पुलिस ने पकड़ी 35 लाख कीमत की शराब से भरी ट्रक...हरियाणा से बिहार जा रही थी शराब की खेप, 350 पेटी शराब बरामद

पुलिस ने पकड़ी 35 लाख कीमत की शराब से भरी ट्रक...हरियाणा से बिहार जा रही थी शराब की खेप, 350 पेटी शराब बरामद

नोएडा। पुलिस ने हरियाणा से बिहार भेजी जा रही अवैध शराब की बड़ी खेप पकड़ी है। ट्रक से 350 पेटी शराब बरामद हुई है। इसकी कीमत बिहार के मार्केट में करीब 35 लाख रुपये बताई जा रही है। पुलिस ने ट्रक चालक यूसूफ निवासी पलवल और विकास झा निवासी लक्खी सराय बिहार को गिरफ्तार कर लिया है। दोनों को तस्करों ने दस-दस हजार रुपये देने का लालच दिया था। कोतवाली सेक्टर-39 पुलिस ने उनके खिलाफ मुकदमा दर्ज कर कोर्ट में पेश किया। जहां से उन्हें न्यायिक हिरासत में जेल भेज दिया गया।

कोतवाली के इंस्पेक्टर उदय प्रताप सिंह ने बताया कि सूचना मिली थी कि हरियाणा से ट्रक में भर कर भारी मात्रा में अवैध शराब लाई जा रही है। शराब से भरा ट्रक नोएडा- ग्रेटर नोएडा एक्सप्रेसवे के रास्ते आ रहा है। पुलिस ने महामाया फ्लाइ ओवर पर चेकिंग शुरू की। इस दौरान संदिग्ध ट्रक को रोक कर तलाशी ली गई। ट्रक बाहर से पूरी तरह खाली था। इस दौरान पाया गया कि चालक की तरफ ट्रक में एक बॉक्स बनाया गया है। यह बॉक्स ऐसे बनाया गया था कि बाहर से देखने से अलग नहीं लग रहा था। उसे खोला गया, तो बॉक्स के अंदर शराब मिली। बरामद 350 पेटी शराब में 175 पेटी रॉयल स्टेज और 175 पेटी इंपीरियल ब्लू ब्रांड की शराब है। पूछताछ में आरोपितों ने बताया है कि हरियाणा से बिहार तक शराब से भरे ट्रक को पहुंचाने में तीन स्थानों पर चालक और परिचालकों बदले जाते हैं। दोनों को ओल्ड फरीदाबाद में लावारिश हालत में ट्रक खड़ा मिला था। उन्हें किसी ने फोन कर ट्रक नंबर बताया। ट्रक के अंदर ही एक स्थान पर चाभी रखी मिली। ट्रक में ही उन्हें 20 हजार रुपये भी मिले थे। उन्हें फरीदाबाद से गोरखपुर तक ट्रक पहुंचाने के लिए बोला गया था। रास्ते में खर्च करने के लिए उन्हें 20 हजार रुपये दिए गए थे। गोरखपुर में ट्रक एक नियत स्थान पर खड़ा करके वापस लौटने के लिए कहा गया था। वहां से कोई दूसरा चालक व परिचालक ट्रक लेकर बिहार में प्रवेश करता। शराब किसने व कहां से भेजी और किसके पास व कहां पहुंचाई गई, इसकी जानकारी होने से दोनों ने इन्कार कर दिया। [रॉयल बुलेटिन अब आपके मोबाइल पर भी उपलब्ध, ROYALBULLETIN पर क्लिक करें और डाउनलोड करे मोबाइल एप]

Share it
Top