस दिल्ली के नन्द नगरी इलाके में भी था। जो बंद मिला है। कंपनी दिल्ली एनसीआर और पश्चिमी उत्तर प्रदेश में रहने वाले सैकड़ों का लोगों का पैसा लेकर भागी है। पुलिस कंपनी मालिक की तलाश में जुटी है।

Share it
Top